रियो ओलंपिक के बाद पूरी तरह से टूट गई थी, मनोवैज्ञानिक की मदद लेनी पड़ी: मीराबाई चानू

मीराबाई चानू 2017 की वर्ल्ड चैंपियन हैं. (Mirabai Chanu/Instagram)

मीराबाई चानू 2017 की वर्ल्ड चैंपियन हैं. (Mirabai Chanu/Instagram)

महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) ने हाल ही में एशियन चैंपियनशिप में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया. उनसे टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) में भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद लगाई जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2021, 4:00 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत की विश्व रिकाॅर्डधारी वेटलिफ्टर मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) ने गुरुवार को बताया कि वह रियो ओलंपिक 2016 (Rio Olympics) में नाकामी के बाद पूरी तरह से टूट चुकी थीं. उन्हें मनोवैज्ञानिक की मदद लेनी पड़ी. चानू रियो ओलंपिक में तीनों प्रयासों में एक भी वैध लिफ्ट नहीं कर सकी थीं. भारतीय खेल प्राधिकरण द्वारा कराई गई वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में चानू ने खिलाड़ियों के लिए मनोवैज्ञानिक की सेवाएं लेने पर जोर दिया.

उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ियों को मनोवैज्ञानिक की जरूरत है. कई बार अभ्यास करने का मन नहीं करता या अभ्यास के दौरान चोटिल होने पर मनोबल गिर जाता है. ऐसे समय में मनोवैज्ञानिक बहुत काम आते हैं.’ मीरााई चानू ने कहा, ‘रियो ओलंपिक में नाकाम रहने के बाद मैं पूरी तरह टूट गई थी. मुझसे पदक जीतने की उम्मीदें थी, लेकिन मैं ऐसा नहीं कर सकी. मैं सोचती रही कि इतनी मेहनत के बाद भी मैं नाकाम क्यों रही.’ उन्होंने कहा, ‘मैने मनोवैज्ञानिक से बात की और धीरे-धीरे सामान्य हो गई.’

उत्तर कोरिया के हटने का मिलेगा फायदा

उत्तर कोरिया के टोक्यो ओलंपिक खेलों से हटने से मीराबाई चानू की पदक जीतने की उम्मीदें बढ़ गई हैं. चानू की निकटतम प्रतिद्वंद्वी उत्तर कोरिया की री सोंग गुम 4209.4909 अंक केसाथ तीसरे स्थान पर हैं. री सोंग ने 2019 विश्व चैंपियनशिप में चानू को पछाड़कर कांस्य पदक जीता था. तब भारतीय खिलाड़ी के 201 किग्रा के मुकाबले उत्तर कोरिया की खिलाड़ी ने 204 किग्रा वजन उठाया था.
एशियन चैंपियनशिप में बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

मीराबाई चानू ने हाल ही में एशियन चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन करते हुए क्लीन एंड जर्क में 49 किग्रा में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया. इसके अलावा कांस्य पदक अपने नाम किया. 26 साल की चानू ने स्नैच में 86 किग्रा का भार उठाया और क्लीन एंड जर्क में 119 किग्रा का भार उठा विश्व रिकॉर्ड बनाया. उन्होंने कुल 205 किग्रा का भार उठाते हुए कांस्य पदक हासिल किया. इससे पहले क्लीन एंड जर्क में विश्व रिकॉर्ड 118 किग्रा का था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज