लाइव टीवी

हॉकी इंडिया का बड़ा फैसला, 11 खिला‌ड़ियों को कर दिया निलंबित

भाषा
Updated: December 11, 2019, 8:06 AM IST
हॉकी इंडिया का बड़ा फैसला, 11 खिला‌ड़ियों को कर दिया निलंबित
हॉकी इंडिया ने टूर्नामेंट में हुई हिंसा की रिपोर्ट मांगी थी, जिसके बाद यह कड़ा फैसला लिया गया

हॉकी इंडिया (Hockey India) ने 11 खिलाड़ियों के साथ दो अधिकारियों को भी निलंबित किया गया है. पिछले महीने ही एक टूर्नामेंट में ये खिलाड़ी आपस में भिड़ गए थे.

  • Share this:
नई दिल्ली. हॉकी इंडिया (Hockey India) की अनुशासन समिति ने कड़ा फैसला लेते हुए पंजाब सशस्त्र पुलिस और पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank Hockey) के बीच हाल में 56वें नेहरू कप फाइनल ((Nehru Cup final) के दौरान हिंसा में भूमिका के लिए 11 खिलाड़ियों और दो टीम अधिकारियों को निलंबित किया. पिछले महीने नेहरू कप फाइनल के दौरान दोनों टीमों के खिलाड़ियों के बीच हाथापाई हुई थी और टर्फ पर ही एक दूसरे पर इन दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने हॉकी भी चलाई थी, जिसके बाद हॉकी इंडिया ने टूर्नामेंट के आयोजकों से विस्तृत रिपोर्ट मांगी थी.

खिलाड़ियों पर सालभर का निलंबन
रिपोर्ट की समीक्षा करने और वीडियो साक्ष्य देखने के बाद हॉकी इंडिया (Hockey India)  के उपाध्यक्ष भोला नाथ सिंह की अध्यक्षता में समिति ने सर्वसम्मति से पंजाब सशस्त्र पुलिस के खिलाड़ियों को 12-18 महीने और पंजाब नेशनल बैंक के खिलाड़ियों को 6-12 महीने के लिए निलंबित करने का फैसला किया. हॉकी इंडिया ने कहा कि पंजाब सशस्त्र पुलिस के खिलाड़ी हरदीप सिंह और जसकरन सिंह पर 18 महीने के लिए प्रतिबंध लगाया गया, जबकि दुपिंदरदीप सिंह, जगमीत सिंह, सुखप्रीत सिंह, सरवनजीत सिंह और बलविंदर सिंह को हॉकी इंडिया / हॉकी इंडिया लीग की आचार संहिता के तहत स्तर तीन के अपराध के लिए 11 दिसंबर से 12 महीने के लिए निलंबित कर दिया गया

टीम मैनेजर को भी किया गया निलंबित
वहीं स्तर तीन के अपराध के लिए टीम मैनेजर अमित संधू को भी 18 महीने के लिए निलंबित किया गया है. यह भी सिफारिश की गई कि पंजाब पुलिस की टीम को तीन महीने के निलंबित किया जाए और टीम 10 मार्च 2020 से नौ जून 2020 (अनधिकृत टूर्नामेंट में हिस्सा लेने के कारण लगा निलंबन खत्म होने के बाद) तक अखिल भारतीय टूर्नामेंटों में खेलने की पात्र नहीं होगी.
पंजाब नेशनल बैंक के खिलाड़ी सुखजीत सिंह, गुरसिमरन सिंह और सुमित टोप्पो को 12 महीने के लिए निलंबित कर दिया गया है, जबकि टीम के कप्तान जसबीर सिंह को छह महीने के लिए निलंबित किया गया है. टीम के मैनेजर सुशील कुमार दुबे को भी आचार संहिता और प्रतिबंधों का पालन करने में उनकी टीम की अक्षमता के कारण छह महीने के लिए निलंबित कर दिया गया है.

hockey, sports news, Kiren Rijiju, हॉकी, स्पोर्ट्स न्यूज,किरेन रिजिजू
पिछले महीने नेहरू कप फाइनल के दौरान दोनों टीमों के खिलाड़ियों के बीच हाथापाई हुई थी

दो साल तक निगरानी में रहेंगे खिलाड़ी

यह भी सिफारिश की गई कि पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank Hockey)  की टीम को तीन महीने के निलंबन के तहत रखा जाए और वह 11 दिसंबर से 10 मार्च तक किसी भी अखिल भारतीय टूर्नामेंट में खेलने की पात्र नहीं होगी. समिति ने सर्वसम्मति से यह भी सहमति व्यक्त की कि उपरोक्त सभी खिलाड़ी अपने प्रतिबंधों की समाप्ति के बाद 24 महीने की अवधि के लिए परिवीक्षा पर रहेंगे और आचार संहिता के किसी भी उल्लंघन के लिए तत्काल स्तर तीन का अपराध माना जाएगा और वह व्यक्ति स्वत दो साल के लिए निलंबित हो जाएगा.


वर्ल्ड टूर फाइनल्स कल से, पहले दौर में ही पीवी सिंधु को ‌मिली मु‌श्किल चुनौती


रूस पर 4 साल का बैन, 546 ओलिंपिक मेडल जीतने वाला देश सभी खेलों से बाहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए हॉकी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 8:06 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर