ओलंपिक टिकट पाने वाले श्रीशंकर ने खुलासा, धावक के तौर पर की थी शुरुआत

श्रीशंकर ने फेडरेशन कप में 8.26 मीटर लंबी छलांग लगाई (Sreeshankar Murli/Instagram)

श्रीशंकर ने फेडरेशन कप में 8.26 मीटर लंबी छलांग लगाई (Sreeshankar Murli/Instagram)

श्रीशंकर ने ओलंपिक चैनल को बताया, ‘‘मुझे तकनीकी रूप से सुधार करने की जरूरत है. अगर मैं इसे सही तरह से कर पाता हूं, तो मुझे पूरा यकीन है कि मैं सत्र के अंत तक करीब 8.40 मीटर की छलांग लगा सकता हूं. उम्मीद है कि मैं ओलंपिक खेलों में ऐसा करके देश के लिए मेडल जीत सकता हूं.”

  • Share this:
नई दिल्ली. हाल ही में फेडरेशन कप राष्ट्रीय एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में अपने राष्ट्रीय रिकॉर्ड में सुधार करने के साथ टोक्यो ओलंपिक 2020 का टिकट हासिल करने वाले लंबी कूद के एथलीट श्रीशंकर मुरली का लक्ष्य मौजूदा सत्र में अपने प्रदर्शन में और सुधार कर 8.40 मीटर की छलांग लगाना है. उन्होंने फेडरेशन कप में 8.26 मीटर लंबी छलांग लगाई थी.

श्रीशंकर ने ओलंपिक चैनल को बताया, ‘‘मुझे तकनीकी रूप से सुधार करने की जरूरत है. अगर मैं इसे सही तरह से कर पाता हूं, तो मुझे पूरा यकीन है कि मैं सत्र के अंत तक करीब 8.40 मीटर की छलांग लगा सकता हूं. उम्मीद है कि मैं ओलंपिक खेलों में ऐसा करके देश के लिए मेडल जीत सकता हूं.”

उन्होंने बताया, ‘‘छोटी उम्र से ही मुझे खेलों विशेष रूप से ट्रैक एवं फील्ड में काफी दिलचस्पी थी. मेरे माता-पिता दोनों अंतरराष्ट्रीय एथलीट रहे है. मेरे परिवार के करीब-करीब सभी सदस्य इसी खेल या दूसरे खेलों से जुड़े हुए थे. ऐसे में मेरा, इसी क्षेत्र में जाना स्वभाविक था.” लंबी कूद में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाना वाला यह खिलाड़ी शुरू में एक धावक था, जिसे जूनियर सर्किट में सफलता भी मिली थी.

उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपने पिता के साथ पास के मैदान में जाता और दौड़ लगाता था. किशोरावस्था में मैंने धावक के रूप में शुरुआत की. इसमें मुझे जिला और राज्य स्तर पर गोल्ड मेडल जीतने में सफलता भी मिली. मैं धीरे-धीरे लंबी कूद में अभ्यास करने लगा क्योंकि, मेरे पिता को मुझमें अच्छी छलांग लगाने की क्षमता के बारे में अहसास हो गया था. 10वीं कक्षा से मैंने लंबी कूद में गंभीरता से प्रशिक्षण लेना शुरू किया.”
आत्मविश्वास से भरे श्रीशंकर ने कहा, “उन्होंने (पिता) मेरे लिए बुनियादी बातों को ठीक बनाने पर ध्यान केंद्रित किया. साल-दर-साल मैंने अपनी छलांग को करीब 20-25 सेंटीमीटर बढ़ाने का प्रयास किया है. मैं अपनी छलांग वृद्धि करता रहा और अब एक बड़ी छलांग लगाने में कामयाब हुआ हूं.” श्रीशंकर ने इससे पहले सितंबर 2018 में भुवनेश्वर में राष्ट्रीय ओपन एथलेटिक्स चैंपियनशिप में लंबी कूद के राष्ट्रीय रिकॉर्ड को तोड़ा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज