हॉकी मिडफील्डर राजकुमार पाल बोले, टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतना मुख्य लक्ष्य

राजकुमार पाल ने पिछले साल एफआईएच प्रो लीग में विश्व चैंपियन बेल्जियम के खिलााफ पदार्पण किया था. (Instagram)

राजकुमार पाल ने पिछले साल एफआईएच प्रो लीग में विश्व चैंपियन बेल्जियम के खिलााफ पदार्पण किया था. (Instagram)

भारत ने 1980 में मॉस्को में खेले गए ओलंपिक खेलों में हॉकी में स्वर्ण पदक जीता था लेकिन इसके बाद इन खेलों में कोई पदक देश के खाते में नहीं जुड़ा है. टोक्यो में इसी साल ओलंपिक गेम्स 23 जुलाई से खेले जाएंगे और मिडफील्डर राजकुमार पाल ने कहा कि इनमें स्वर्ण पदक जीतना सभी खिलाड़ियों का मुख्य लक्ष्य है.

  • Share this:

बेंगलुरु. भारतीय हॉकी टीम के मिडफील्डर राजकुमार पाल (Rajkumar Pal) ने कहा कि इस साल ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतना टीम का मुख्य लक्ष्य है और इसके लिए वह और उनकी टीम लगातार कड़ी मेहनत कर रही है. भारत ने 1980 में मॉस्को ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के बाद इन खेलों में हॉकी में कोई पदक नहीं जीता है. टोक्यो में इसी साल ओलंपिक खेल 23 जुलाई से आठ अगस्त के बीच खेले जाने हैं.

राजकुमार पाल ने कहा, ‘ओलंपिक में स्वर्ण पदक हम सभी के लिए मुख्य लक्ष्य है और इस साल के ओलंपिक में इसे हासिल करने के लिए हम कड़ी मेहनत कर रहे हैं.’ पाल ने पिछले साल एफआईएच प्रो लीग में विश्व चैंपियन बेल्जियम के खिलााफ पदार्पण किया था. यह 23 वर्षीय खिलाड़ी तब से अपनी प्रगति से खुश है और भविष्य में देश के लिए और बेहतर प्रदर्शन करना चाहता है.

इसे भी पढ़ें, ओलंपिक में खेलने वालों को कोविड-19 वैक्सीन देंगे फाइजर और बायोएनटेक

उन्होंने कहा, ‘किसी भी चीज में आपकी शुरुआत महत्वपूर्ण होती है और इसलिए मैं अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का अच्छी शुरुआत चाहता था. पिछले साल बेल्जियम के खिलाफ एफआईएच हॉकी प्रो लीग में जब मुझे पहली बार मैदान पर उतरने का मौका मिला तो यह सपना सच होने जैसा था और अभी तक मेरे लिए जिस तरह से चीजें आगे बढ़ी हैं, उससे मैं वास्तव में खुश हूं.’ पाल ने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एफआईएच प्रो लीग में दो गोल करने से मेरा आत्मविश्वास बढ़ा और इसके बाद मैं वही लय बरकरार रखने पर ध्यान दे रहा हूं.’

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज