Home /News /sports /

junior womens hockey world cup india takes england in bronze medal match

जूनियर महिला हॉकी विश्व कप : खिताब का सपना टूटा, अब कांस्य पदक के लिए इंग्लैंड से भिड़ेंगी भारतीय महिलाएं

भारत का जूनियर महिला हॉकी विश्व कप में खिताब जीतने का सपना टूट गया है. (PIC-HI/Twitter)

भारत का जूनियर महिला हॉकी विश्व कप में खिताब जीतने का सपना टूट गया है. (PIC-HI/Twitter)

भारतीय जूनियर महिला हॉकी टीम इंग्लैंड के खिलाफ साल 2013 के प्रदर्शन को दोहराने की कोशिश करेगी जब उसने जर्मनी के मोशेंग्लाबाख में कांस्य पदक जीता था. भारत को सेमीफाइनल मुकाबले में नीदरलैंड ने 3-0 से हराकर उसके फाइनल में पहुंचने का सपना तोड़ दिया.

अधिक पढ़ें ...

पोटचेफ्सट्रूम (दक्षिण अफ्रीका). भारत का पहली बार जूनियर महिला हॉकी विश्व कप का खिताब जीतने का सपना चकनाचूर हो चुका है लेकिन टीम इंग्लैंड के खिलाफ मंगलवार को होने वाले कांस्य पदक के मुकाबले में अपने अब तक के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की बराबरी करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी.

भारत का सेमीफाइनल तक अभियान शानदार रहा था लेकिन अंतिम चार के मुकाबले में उसे तीन बार के चैंपियन नीदरलैंड से 0-3 से हार का सामना करना पड़ा था. भारत पूल चरण में अजेय रहा था जिसमें जर्मनी पर 2-1 की जीत भी शामिल थी. जर्मनी ने हालांकि फाइनल में जगह बनाई जहां उसका सामना नीदरलैंड से होगा.

यह भी पढ़ें:Hockey Women’s Junior World Cup: भारत का फाइनल में पहुंचने का सपना टूटा, नीदरलैंड ने 3-0 से हराया

भारतीय टीम खिताब की दौड़ से तो बाहर हो गई है लेकिन वह 2013 के प्रदर्शन को दोहराने की कोशिश करेगी जब उसने जर्मनी के मोशेंग्लाबाख में कांस्य पदक जीता था. संयोग से 2013 में भारतीय टीम सेमीफाइनल में नीदरलैंड से 0-3 से हार गई थी. सुशीला चानू की अगुवाई वाली टीम तब कांस्य पदक के मुकाबले में इंग्लैंड से भिड़ी थी जिसमें उसने शूट आउट में जीत दर्ज की थी.

अब यह देखना होगा कि सलीमा टेटे की अगुवाई वाली टीम 2013 के इतिहास को दोहरा पाती है या नहीं. टेटे ने सेमीफाइनल में हार पर निराशा व्यक्त की. उन्होंने कहा, ‘नीदरलैंड के खिलाफ मैच से हम काफी निराश हैं. हमने कई मौके बनाये लेकिन उन्हें गोल में नहीं बदल पाए. वह हमारा दिन नहीं था. वह अब बीती बात है और हमें इंग्लैंड के खिलाफ मैच पर ध्यान केंद्रित करना होगा.’

भारतीय टीम अग्रिम पंक्ति में लालरेमसियामी, शर्मिला देवी और मुमताज खान पर काफी निर्भर है. इंग्लैंड की टीम को सेमीफाइनल में जर्मनी से 0-8 से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी जिससे उसका आत्मविश्वास डगमगाया हुआ है. भारत इसका फायदा उठाना चाहेगा. भारतीय उप कप्तान इशिका चौधरी ने कहा कि टीम इंग्लैंड के खिलाफ मौके गंवाने की गलती नहीं कर सकती.

बकौल इशिका, ‘इंग्लैंड की टीम अच्छी है. हमने पिछले मैचों के उनके वीडियो देखे थे. हमारे लिए अपने खेल पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है. हमें मौकों का पूरा फायदा उठाना होगा और रक्षण में मजबूत रहना होगा.

Tags: Indian Hockey, Indian Hockey Team, Indian Women Hockey, Indian women hockey team

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर