कोरोना वायरस के बाद भारतीय हॉकी टीम की जबर्दस्त वापसी, जर्मनी को 6-1 से करारी शिकस्त दी

कोविड-19 महामारी के बाद भारत की धमाकेदार वापसी, जर्मनी को 6-1 से रौंदा (फोटो क्रेडिट: @FIH_Hockey ट्विटर हैंडल )

कोविड-19 महामारी के बाद भारत की धमाकेदार वापसी, जर्मनी को 6-1 से रौंदा (फोटो क्रेडिट: @FIH_Hockey ट्विटर हैंडल )

India vs Germany: विवेक सागर प्रसाद ने एक मिनट में दो गोल दाग जर्मनी के हौसले पस्त कर दिये, नीलकांत शर्मा, ललित कुमार, आकाशदीप सिंह और हरमनप्रीत सिंह ने भी किये गोल.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 10:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. युवा खिलाड़ी विवेक सागर प्रसाद के एक मिनट के अंदर किये गये दो गोल के साथ पूरी टीम की शानदार प्रदर्शन के दम पर भारतीय हॉकी टीम (India vs Germany) ने कोरोना वायरस महामारी के कारण लंबे समय के बाद मैदान पर वापसी करते हुए रविवार को क्रेफेल्ड में जर्मनी को 6-1 से करारी शिकस्त दी. भारत के लिए विवेक (27वें और 28वें मिनट) के अलावा, नीलकांत शर्मा (13 वें मिनट), ललित कुमार उपाध्याय (41 वें मिनट), आकाशदीप सिंह (42 वें मिनट) और हरमनप्रीत सिंह (47 वें मिनट) ने गोल किये.

लंबे समय के बाद मैदान पर उतरी भारतीय टीम शुरू से आक्रामक खेल का सहारा लेकर अपने इरादे जाहिर कर दिये थे जिससे जर्मनी की टीम दबाव में आ गयी. भारत को आक्रामक खेल का फायदा पहले क्वार्टर के 13वें मिनट में मिला जब नीलकांत शर्मा ने पेनल्टी कार्नर को गोल में बदल कर टीम का खाता खोला. इसके अगले ही मिनट में हालांकि जर्मनी के कांटेस्टाइन स्टैब ने बराबरी का गोल दाग दिया.

दूसरे क्वार्टर में दिखा विवेक का जलवा

दूसरे क्वार्टर की शुरुआत मेजबानों ने भारत पर दबाव बनाने के साथ लगातार दो पेनल्टी कॉर्नर हासिल किए. भारतीय टीम ने हालांकि इसका शानदार बचाव करते हुए जवाबी हमला किया जिससे मिडफील्डर विवेक ने 27वें और 28वें मिनट में दो गोल दागे. जर्मनी ने तीसरे क्वार्टर में भी भारत पर दबाव बनाये रखा और टीम ने छह पेनल्टी कार्नर हासिल किये. कप्तान और गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने हांलाकि जर्मनी को गोल नहीं करने दिया.
रक्षापंत्ति की शानदार खेल के बाद भारतीय अग्रिम पंक्ति के खिलाड़ियों ललित और आकाशदीप ने 41वें और 42वें मिनट में दो गोल कर विश्व रैंकिंग में चौथे स्थान पर काबिज टीम का मैच में प्रभुत्व बना दिया. आखिरी क्वार्टर में मैच के 47 मिनट में भारतीय टीम पेनल्टी कार्नर हासिल करने में सफल रही और इस बार हरमनप्रीत ने कोई गलती नहीं कि जिससे टीम की बढ़त 6-1 की हो गयी. मैच के बाद कप्तान श्रीजेश ने कहा, ' इतने लंबे समय के बाद खेलना बिल्कुल रोमांचकारी था. कोच ने हमें खेल का लुत्फ उठाने की सलाह दी थी और हमने ऐसा ही किया. यह वही जर्मनी टीम है जिसने एफआईएच हॉकी प्रो लीग में खेला था, और यह देखते हुए कि हम एक साल बाद खेल रहे थे मुझे लगता है कि हमने इस टीम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया.' भारतीय टीम एक दिन के ब्रेक के बाद दो मार्च फिर से जर्मनी के खिलाफ खेलेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज