होम /न्यूज /खेल /पेरिस ओलंपिक में गोल्ड जीतने के लिए 19 साल के जेरेमी 8 किलो वजन बढ़ाएंगे, फिर भी टिकट पक्का नहीं

पेरिस ओलंपिक में गोल्ड जीतने के लिए 19 साल के जेरेमी 8 किलो वजन बढ़ाएंगे, फिर भी टिकट पक्का नहीं

जेरेमी लालरिनुंगा ने बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता है. (AP)

जेरेमी लालरिनुंगा ने बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता है. (AP)

पेरिस ओलंपिक में गोल्ड के लिए 19 साल के जेरेमी लालरिनुंगा अपना वजन बढ़ाने की तैयारी कर रहे हैं. हाल में ही समाप्त हुए क ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. कॉमनवेल्थ गेम्स के गोल्ड मेडल विजेता जेरेमी लालरिनुंगा और अचिंता शेयुली पेरिस ओलंपिक के लिए दांव पर लगे 73 किग्रा के एकमात्र स्थान के लिए एक दूसरे के सामने कड़ी चुनौती पेश करेंगे. मिजोरम के वेटलिफ्टर लालरिनुंगा का 67 किग्रा वर्ग 2024 खेलों की सूची में शामिल नहीं है. अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ (IWF) ने पेरिस ओलंपिक से 67 किग्रा वजन वर्ग को हटा दिया है जिसमें जेरेमी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में सोना जीता था. अब 19 का यह वेटलिफ्टर 73 किग्रा वजन वर्ग में प्रतिस्पर्धा करेगा.

शेयुली ने इस 73 किग्रा वजन वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व किया था जो राष्ट्रीय रिकॉर्डधारी और मौजूदा कॉमनवेल्थ गेम्स के चैम्पियन हैं. पेरिस ओलंपिक 2024 के लिए क्वालीफिकेशन स्थान पक्का करने के लिये अब दोनों के बीच कड़ी टक्कर होगी क्योंकि एक वजन वर्ग में प्रत्येक देश से एक ही वेटलिफ्टर को अनुमति दी जा सकती है. जेरेमी इस समय साढ़े तीन हफ्ते के लिए अमेरिका के सेंट लुई में ‘स्ट्रेंथ एवं कंडिशनिंग ट्रेनिंग’ शिविर में हैं, उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपना वजन 73 किग्रा तक बढ़ाऊंगा.’’

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा सामान्य वजन 65 किग्रा है. इसलिए अपने शरीर का वजन बढ़ाना मुश्किल होगा.’’ हालांकि यह पहली बार नहीं है जब जेरेमी को वजन बढ़ाना पड़ेगा. 19 साल के इस भारोत्तोलक ने ब्यूनर्स आयर्स में 62 किग्रा वर्ग में 2018 युवा ओलंपिक स्वर्ण पदक जीता था. इसके बाद वह आईडब्ल्यूएफ द्वारा तब लाए गए नए ओलंपिक वजन वर्ग में हिस्सा लेने के लिए 67 किग्रा में खेलने लगे.

हालांकि उन्हें पिछले दो वर्षों में वजन बढ़ाने में काफी मुश्किल हुई है. उन्होंने कहा, ‘‘मेरा वजन बढ़ नहीं रहा है. मैं 2019 से वजन बढ़ाने की कोशिश कर रहा हूं कि इसे 70 किग्रा तक पहुंचा लूं. मेरी खुराक और ‘सप्लीमेंट’ बदल जाएंगे. ट्रेनिंग भी थोड़ी अलग होगी. उन्होंने कहा, ‘‘एशियाई खेल और विश्व चैम्पियनशिप में 67 किग्रा वर्ग शामिल है लेकिन लक्ष्य पेरिस ओलंपिक है.’’

मुख्य कोच विजय शर्मा ने कहा कि दोनों वेटलिफ्टर एक दूसरे को बेहतर करने के लिए प्रेरित करेंगे. शर्मा ने कहा, ‘‘यह अच्छा है कि जेरेमी और अचिंता एक ही वजन वर्ग में होंगे. दोनों भारोत्तोलकों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा होगी, वरना वे चीजों को हल्के में ले सकते थे.’’

Tags: Indian weightlifter, Paris olympics 2024, Sports news, Weightlifting

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें