भारतीय फुटबॉल संघ ने COVID-19 टीकाकरण अभियान को रफ्तार देने के लिए क्लबों से मिलाया हाथ

रवींद्र सरोबर स्टेडियम में इस सप्ताह की शुरुआत में वैक्सीनेशन कैंप लगाया गया था. (फाइल फोटो)

रवींद्र सरोबर स्टेडियम में इस सप्ताह की शुरुआत में वैक्सीनेशन कैंप लगाया गया था. (फाइल फोटो)

घातक कोविड-19 वायरस से बचाव के तौर पर खिलाड़ियों, कोच और रेफरी को वैक्सीन लगाई जा रही है. इसके लिए आईएफए ने स्थानीय क्लबों जैसे सदर्न समिति एफसी और कालीघाट मिलन संघ एफसी से गठजोड़ किया है.

  • Share this:

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में फुटबॉल की शासी निकाय भारतीय फुटबॉल संघ (आईएफए) ने इस शहर में कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए स्थानीय क्लबों सदर्न समिति एफसी और कालीघाट मिलन संघ एफसी के साथ हाथ मिलाया है. इस सप्ताह की शुरुआत में रवींद्र सरोबर स्टेडियम में शुरू हुए टीकाकरण शिविर (COVID-19 Vaccination Camp) का उद्देश्य खेल से जुड़े खिलाड़ियों, कोच, रेफरी और अधिकारियों को टीका लगाना है.

आईएफए के महासचिव जॉयदीप मुखर्जी ने कहा, ‘यह एक अच्छा अहसास है क्योंकि आखिरकार हम अपनी प्रतिबद्धता को निभाने में सफल रहे हैं. यह आईएफए, कालीघाट एमएस और दक्षिणी समिति का एक संयुक्त प्रयास है. पूरी टीम को विशेष धन्यवाद जो इसे पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘यह हमारे लिए खुशी और सम्मान की बात है कि खिलाड़ियों, रेफरी, अधिकारियों तथा आईएफए कर्मचारियों के टीकाकरण की प्रक्रिया को मुफ्त में शुरू करने में सक्षम हैं और इस प्रतिबद्धता को बनाए रखने में सफल रहे.’ उन्होंने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि अन्य लोग भी इस तरह के टीकाकरण अभियान को शुरू करेंगे ताकि हम अपने सभी खिलाड़ियों का टीकाकरण करा सकें.’

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज