अपना शहर चुनें

States

...जब होली के लिए युवराज ने चुराई अपने पापा की जीप, जानिए फिर क्या हुआ?

भारतीय टीम के बेहरीन क्रिकेटर रहे युवराज सिंह ने आज सन्यास ले लिया है.
भारतीय टीम के बेहरीन क्रिकेटर रहे युवराज सिंह ने आज सन्यास ले लिया है.

Yuvraj singh retirement: योगराज सिंह अपनी जीप की चाबी छिपाकर जाया करते थे. लेकिन एक बार युवराज सिंह ने कैंची की नोंक से ही जीप का ताला खोल लिया था और दोस्तों के साथ निकल गए थे...पढ़ें दिलचस्प किस्सा.

  • Share this:
युवराज सिंह बचपन से जितने टैलेंटेड थे, उतने ही शैतान भी थे. युवराज के पिता योगराज सिंह उनकी हर बात का ख्याल रखते थे. यहां तक कि जिन बातों को युवराज सिंह छिपाना चाहते थे, उन बातों को भी योगराज सिंह पता कर लिया करते थे. 17 साल की उम्र में ही युवराज सिंह ने कार चलाना सीख लिया था. युवराज सिंह को कार चलाना बेहद पसंद था...लेकिन ये बात उनके पिता योगराज सिंह को एक दिलचस्प वाकिए से पता चली.

कैंची से खोल दिया जीप का लॉक
एक बार युवराज सिंह को अपने दोस्तों के साथ होली खेलने के लिए बाहर जाना था. उनके पिता योगराज सिंह के पास जीप थी. दोस्तों के साथ युवराज सिंह का प्लान बना कि जीप से बाहर निकला जाएगा. लेकिन जीप की चाबी युवराज सिंह को पापा से मिलने वाली नहीं थी. यहां तक कि योगराज सिंह भी अपनी जीप की चाबी छिपाकर जाया करते थे. ऐसे में युवराज सिंह ने कैंची की नोंक से ही जीप का ताला खोल लिया और दोस्तों के साथ निकल पड़े. उस समय उनके पिता योगराज सिंह घर पर नहीं थे.

नहीं छूटा कार से रंग
युवराज सिंह जीप में दोस्तों के साथ घूमे. लेकिन जब शाम को आए तो उन्होंने जीप को अच्छी तरह धोकर खड़ा कर दिया और सोचा शायद उनके पिता को कुछ पता नहीं चलेगा. लेकिन हुआ इसका उल्टा. युवराज जीप लेकर बाहर गए हैं इस बात का पता तुरंत योगराज सिंह को चल गया.



...जब युवराज से पूछा कैसी रही होली?
युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह जब शाम को घर पहुंचे तो उन्हें जीप पर पड़े रंग के छीटों से युवराज सिंह के बारे में पता चल गया. इस पर योगराज सिंह ने आते ही युवराज सिंह से पूछा, कैसा रहा दिन? इस पर युवराज ने जवाब दिया कि 'आज काफी प्रैक्टिस की है, तो थक गया हूं'. इसके बाद योगराज सिंह ने पूछा, 'तो तुमने चोरी-छिपे गाड़ी चलानी सीख ली है?' इस पर वह हंस पड़े. उस दिन के बाद से युवराज सिंह ने पिता से गाड़ी दिलाने की जिद की.

अंडर-19 विश्वकप के बाद मिली कार
जब युवराज अंडर-19 विश्वकप जीतने में कामयाब रहे, तब उनके पिता ने उन्हें कार गिफ्ट की थी. इस विश्वकप के दौरान युवराज सिंह मैन ऑफ द सीरीज बने थे. इसके बाद तो युवराज सिंह ने अपने करियर में एक के बाद एक कारें खरीदीं.

ये भी पढ़ें- आसान नहीं था यूं क्रिकेट का 'युवराज' बन जाना, पढ़िए ये दिलचस्प कहान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज