राशिद खान फ्रॉम अफगानिस्‍तान: क्‍यों इस गेंदबाज की फिरकी पर नाच रही है दुनिया

राशिद खान ने 101 टी20 मुकाबलों में 148 विकेट लिए हैं. इसमें उनके हर ओवर में रन देने की गति 5.94 है और प्रत्‍येक 16वीं गेंद पर उन्‍हें विकेट मिला है.

शक्ति शेखावत | News18Hindi
Updated: May 8, 2018, 9:09 PM IST
राशिद खान फ्रॉम अफगानिस्‍तान: क्‍यों इस गेंदबाज की फिरकी पर नाच रही है दुनिया
राशिद खान ने 101 टी20 मुकाबलों में 148 विकेट लिए हैं. इसमें उनके हर ओवर में रन देने की गति 5.94 है और प्रत्‍येक 16वीं गेंद पर उन्‍हें विकेट मिला है.
शक्ति शेखावत | News18Hindi
Updated: May 8, 2018, 9:09 PM IST
अफगानिस्‍तान के स्पिनर राशिद खान अभी 19 साल के भी नहीं हुए हैं और वे 100 टी20 मैच खेल चुके हैं. इसमें भी सबसे कामयाब बात यह है कि बल्‍लेबाजों के लिए वे पहेली बने हुए हैं और लगातार विकेट चटका रहे हैं. राशिद छह देशों में टी20 क्रिकेट खेलते हैं और बावजूद इसके उनकी लेगब्रेक और गुगली के सामने बल्‍लेबाज अनपढ़ बने हुए हैं. इस अफगान ने 101 टी20 मुकाबलों में 148 विकेट लिए हैं. इसमें उनके हर ओवर में रन देने की गति 5.94 है और प्रत्‍येक 16वीं गेंद पर उन्‍हें विकेट मिला है. आईपीएल की बात करें तो राशिद ने अभी तक 24 मैच खेले हैं और 6.85 की इकॉनोमी के साथ 30 विकेट लिए हैं.

डिविलियर्स का यूं किया था शिकार
राशिद खान की सबसे बड़ी ताकत है रन नहीं देना. वे अपनी विविधता से बल्‍लेबाज को जकड़ के रखते हैं. सोमवार को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ मुकाबले के दौरान उनकी यह कला एक बार फिर देखने को मिली. स्‍ट्राइक पर 360 डिग्री बल्‍लेबाज के नाम से मशहूर एबी डिविलियर्स थे. ऐसे में राशिद ने उनके लिए लेग ब्रेक और रॉन्‍ग वन की चाल चली. राशिद ने अपने पहले ओवर में डिविलियर्स के सामने लेग ब्रेक डाली जिस पर दक्षिण अफ्रीकी बल्‍लेबाज ने कट के जरिए रन लिया.

ये दोनों जब दूसरे ओवर में आमने-सामने हुए तो राशिद ने रॉन्‍ग वन डाली. लगातार दोनों गेंदें उन्‍होंने रॉन्‍ग वन की लेकिन डिविलियर्स ने इन्‍हें लेग ब्रेक के तौर पर ही खेलना चाहा. पहली गेंद पर तो किसी तरह बल्‍ला लग गया लेकिन दूसरी गेंद पर यह हो न सका. नतीजा यह रहा कि डिविलियर्स के स्‍टंप्‍स बिखर गए.

नारायण से 19 नहीं 21 हैं राशिद
सुनील नारायण को टी20 क्रिकेट का पहला मिस्‍ट्री गेंदबाज कहा जाता है. लेकिन उनके एक्शन पर सवाल उठते रहे हैं. इसके बाद उन्‍होंने अपने एक्‍शन में बदलाव किया है और अब वे पहले जैसे गेंदबाज नहीं हैं मगर अब भी वे टी20 के सबसे कंजूस गेंदबाज हैं. उनके बाद राशिद खान का नाम आता है. लेकिन विकेट निकालने की औसत और स्‍ट्राइक में वे नारायण से काफी आगे हैं.

राशिद का औसत 15.64 और स्‍ट्राइक रेट 15.8 है जबकि नारायण की औसत 19.14 और स्‍ट्राइक रेट 19.5 है.

Loading...

ये है राशिद की खासियत
आखिर ऐसा क्‍या है कि राशिद खान की गेंदों के सामने बल्‍लेबाज टिक नहीं पाते. इस बारे में एक रिपोर्ट में लिखा गया था कि  गेंद डालते समय राशिद का हाथ तेजी से आता है और गेंद छोड़ते वक्‍त उनके हाथ का एक्‍शन गैर परंपरागत है. साथ ही वे अन्‍य लेग स्पिनर्स की तुलना में काफी ऊपर से गेंद छोड़ते हैं. एक और बात जो उन्‍हें अलग बनाती है वह है गेंद छोड़ते समय उनकी कलाई का एक्‍शन.
राशिद बैक ऑफ द हैंड से ही लेग ब्रेक और गुगली दोनों डाल सकते हैं और दोनों तरह की गेंद लगभग एक ही जगह टप्‍पा खाती है.

इसे पढ़ना बल्‍लेबाज के लिए बहुत मुश्किल होता है. वहीं उनकी गुगली बाकी लेग स्पिनर्स से बहुत तेज होती है. अन्‍य गेंदबाजों का सिर गुगली डालते वक्‍त नीचे चला जाता है लेकिन राशिद का साथ यह नहीं होता. यह उनके लिए बड़ा एडवांटेज है.

इसके अलावा इस अफगानी गेंदबाज की लेग ब्रेक और गुगली में भी मामूली सा अंतर होता है. गुगली डालते वक्‍त वे स्‍टंप्‍स के नजदीक होते हैं जबकि लेग ब्रेक के वक्‍त क्रीज में थोड़ा सा बाहर की ओर होते हैं. इस एक्‍शन के चलते गेंद तेजी से विकेट पर पड़ती है और बिजली की गति से बल्‍लेबाज के पास जाती है. ऐसे में उसे पढ़ पाना टेढ़ी खीर होता है. भारत के खिलाफ जब अफगानिस्‍तान की टीम पहला टेस्‍ट मैच खेलेगी तो देखना होगा कि राशिद किस कदर गेंद डालते हैं.

ये भी पढ़ें
करियर की पहली गेंद पर विकेट लेने के बाद गुमनाम था ये क्रिकेटर, अब इंडियन टीम में मिली जगह
आईपीएल में 1 करोड़ रु. मिलते ही इस बल्लेबाज ने ठोक दिए थे 120 रन, अब अश्विन ने दिया टीम में मौका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए IPL 2018 से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 8, 2018, 8:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...