मनु भाकर ने एयर इंडिया कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की, लगाया अपने अपमान का आरोप

एयरपोर्ट पर मनु भाकर का अपमान, खेल मंत्री ने की मदद (फोटो-मनु भाकर इंस्टाग्राम)

एयरपोर्ट पर मनु भाकर का अपमान, खेल मंत्री ने की मदद (फोटो-मनु भाकर इंस्टाग्राम)

दिल्ली एयरपोर्ट पर वर्ल्ड नंबर 2 निशानेबाज मनु भाकर (Manu Bhaker) को बदसलूकी का सामना करना पड़ा. खेल मंत्री के दखल के बाद ही भाकर विमान में बैठ सकी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2021, 2:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. तोक्यो ओलंपिक में पदक की उम्मीद निशानेबाज मनु भाकर (Manu Bhaker) ने दिल्ली से भोपाल की उड़ान लेते समय एयर इंडिया के दो कर्मचारियों पर अपमान और उत्पीड़न का आरोप लगाया है. भाकर ने उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. राष्ट्रमंडल खेल और युवा ओलंपिक की स्वर्ण पदक विजेता 19 वर्ष की पिस्टल निशानेबाज मनु खेल मंत्री किरेन रीजीजू के दखल के बाद ही विमान में बैठ सकी. मनु ने इसके लिए खेल मंत्री को धन्यवाद दिया और उम्मीद जताई कि दिल्ली में एयर इंडिया के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. एयर इंडिया ने भी अपने कर्मचारियों के बर्ताव के लिये माफी मांगी है.

मनु ने कहा, 'मैने जो अपमान और उत्पीड़न झेला, उसके लिये वे जिम्मेदार है. अपने कर्मचारियों (मनोज गुप्ता और एक अन्य सुरक्षाकर्मी) को बचाने की कोशिश करके एयर इंडिया अपनी छवि और खराब करेगा. एयर इंडिया अब कह रहा है कि वे सिर्फ दस्तावेज मांग रहे थे और अपना काम कर रहे थे लेकिन मुझे यकीन है कि सीसीटीवी में सब रिकॉर्ड होगा. आप देख सकते हैं. उन्होंने मेरा मोबाइल छीना और मेरी मां की खींची तस्वीर डिलीट की.'

रीजीजू ने इस मसले का जिक्र करते हुए मनु को ‘भारत का गौरव’ बताया. एयर इंडिया ने ट्वीट किया, 'हम आपको हुई असुविधा के लिये क्षमाप्रार्थी हैं. हम इस मसले की विस्तार से जानकारी आपके मोबाइल नंबर के साथ चाहते हैं ताकि आपकी आगे सहायता कर सकें.' मनु ने कहा कि अपनी पिस्तौल के साथ यात्रा करने की नागर विमानन महानिदेशालय से मंजूरी और सारे वैध दस्तावेज साथ होने के बावजूद उनके साथ ऐसा बर्ताव किया गया.

यह भी पढ़ें:
India vs England: अश्विन के साथ हार्दिक पांड्या और कुलदीप यादव जमकर थिरके, देखें वायरल वीडियो

IPL 2021 Auction: रजनीकांत का मुरीद है क्रिकेट का शाहरुख खान, अश्विन के स्कूल से की है पढ़ाई

उन्होंने कहा, 'मैंने कहा भी कि मैं निशानेबाज हूं और भारत के लिये ओलंपिक खेलने वाली हूं तो उन्होंने कहा कि आप ओलंपिक खेलों या नेशनल्स , हमें फर्क नहीं पड़ता. मनु ने कहा कि उनका बर्ताव अस्वीकार्य था. कम से कम खिलाड़ी को थोड़ा तो सम्मान दें और इस तरह से अपमान नहीं करे. समस्या पैसा नहीं उनका बर्ताव है. मंत्रालय हमारे सारे खर्च उठाता है. एक अन्य पोस्ट में एयर इंडिया ने लिखा, 'दिल्ली हवाई अड्डे पर हमारी टीम ने पुष्टि की है कि हमारे काउंटर पर अधिकारी ने सिर्फ वैध दस्तावेज मांगे थे जो नियमों के तहत था.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज