होम /न्यूज /खेल /National Games 2022: मीराबाई चानू ने कलाई में चोट के बावजूद वेटलिफ्टिंग में जीता गोल्ड

National Games 2022: मीराबाई चानू ने कलाई में चोट के बावजूद वेटलिफ्टिंग में जीता गोल्ड

ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट मीराबाई चानू ने नेशनल गेम्स वेटलिफ्टिंग में गोल्ड मेडल जीता. (Sai Media Twitter)

ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट मीराबाई चानू ने नेशनल गेम्स वेटलिफ्टिंग में गोल्ड मेडल जीता. (Sai Media Twitter)

36th National Games 2022: अपने दूसरे नेशनल गेम्स में भाग ले रही ओलंपिक मेडलिस्ट मीराबाई ने खुलासा किया कि उनकी बाईं कला ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

अपने दूसरे नेशनल गेम्स में भाग ले रही ओलंपिक मेडलिस्ट मीराबाई ने गोल्ड मेडल जीता.
मीराबाई की बाईं कलाई में चोट है, इसलिए वह दोनों वर्गों में अपने तीसरे प्रयास के लिए नहीं उतरीं.
मीराबाई ने कहा कि NIS पटियाला में प्रशिक्षण के दौरान मेरी बाईं कलाई में चोट लग गई थी.

गांधीनगर. टोक्यो ओलंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट मीराबाई चानू ने शुक्रवार को गांधीनगर में 36वें नेशनल गेम्स में महिलाओं की वेटलिफ्टिंग के 49 किग्रा वर्ग में 191 किलोग्राम भार उठाकर गोल्ड मेडल जीता. उनसे ऐसी उम्मीद यहां पर की जा रही थी. अगस्त में बर्मिंघम में राष्ट्रमंडल खेलों में गोल्ड पदक जीतने वाली मीराबाई ने स्नैच में 84 किग्रा और क्लीन एवं जर्क में 107 किग्रा भार उठाकर खिताब अपने नाम किया.

अपने दूसरे नेशनल गेम्स में भाग ले रही मीराबाई ने खुलासा किया कि उनकी बाईं कलाई में चोट है, इसलिए वह दोनों वर्गों में अपने तीसरे प्रयास के लिए नहीं उतरीं. मीराबाई ने कहा, ‘‘हाल ही में एनआईएस पटियाला में प्रशिक्षण के दौरान मेरी बाईं कलाई में चोट लग गई थी जिसके बाद मैंने सुनिश्चित किया कि मैं अधिक जोखिम नहीं लूं. विश्व चैंपियनशिप भी दिसंबर में होनी है.’’

मणिपुर का प्रतिनिधित्व करना गर्व का क्षण: मीराबाई
मीराबाई ने कहा, ‘‘राष्ट्रीय खेलों में मणिपुर का प्रतिनिधित्व करना मेरे लिए गर्व का क्षण है और जब मुझे उद्घाटन समारोह में दल का नेतृत्व करने के लिए कहा गया तो उत्साह दोगुना हो गया. आम तौर पर उद्घाटन समारोह में शामिल होना बहुत व्यस्त होता है क्योंकि मेरी स्पर्धाएं अगले दिन जल्दी शुरू होती हैं लेकिन मुझे लगा कि मुझे इस बार खुद को चुनौती देनी चाहिए.’’

अगले साल एशियाई खेलों में पहला पदक जीतने का लक्ष्य रखने वाली मणिपुर की यह खिलाड़ी वर्तमान में रहना पसंद करती हैं और उनका ध्यान विश्व चैंपियनशिप पर केंद्रित है, जहां उनका सामना एशिया के बड़े वेटलिफ्टरों के होने की उम्मीद है.

VIDEO: पीवी सिंधु से उनके घर पर मिले अनुपम खेर, चैंपियन की ट्रॉफियां देख हैरत में पड़े अभिनेता

VIDEO: अर्शदीप सिंह ने किया खुलासा, कैसे किया साउथ अफ्रीका के बल्लेबाजों का काम तमाम..?

VIDEO: ‘आप मेरे लिए हमेशा GOAT रहेंगे’, जानिए विराट कोहली ने किस खिलाड़ी के लिए कहा

एशियाई खेलों का पदक नहीं है, यह मेरे दिमाग में: चानू
इस 28 वर्षीय वेटलिफ्टर ने कहा, ‘‘हां मेरे पास एशियाई खेलों का पदक नहीं और यह कुछ ऐसा है जो मेरे दिमाग में है. पीठ की चोट के कारण 2018 सत्र से बाहर होने के बाद यह मेरे पहले एशियाई खेल होंगे. एशियाड में प्रतिस्पर्धा का स्तर बहुत अच्छा होगा लेकिन मेरा ध्यान अभी विश्व चैंपियनशिप पर है, जहां मुझे उन्हीं भारोत्तोलकों के खिलाफ प्रतिस्पर्धा करने का मौका मिलेगा.’’

संजीता चानू ने क्लीन एंड जर्क में 187 किलोग्राम उठाया
संजीता चानू ने कुल 187 किग्रा (स्नैच में 82 किग्रा, क्लीन एवं जर्क में 105 किग्रा) वजन उठाकर रजत पदक अपने नाम किया. ओडिशा की स्नेहा सोरेन ने कुल 169 किग्रा (स्नैच में 73 किग्रा, क्लीन एवं जर्क में 96 किग्रा) भार उठाकर कांस्य पदक जीता. स्नैच में मीराबाई ने अपने पहले ही प्रयास में 81 किग्रा वजन उठाकर शुरुआती बढ़त हासिल कर ली. उन्होंने दूसरे प्रयास में 84 किग्रा वजन उठाकर मणिपुर की अपनी साथी वेटलिफ्टर संजीता पर दो किग्रा की बढ़त बनाई जो अपने पहले दो प्रयास में 80 किग्रा और 82 किग्रा वजन ही उठा सकी.

संजीता के 84 किग्रा के तीसरे प्रयास को फाउल करार दिया गया. मीराबाई ने अपनी ऊर्जा बचाना पसंद किया और तीसरे प्रयास के लिए नहीं आईं. क्लीन एवं जर्क में संजीता ने अपने पहले प्रयास में 95 किग्रा भार उठाया और फिर सफलतापूर्वक 100 और 105 किग्रा वजन उठाया.

Tags: Gold Medal, Mirabai Chanu, Tokyo Olympics 2021

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें