टोक्यो में इतिहास रचने के लिए सही समय पर अच्छा प्रदर्शन करना जरूरी: नीलकांत शर्मा


नीलकांत शर्मा भारतीय हॉकी टीम के मिडफील्डर हैं (Nilakanta Sharma/Instagram)

नीलकांत शर्मा भारतीय हॉकी टीम के मिडफील्डर हैं (Nilakanta Sharma/Instagram)

मिडफील्डर नीलकांत शर्मा को भरोसा है कि भारतीय पुरुष हॉकी टीम आगामी टोक्यो ओलंपिक में फिर इतिहास रचेगी.

  • Share this:

बेंगलुरु. मिडफील्डर नीलकांत शर्मा को भरोसा है कि भारतीय पुरुष हॉकी टीम आगामी टोक्यो ओलंपिक में फिर इतिहास रचेगी. उनका कहना है कि चार दशक से चले रहे आ रहे पदक के सूखे को समाप्त करने के लिए सही समय पर अच्छा प्रदर्शन करना जरूरी है. भारत ने ओलंपिक में आठ स्वर्ण पदक जीते हैं, लेकिन टीम ने अंतिम बार शीर्ष स्थान 1980 मॉस्को ओलंपिक में हासिल किया था.

नीलकांत कप्तान मनप्रीत सिंह के साथ भारतीय टीम की मिडफील्ड के अहम खिलाड़ी हैं. उन्होंने कहा, ‘‘हर कोई अपने खेल के बारे में आत्मविश्वास से भरा है और अगर हम अपनी पूरी क्षमता के अनुसार खेलते हैं तो हम निश्चित रूप से टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रच सकते हैं. यह सही समय पर अपना बेहतर करने के बारे में है और जब ओलंपिक शुरू होगा तो हमारा ध्यान मुख्य रूप से इसी पर लगा होगा. ’’

मणिपुर के इस खिलाड़ी ने कहा कि वह मनप्रीत के बड़े प्रशंसक हैं, जिनसे उन्होंने काफी कुछ सीखा है. उन्होंने कहा, ‘‘अभी तक भारतीय टीम के साथ सफर शानदार रहा है. हमने काफी ऊंचाइयों को देखा है और मुझे लगता है कि हम आगामी वर्षों में इससे भी बेहतर कर सकते हैं. मैं काफी भाग्यशाली हूं कि मुझे मिडफील्ड में मनप्रीत सिंह जैसे खिलाड़ी के साथ खेलने का मौका मिला. मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है. ’’

बता दें कि टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत 23 जुलाई से होनी है, लेकिन कोरोना (Covid-19) के कारण इस बार गेम्स में बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे. टोक्यो को जब गेम्स की मेजबानी सौंपी गई थी तब उसने स्वयं को सुरक्षित स्थल के रूप में पेश किया था, जबकि इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी (IOC) के तत्कालीन उपाध्यक्ष क्रेग रीडी ने ब्यूनस आयर्स में 2013 में वोटिंग के बाद कहा था कि निश्चित रूप से यह अहम मुद्दा होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज