लाइव टीवी

एक हुए बंगाल के दो बड़े फुटबॉल क्लब, आईएसएल में साथ खेलेंगे ATK और मोहन बगान

News18Hindi
Updated: January 16, 2020, 8:04 PM IST
एक हुए बंगाल के दो बड़े फुटबॉल क्लब, आईएसएल में  साथ खेलेंगे ATK और मोहन बगान
मोहन बगान और एटीके के मालिक

आरपीएसजी ग्रुप के चेयरमैन संजीव गोयनका (Sanjeev Goenka) ने एटीके और मोहन बगान के विलय की घोषणा की

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 16, 2020, 8:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मोहन बागान (Mohan Bagan) को अगले सत्र में एटीके (ATK) मोहन बागान के नाम से जाना जाएगा क्योंकि इस मशहूर क्लब ने गुरुवार को एटीके एफसी को अपनी अधिकतर हिस्सेदारी बेचकर इंडियन सुपर लीग (Indian Super League) में दो बार के विजेता क्लब में अपना विलय कर दिया. यह विलय जून से प्रभावी होगा और वे एक टीम के रूप में आईएसएल (ISL) 2020-21 में भाग लेंगे. दोनों टीमें हालांकि वर्तमान आईलीग (I League) और आईएसएल (ISL) सत्र में अलग अलग खेलेंगे.
करार के अनुसार एटीके (ATK) का प्रमुख मालिक आरपी संजीव गोयनका ग्रुप (आरपीएसजी) मोहन बागान फुटबॉल क्लब (इंडिया) प्रा लि से 80 प्रतिशत हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगा.

संजीव गोयंका ने किया विलय का ऐलान
आरपीएसजी ग्रुप के चेयरमैन संजीव गोयनका (Sanjeev Goenka) ने विलय की घोषणा करते हुए कहा, ‘आरपीएसजी ग्रुप मोहन बागान का आरपीएसजी परिवार में खुले दिल से स्वागत और सम्मान करता है. निजी तौर पर यह मेरे लिये भावनात्मक पुनर्मिलन है क्योंकि मेरे पिता स्वर्गीय आर पी गोयनका मोहन बागान के सदस्य थे.’

atk, football news, sports news, isl
एटीके आईएसएल की टीम जो बार खिताब जीत चुकी है


बयान में कहा गया है, ‘नये फुटबॉल क्लब के पास एटीके और मोहन बागान ब्रांड नाम होंगे. इस कदम से दो फुटबाल क्लब नयी पहचान के साथ तेजी से बढ़ते भारतीय फुटबॉल परिदृश्य में प्रतिस्पर्धा करेंगे.’ गोयनका ने कहा कि नये क्लब का नाम एटीके मोहन बागान होगा. उन्होंने पीटीआई से कहा, ‘हमने फैसला किया है कि नये क्लब को एटीके मोहन बागान नाम से जाना जाएगा.’

130 साल पुराना क्लब है मोहन बगानमोहन बगान 130 साल पुराना फुटबॉल क्लब है जो अब तक 100 से भी ज्यादा मेजर खिताब जीत चुके है. साल 1989 में भारतीय सरकार ने मोहन बगान के लिए पोस्टेज स्टैंप निकाला था और इसे नेशनल क्लब ऑफ इंडिया भी कहा गया था. वहीं एटीके शुरुआत से ही आईएसएल की मजबूत टीम रही है. वह अब तक दो बार साल 2014 और 2016 में यह खिताब जीत चुकी है.

आटा-चावल बेचने वाले ने ऑस्ट्रेलिया में मचाया धमाल, अब पाकिस्तानी टीम में शामिल

धोनी को सालाना कॉन्ट्रैक्ट ना मिलने से मचा बवाल, फैंस बोले यह नाइंसाफी है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 6:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर