Olympic Count down 162 Days: सेमीफाइनल में ही पाकिस्तान ने तोड़ दी थी भारत की उम्मीद, मिली थी करारी शिकस्त

मेलबर्न ओलिंपिक में भारत ने हॉकी का छठा गोल्ड जीता था

मेलबर्न ओलिंपिक में भारत ने हॉकी का छठा गोल्ड जीता था

भारत (India) को सेमीफाइनल मुकाबले में पाकिस्तान ने हरा दिया था, जिसके बाद एक बार फिर भारत का सपना टूट गया

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 13, 2020, 7:38 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एक बार फिर गोल्ड जीतने की उम्मीद लिए भारतीय हॉकी टीम 1972 में म्यूनिख ओलिंपिक  ( Olympic) में उतरी. लेकिन यहां पर भी वह  लगातार दूसरी  बार सेमीफाइनल की बाधा को पारी नहीं कर पाई और 1972 के सेमीफाइनल में मिली हार टीम सहित फैंस के लिए स्वीकार करना मुश्किल था. ग्रुप में शीर्ष स्‍थान हासिल करने वाली टीम इंडिया (Team India) को सेमीफाइनल मुकाबले में पाकिस्तान ने शिकस्त दी और वो भी  करारी. भारत ने 2-0 के अंतर से सेमीफाइनल मुकाबला गंवा दिया था.  इसके बाद ब्रॉन्ज मेडल मुकाबले में भारतीय नेदलैंड्स को हराकर ब्रॉन्ज मेडल के साथ भारत लौटी.



सेमीफाइनल मुकाबले में पाकिस्तान ने भारत को 2-0  से हरा दिया था  (सां‌केतिक तस्वीर)




टीम का सफर

पिछले सभी ओलिंपिक (Olympic) की तरह इस ओलिंपिक में भी भारतीय टीम ग्रुप में टॉप पर रही. भारत ने अपने ग्रुप का पहला मुकाबला नेदरलैंड्स के साथ 1-1 से ड्रॉ खेला. इसके बाद ग्रेट ब्रिटेन को 5-0 से, ऑस्ट्रेलिया  को 3-1 से हराया. भारत ने अगला मुकाबला पोलैंड के साथ 2-2 से ड्रॉ खेला. इसके बाद केन्या को 3-2,  मैक्सिको को 8-0 से और न्यूजीलैंड को 3-2 से मात दी.
Summer Olympics,1956 Summer Olympics,Udham Singh, Randhir Singh Gentle, समर ओलिंपिक, मेलबर्न ओलिंपिक, रामधीर ‌सिंहSummer Olympics,1956 Summer Olympics,Udham Singh, Randhir Singh Gentle, समर ओलिंपिक, मेलबर्न ओलिंपिक, रामधीर ‌सिंह
पिछले सभी ओलिंपिक की तरह इस ओलिंपिक में भी भारतीय टीम ग्रुप में टॉप पर रही. (सां‌केतिक तस्वीर)






हर किसी को उम्मीद थी कि इस बार भी खिताबी मुकाबला भारत और पाकिस्तान का होगा, लेकिन पाकिस्तान की टीम अपने ग्रुप में दूसरे नंबर पर रही, जिससे दोनों सेमीफाइनल में ही आमने सामने हो गई और इस मुकाबले में पड़ोसी देश ने 2-0 से मात दी.



ब्रॉन्ज मेडल के लिए भारत को बहाना पड़ा पसीना

सेमीफाइनल गंवाने के बाद भारत (India) के पास सम्मान बचाने का सिर्फ एक ही मौका था. ब्रॉन्ज मेडल मुकाबले में नेदरलैंड्स को मात दे. मुकाबला शुरू हुआ और शुरुआती छह मिनट में ही नेदरलैंड्स के टाइ क्रूज ने गोल दागकर भारत की धड़कने बढ़ा दी थी. भारत पर दबाव बढ़ गया था, लेकिन सात बार की ओलिंपिक चैंपियन इस दबाव को हैंडल करना भी जानती थी.



india olympics hosting, india 2032 olympics games, olympic games india, india olympic host, इंडिया ओलिंपिक गेम्‍स, इंडिया ओलिंपिक मेजबानी, 2032 ओलिंपिक मेजबानी
मुखबेन ‌सिंही ने विजयी गोल दागा था (सां‌केतिक तस्वीर)




15वें मिनट में बिलीमोगा गोविंदा ने गोल दागकर स्कोर बराबर कर दिया. मुकाबला बराबरी पर पहुंच गया था. दोनों टीम की ओर से जोर आजमाइश शुरू हो गई, लेकिन पहला हाफ बराबरी पर रहा. दूसरा हाफ भी गोल रहित रहता दिख रहा था. लेकिन मुकाबले के आखिरी मिनट में मुखबेन ‌सिंह ने गोल दागकर भारत को इस ओलिंपिक में भी खाली हाथ नहीं रहने दिया.



टीम: बीपी गोविंदा, चार्ल्स कुरनेलियुस, मैनुअल फ्रेड्रिक, माइकल किंडो, एमपी गणेश, कृष्‍णामूर्ति पेरुमल, अजीपाल सिंह, हरबिन्दर सिंह, हरमिक सिंह, मुकबेन सिंह, वीरेन्दर सिंह



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज