Home /News /sports /

KIYG 2019: मुक्केबाजी में दिखा हरियाणा का जलवा, महाराष्ट्र ने छुआ 200 का आंकड़ा

KIYG 2019: मुक्केबाजी में दिखा हरियाणा का जलवा, महाराष्ट्र ने छुआ 200 का आंकड़ा

हरियाणा ने मुक्केबाजी में आज आठ स्वर्ण पदक अपने नाम किए. इसके अलावा उसने आठ रजत और 15 कांस्य भी जीते.

हरियाणा ने मुक्केबाजी में आज आठ स्वर्ण पदक अपने नाम किए. इसके अलावा उसने आठ रजत और 15 कांस्य भी जीते.

हरियाणा ने मुक्केबाजी में आज आठ स्वर्ण पदक अपने नाम किए. इसके अलावा उसने आठ रजत और 15 कांस्य भी जीते.

  • IANS
  • Last Updated :
    खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2019 में शुक्रवार को हरियाणा ने बेहतरीन प्रदर्शन किया तो वहीं मेजबान महाराष्ट्र ने पदकों के मामले में 200 का आंकड़ा छूते हुए अपना शीर्ष स्थान कायम रखा है. हरियाणा ने मुक्केबाजी में आज आठ स्वर्ण पदक अपने नाम किए. इसके अलावा उसने आठ रजत और 15 कांस्य भी जीते. उसने कबड्डी में तीन में से दो स्वर्ण जीतते हुए शुक्रवार को अपने स्वर्ण पदक की संख्या 10 कर ली. अब उसके कुल 48 स्वर्ण हो गए हैं और वह 47 स्वर्ण पदक जीतने वाली दिल्ली से आगे निकल गई है.

    महाराष्ट्र ने भी अच्छा प्रदर्शन करते हुए आज आठ स्वर्ण पदक अपने नाम किए जिसमें से उसे पांच मुक्केबाजी में मिले जबकि दो टेनिस और एक टेबल टेनिस में मिला. उसने अपने स्वर्ण पदकों की संख्या को 68 से 76 तक पहुंचा दिया है. महाराष्ट्र के अब 76 स्वर्ण, 57 रजत और 67 कांस्य पदक हो गए हैं और उसने अपने कुल पदकों की संख्या 200 कर ली है.

    हरियाणा 48 स्वर्ण, 45 रजत और 54 कांस्य पदक को मिलाकर कुल 147 पदकों के साथ दूसरे स्थान पर है तो वहीं दिल्ली के कुल 127 पदक हैं और वह तीसरे स्थान पर है. दिल्ली के हिस्से 47 स्वर्ण, 33 रजत और 47 कांस्य पदक हैं. केआईवाईजी में शुक्रवार के दिन मुक्केबाजी में कुल 20 पदक दांव पर थे. जबकि चार टेनिस, चार कबड्डी और दो टेबल टेनिस में थे. हरियाणा ने इनमें से 10 स्वर्ण पदक अपने नाम किए. महाराष्ट्र ने आठ और मध्य प्रदेश ने तीन पदक जीते.

    एक ओर जहां हरियाणा ने दिल्ली को दूसरे स्थान से अपदस्थ किया तो वहीं गुजरात 10वें से नौवें स्थान पर पहुंच गई. मुक्केबाजी में हरियाणा ने जीते आठ स्वर्ण, महाराष्ट्र के हिस्से आए पांच आए. हरियाणा के मुक्केबाजों ने अंडर-17 वर्ग में आठ स्वर्ण पदक जीते. जीत के प्रबल दावेदार माने जा रहे अंकित नरवाल (लड़कों के यू-17, 52 किलोग्राम भारवर्ग), वंशज (लड़कों के यू-17 57 किलोग्राम भारवर्ग) और प्रीती दहिया (लड़कियों की यू-17, 60 किलोग्राम भारवर्ग) ने राज्य द्वारा किए गए इस शानदार प्रदर्शन में अहम भूमिका निभाई.

    लड़कों एवं लड़कियों के अंडर-17 वर्ग में हरियाणा ने आठ स्वर्ण के अलावा आठ रजत और 15 कांस्य पदकों के साथ कुल 31 पदक जीते. मेजबान महाराष्ट्र कुल पदक जीतने के मामले में दूसरे स्थान पर रहा और पांच स्वर्ण जीते. मणिपुर की लड़कियों ने भी निराश नहीं किया और दो स्वर्ण पदक पर कब्जा किया. इसके अलावा, मध्यप्रदेश, चंडीगढ़, पंजाब, कर्नाटक और राजस्थान ने एक-एक स्वर्ण पदक जीता. मणिपुर की दो युवा लड़कियों, नायोरेम बेबी चानू (यू-17, 52 किलोग्राम भारवर्ग) और हू एम्बेशोरी देवी (यू-17, 57 किलोग्राम भारवर्ग) ने स्वर्ण पदक अपने नाम किए.

    महाराष्ट्र की देविका घोरपाड़े ने यू-17, 46 किलोग्राम भारवर्ग में हरियाणा की तमन्ना को मात दी. महाराष्ट्र की ही मितिका गुनेले ने 66 किलोग्राम वर्ग के फाइनल में हरियाणा की मुस्कान को मात देते हुए स्वर्ण पदक जीता. मितिका ने पिछले साल हुए खेलो इंडिया यूथ गेम्स में भी सोने का तमगा हासिल किया था.

    एमपी की महक और गुजरात के देव ने टेनिस एकल स्पर्धा में जीते स्वर्ण. टेनिस में मध्य प्रदेश की महक जैन ने महिलाओं के अंडर-21 एकल वर्ग के फाइनल में महाराष्ट्र की मिहिका यादव को 6-4, 6-1 से परास्त कर सोने का तमगा हासिल किया. गुजरात के देव जाविया ने महाराष्ट्र के आर्यन भाटिया को 7-5, 6-3 से मात दे कर लड़कों के अंडर-17 एकल वर्ग में स्वर्ण जीता.

    महाराष्ट्र ने युगल वर्ग में दोनों स्वर्ण हासिल किए. मेजबान प्रदेश के अरमान भाटिया और ध्रूव सुनिश ने पुरुषों यगुल अंडर-21 वर्ग के फाइनल में महाराष्ट्र के इशाके इकबाल और पश्चिम बंगाल के नितिन सिन्हा को मात दी. ध्रूव शनिवार को एकल वर्ग के फाइनल में भी शिरकत करेंगे.

    हरियाणा ने कबड्डी में जीता स्वर्ण. कबड्डी में हरियाणा ने तीन में से दो स्वर्ण पदक जीते थे. हरियाणा ने लड़कियों की अंडर-17 वर्ग के फाइनल में छत्तीसगढ़ को मात दी. वहीं लड़कों के अंडर-17 वर्ग के फाइनल में राजस्थान को मात दे दूसरा स्वर्ण जीता. महिलाओं के अंडर-21 वर्ग के फाइनल में हिमाचल प्रदेश ने हरियाणा को स्वर्ण नहीं जीतने दिया.

    टेबल टेनिस में महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश ने जीता एक-एक स्वर्ण. महाराष्ट्र की लड़कों की अंडर-17 स्पर्धा के एकल वर्ग में चिनम्या सोम्या ने दिल्ली की याशना मलिक को मात दे स्वर्ण पदक जीता. मध्य प्रदेश की अनुशा कुटुम्बले ने लड़कियों की अंडर-17 एकल स्पर्धा के फाइनल में महाराष्ट्र की चिताले दिया पराग को मात दे फाइनल में प्रवेश किया.

    हॉकी में हरियाणा-झारखंड फाइनल में. हरियाणा ने ओडिशा को 2-0 से मात दे महिलाओं के अंडर-21 वर्ग के फाइनल में प्रवेश कर लिया है जहां उसका सामना झारखंड से होगा जिसने नेशनल डिफेंस अकादमी कैम्पस में खेले गए दूसरे सेमीफाइनल में पंजाब को 3-0 से पटखनी दी.

    वहीं लड़कियों की यू-17 वर्ग में भी फाइनल हरियाणा और झारखंड आमने-सामने होंगी। यू-21 और यू-17 के फाइनल मुकाबले रविवार को होंगे जबकि कांस्य पदक मुकाबले शनिवार को होंगे. इन मुकाबलों में यू-17 तथा यू-21 कटेगरी में ओडिशा का सामना पंजाब से होगा.
    ये भी पढ़ें: दुनिया की नंबर 1 बॉक्सर बनीं मैरी कॉम

    Tags: Indian Cricket Team, Sports

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर