Home /News /sports /

खेल मंत्रालय के दबाव में हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा, नियम तोड़ने के लगे थे आरोप

खेल मंत्रालय के दबाव में हॉकी इंडिया के अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा, नियम तोड़ने के लगे थे आरोप

हॉकी इंडिया को मिला नया अध्यक्ष

हॉकी इंडिया को मिला नया अध्यक्ष

खेल मंत्रालय ने पाया था कि 2018 में हुए चुनावों में अहमद ने कार्यकाल संबंधी दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया था.

    नई दिल्ली. मोहम्मद मुश्ताक अहमद (Mohammad Mushtaq Ahmed) ने निजी प्रतिबद्धताओं के कारण हॉकी इंडिया (Hockey India) अध्यक्ष पद से त्यागपत्र दे दिया है. इससे पहले खेल मंत्रालय ने उनके चुनाव को राष्ट्रीय खेल संहिता के कार्यकाल संबंधी दिशानिर्देशों का उल्लंघन करार देते हुए उनसे पद छोड़ने के लिये कहा था.

    स्वीकार कर लिया गया अहमद का इस्तीफा
    हॉकी इंडिया कार्यकारी बोर्ड ने महासंघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और मणिपुर के रहने वाले ज्ञानेंद्रो निगोमबाम को अहमद के स्थान पर कार्यवाहक अध्यक्ष नियुक्त किया है.

    राष्ट्रीय संघ ने कहा, ‘हॉकी इंडिया कार्यकारी बोर्ड की आज आपात बैठक हुई और मणिपुर के ज्ञानेंद्रो निमोमबाम को हॉकी इंडिया का कार्यवाहक अध्यक्ष बनाया गया. ’ हॉकी इंडिया ने कहा, ‘यह फैसला मोहम्मद मुश्ताक अहमद के त्यागपत्र के बाद किया गया जिनका त्यागपत्र हॉकी इंडिया को सात जुलाई को मिला था जिसमें उन्होंने इसका कारण निजी और पारवारिक प्रतिबद्धताएं बतायी थी. आज बुलायी गयी बैठक में मोहम्मद मुश्ताक अहमद का त्यागपत्र स्वीकार कर लिया गया.’

    2018 के चुनावों में तोड़े थे नियम
    खेल मंत्रालय ने पाया था कि 2018 में हुए चुनावों में अहमद ने कार्यकाल संबंधी दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया था. इन चुनावों के बाद ही उन्होंने अध्यक्ष पद संभाला था. हॉकी इंडिया महासचिव राजिंदर सिंह को छह जुलाई को लिखे पत्र में मंत्रालय ने महासंघ से अध्यक्ष पद के चुनाव 30 सितंबर तक नये सिरे से कराने के लिये कहा है.

    Happy Birthday: लिटिल मास्टर के वह खास रिकॉर्ड जिन्होंने विश्व क्रिकेट में कायम किया भारत का वर्चस्व

    8 महीने बाद बीसीसीआई ने मंजूर किया सीईओ राहुल जौहरी का इस्तीफा, यौन शोषण के लग चुके हैं आरोप

    हॉकी इंडिया के कोषाध्यक्ष भी रह चुके हैं अहमद
    पत्र में कहा गया ,‘मामले की जांच की गई है. यह पाया गया कि मुश्ताक अहमद 2010 से 2014 तक हॉकी इंडिया के कोषाध्यक्ष और 2014 से 2018 तक महासचिव थे. अध्यक्ष के तौर पर 2018 से 2022 के बीच उनका हॉकी इंडिया के पदाधिकारी के तौर पर लगातार तीसरा कार्यकाल होगा.’ इसमें कहा गया ,‘इसलिये उनका चुनाव राष्ट्रीय खेल महासंघों के पदाधिकारियों के लिये उम्र और कार्यकाल के सरकार के दिशा निर्देशों के अनुरूप नहीं है.’ खेल संहिता के तहत राष्ट्रीय खेल महासंघ के पदाधिकारी लगातार दो बार ही पद पर आसीन हो सकते हैं. बाद में संशोधन के बाद केवल अध्यक्ष के लिये तीन कार्यकाल मान्य किये गए.

    Tags: Hockey, Indian Hockey Team, Sports news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर