अपना शहर चुनें

States

दुनिया की नंबर 1 बॉक्सर बनीं मैरी कॉम

मैरी कॉम ने पिछले महीनों के दौरान वर्ल्ड चैंपियनशिप में छठवां खिताब जीतते हुए इतिहास रचा था.
मैरी कॉम ने पिछले महीनों के दौरान वर्ल्ड चैंपियनशिप में छठवां खिताब जीतते हुए इतिहास रचा था.

मैरी कॉम ने पिछले महीनों के दौरान वर्ल्ड चैंपियनशिप में छठवां खिताब जीतते हुए इतिहास रचा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 11, 2019, 10:55 AM IST
  • Share this:
भारत की मैरी कॉम बॉक्सिंग वर्ल्ड रैंकिंग में नंबर 1 पायदान पर पहुंच गई हैं. अभी कुछ महीनों पहले ही वह 6 वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी बनी थीं. तीन बच्चों की मां 36 साल की मैरी कॉम को इंटरनेशनल बॉक्सिंग असोसिएशन ने 'फ्लाइट ले 45-48 किग्रा कैटेगिरी' में 1700 पॉइंट स्कोर के साथ नंबर 1 पायदान हासिल करने की घोषणा की.

कॉम ने अपने 2018 कैंपेन का अंत दिल्ली में छठवां वर्ल्ड चैंपियनशिप खिताब जीतते हुए किया था. इस दौरान उन्होंने यूक्रेन की हाना ओखाटा को हराया था. ओखाटा दुनिया में 1100 पॉइंट के साथ नंबर 2 पर हैं. उस जीत के साथ मैरी कॉम ने आयरलैंड की केटी टेलर को पीछे छोड़ दिया था और पुरुष रिकॉर्ड जो कुबान लीजेंड फेलिक्स सेवान के नाम है उसकी बराबरी कर ली थी. सेवान वर्ल्ड चैंपियनशिप के इतिहास में सबसे कामयाब पुगलिस्ट हैं.

मैरी कॉम ने 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स और पोलैंड में हुए Silesian ओपन बॉक्सिंग टूर्नामेंट में भी गोल्ड जीता था. इसके अलावा बुल्गारिया में हुए Strandja मेमोरियल में सिल्वर हासिल किया था. मैरी कॉम ने 2001 में महिला वर्ल्ड चैंपियनशिप के पहले संस्करण में सिल्वर जीता था और अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज शानदार अंदाज में किया था.



उन्होंने अगली 5 वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीता. मैरी कॉम इस दौरान 2014 बॉलीवुड फिल्म का सब्जेक्ट भी रही थीं. उन्होंने ओलंपिक गेम्स 2012 में ब्रॉन्ज जीता था. वह 2020 ओलंपिक में अब हिस्सा नहीं ले पाएंगी क्योंकि उनकी 48-किग्रा कैटेगिरी को गेम के रोस्टर में शामिल नहीं किया गया है.
ये भी पढ़ें: Koffee with Karan: विवादित बयान के चलते पंड्या और राहुल पर 2 मैच के बैन का खतरा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज