Home /News /sports /

खराब तबीयत के साथ अमेरिका में फंसा था भारतीय वर्ल्ड चैंपियन, एक महीने बाद हुई घर वापसी

खराब तबीयत के साथ अमेरिका में फंसा था भारतीय वर्ल्ड चैंपियन, एक महीने बाद हुई घर वापसी

खेल मंत्री रिजीजू ने की बड़ी घोषणा

खेल मंत्री रिजीजू ने की बड़ी घोषणा

अशोक दीवान (Ashok Diwan) लंबे समय से कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण अमेरिका में फंसे हुए थे

    नई दिल्ली. भारत की विश्व कप विजेता हॉकी टीम (Hockey Team) के सदस्य अशोक दीवान (Ashok Diwan) ने गुरुवार की सुबह स्वदेश लौटने के बाद कहा कि उनके स्वास्थ्य में लगातार सुधार हो रहा है और वह अपने देश पहुंचने पर अच्छा महसूस कर रहे हैं.

    विश्व कप 1975 की चैंपियन टीम के गोलकीपर दीवान कोविड-19 (Covid-19) के चलते यात्रा पाबंदियों के कारण अमेरिका के कैलिफोर्निया स्थित सैक्रामेंटो में फंस गये थे जहां से उन्हें 20 अप्रैल को वापस लौटना था. इस 65 वर्षीय खिलाड़ी ने तबीयत खराब होने के बाद खेल मंत्रालय (Sports Ministry) और भारतीय ओलिंपिक संघ (IOA) से मदद मांगी थी. वह उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं.

    दीवान ने आईओए के अलावा खेल मंत्रालय को कहा शुक्रिया
    दीवान ने स्वदेश लौटने पर आईओए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा को भेजे गये पत्र में उनका आभार व्यक्त किया. उन्होंने लिखा, ‘मैं आज सुबह स्वदेश लौट गया हूं और भारत सरकार के दिशानिर्देश के अनुसार 14 दिन के क्वारंटाइन पर चला गया हूं. मैं स्वदेश लौटने पर बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं. ’

    दीवान ने कहा, ‘इस मुश्किल दौर में सीनियर खिलाड़ियों, साथियों, हाकी प्रेमियों, मित्रों और परिजनों ने मेरा हौसला बनाये रखा. मेरे स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है. मैं इस मुश्किल समय में सहयोग के लिये आपका आभार व्यक्त करता हूं. ’ उन्होंने खेल मंत्री किरण रिजिजू और विदेश मंत्री एस जयशंकर के अलावा अमेरिका में भारतीय राजदूत तरणजीत संधू का भी सहयोग के लिये आभार व्यक्त किया. दीवान 1976 के मांट्रियल ओलंपिक में भी भारतीय टीम के सदस्य थे. उन्हें हॉकी में योगदान के लिये 2002 में ध्यानचंद पुरस्कार से नवाजा गया था.

    20 अप्रैल को अशोक दीवान को आना था वापस
    अशोक दीवान को 20 अप्रैल को एयर इंडिया की फ्लाइट से वापस भारत आना था लेकिन कोरोना महामारी के वैश्विक कहर के चलते उनकी भारत आने की फ्लाइट की तारीखें आगे सरका दी गई.आईओए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा को भेजे व्हाटसऐप संदेश के जरिए भारतीय महिला हॉकी टीम के पूर्व कोच और ध्यानचंद अवॉर्डी दीवान ने कहा था, ‘इन दिनों मेरी तबियत ठीक नहीं है.अमेरिका में इलाज बहुत ज्यादा महंगा है. अमेरिका में मेरे पास को पास किसी किस्म का बीमा नहीं है. ऐसे में मेरी आपसे गुजारिश है कि आप मेरा यह संदेश माननीय खेल मंत्री और विदेश मंत्री को भिजवा दें.'

    अर्जुन पुरस्कार के चयन में होता है भेदभाव, अमित पंघाल ने खेल मंत्री से की प्रक्रिया बदलने की मांग

    17 साल बाद इरफान पठान का खुलासा, जिस दौरे ने खोले डेब्यू के दरवाजे उसके लिए नहीं जाना चाहते थे पाकिस्तान

    Tags: Coronavirus, Hockey, Sports news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर