Olympic Countdown 150 Days: लंदन में मैरीकॉम के पंच ने दिलाया था भारत को ब्रॉन्ज मेडल, रचा था इतिहास

इस साल मैरीकॉम विश्व चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने से चूक गई थी

मैंगते चंग्नेइजैंग मैरी कॉम ने लंदन ओलंपिक्स (London Olympics) में कांस्य पदक जीत इतिहास रचा था, वो ओलिंपिक में मेडल जीतने वाली पहली महिला बॉक्सर थीं

  • Share this:
    भारत की महिला मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम ने लंदन ओलंपिक 2012 में महिला मुक्केबाजी प्रतियोगिता के 51 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक जीता. इस स्पर्धा के सेमीफाइनल मुकाबले में एमसी मैरी कॉम को ब्रिटेन की निकोला एडम्स ने 11-6 से 8 अगस्त 2012 को हराया. महिला मुक्केबाजी प्रतियोगिता के 51 किग्रा वर्ग के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में एमसी मैरी कॉम ने ट्यूनिशिया की मुक्केबाज मारुआ राहाली को पराजित किया.

    एमसी मैरी कॉम ओलंपिक खेलों के इतिहास में भारत के ओर से मुक्केबाज में पदक जीतने वाली पहली महिला हैं. विजेंदर सिंह ने 20 अगस्त 2008 को ओलम्पिक्स में भारत के लिए मुक्केबाज में पहला पदक जीता था. मणिपुर की एमसी मैरी कॉम को वर्ष 2003 में अर्जुन पुरस्कार और वर्ष 2006 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया. वर्ष 2009 में एमसी मैरी कॉम को भारत का सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार मिला. एमसी मैरी कॉम ने लगातार पांच बार की मुक्केबाजी की विश्व चैंपियनशिप (2002, 2005, 2006, 2008, 2012) में प्रथम स्थान जीता.

    विदित हो कि ओलंपिक खेलों के इतिहास में वर्ष 2012 के लंदन ओलंपिक में पहली बार महिला मुक्केबाजी प्रतियोगिता को शामिल किया गया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.