होम /न्यूज /खेल /ISSF World Cup 2021: 23 वर्षीय चिंकी यादव ने जीता सोना, पिता हैं पेशे से इलेक्ट्रीशियन

ISSF World Cup 2021: 23 वर्षीय चिंकी यादव ने जीता सोना, पिता हैं पेशे से इलेक्ट्रीशियन

चिंकी यादव ओलंपिक को कोटा हासिल कर चुकी हैं (फोटो साभार-@yashodhararaje)

चिंकी यादव ओलंपिक को कोटा हासिल कर चुकी हैं (फोटो साभार-@yashodhararaje)

ISSF World Cup: 23 वर्षीय चिंकी यादव का यह वर्ल्ड कप में पहला गोल्ड है. यह निशानेबाज तोक्यो ओलंपिक के लिए पहले ही कोटा ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. भोपाल की चिंकी यादव ने अनुभवी राही सरनोबत के साथ कड़ी प्रतिद्वंद्वी मनु भाकर को पछाड़ते हुए गोल्ड अपने नाम किया. इसके साथ ही भारत ने आईएसएसएफ विश्व कप की महिला 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में तीनों पदक जीत लिए. इस प्रदर्शन से भारत की निशानेबाजी में प्रतिभा की गहराई का भी अंदाजा लग जाता है. 23 साल की चिंकी ने समान 32 अंक के कारण हुए शूट-ऑफ में सरनोबत को 4-3 से पछाड़ दिया जिससे भारत के स्वर्ण पदकों की संख्या नौ हो गयी.

    उन्नीस साल की मनु ने डॉ. कर्णी सिंह शूटिंग रेंज पर एलिमिनेशन चरण में 28 अंक से कांस्य पदक से संतोष किया जिसके बाद चिंकी और सरनोबत के बीच शीर्ष स्थान के लिए मुकाबला हुआ. ये तीनों निशानेबाज तोक्यो ओलंपिक के लिए पहले ही कोटा हासिल कर चुकी हैं. चिंकी ने 2019 में दोहा में हुई 14वीं एशियाई चैम्पियनशिप में दूसरे स्थान पर रहकर ओलंपिक कोटा जीता था. पहले 20 निशानों में वह 14 के स्कोर से आगे चल रही थी. उनके बाद मनु 13 अंक से दूसरे स्थान पर थीं. फिर भोपाल की निशानेबाज ने 21 के स्कोर से बाकियों पर बढ़त बना ली जिसके बाद शुरू में जूझने वाली अनुभवी सरनोबत ने भी वापसी की.

    यह भी पढ़ें:

    On This Day: जब इमरान खान की करिश्माई कप्तानी ने पाकिस्तान को दिलाया था वर्ल्ड कप का खिताब

    IPL 2021 से पहले क्वारंटीन के लिए मुंबई पहुंचे दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ी

    फाइनल्स में चिंकी ने दो सही निशानों से शुरूआत की लेकिन फिर दो बार (एलिमिनेशन चरण की दूसरी और छठी सीरीज) पाचों के पांचों निशाने सही लगाए. इन तीनों में सबसे अनुभवी सरनोबत ने पहले चरण की तीसरी सीरीज में सभी पांचों निशानों पर अंक जुटाये जिसके बाद एलिमिनेशन में चौथी, सातवीं और नौंवी सीरीज में चार चार निशाने लगाए. तीसरी रैंकिंग की मनु चौथी सीरीज में ही पांचों के पांचों निशाने सही लगा पायी.

    चिंकी के पिता हैं इलेक्ट्रीशियन
    चिंकी के पिता मेहताब सिंह यादव पेशे से भोपाल के टीटी नगर स्टेडियम में इलेक्ट्रीशियन हैं. चिंकी का घर इसी स्टेडियम के अंदर हैं और उन्हें खेल की शुरुआती तालीम भी यहीं ली. चिंकी ने सिर्फ 14 साल की उम्र में शूटिंग को अपना करियर बना लिया था.

    Tags: Issf world cup, Manu bhaker, Shooting, Sports news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें