मोहन बागान के पूर्व फुटबॉलर प्रणब गांगुली का निधन, कोलकाता में ली अंतिम सांस

प्रणब गांगुली साल 1969 में मर्डेका कप में खेलने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे. (Mohun Bagan Twitter)

प्रणब गांगुली साल 1969 में मर्डेका कप में खेलने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे. (Mohun Bagan Twitter)

मोहन बागान के पूर्व फुटबॉलर प्रणब गांगुली (Pranab Ganguly) का 75 साल की उम्र में निधन हो गया. जब तक वह मोहन बागान टीम में रहे, क्लब ने कलकत्ता लीग, आईएएफए शील्ड, डूरंड कप, रोवर्स कप भी जीता. उन्होंने रोवर्स कप में शानदार हैट्रिक भी लगाई थी.

  • Share this:
कोलकाता. भारत और मोहन बागान के पूर्व फुटबॉलर प्रणब गांगुली (Pranab Ganguly) का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. वह 75 वर्ष के थे. गांगुली को पिछले दिनों से सांस लेने में परेशानी हो रही थी. उनके पूर्व क्लब के अनुसार, उन्होंने शुक्रवार को पार्क सर्कस स्थित अपने आवास में अंतिम सांस ली. प्रणब गांगुली 1969 में मर्डेका कप में खेलने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे थे.

प्रणब लगातार आठ सत्र तक मोहन बागान की तरफ से खेले थे और उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 1969 में आईएफए शील्ड फाइनल में किया था. उनके दो गोल की मदद से मोहन बागान ने इस मैच में अपने चिर प्रतिद्वंद्वी ईस्ट बंगाल को 3-1 से हराया था.



वह साल 1967 में हावडा यूनियन से मोहन बागान क्लब में आए थे जिसके बाद उन्होंने अपने खेल से सभी को प्रभावित किया. वह लेफ्ट विंगर के तौर पर खेलते थे लेकिन कलकत्ता लीग के दूसरे मैच में उन्होंने मोहन बागान को राजस्थान क्लब के खिलाफ जीत दिलाने में भी भूमिका निभाई. जब तक वह मोहन बागान टीम में रहे, क्लब ने कलकत्ता लीग, आईएएफए शील्ड, डूरंड कप, रोवर्स कप भी जीता. उन्होंने रोवर्स कप में शानदार हैट्रिक भी लगाई थी.
संतोष ट्रॉफी में भी वह बंगाल के लिए सफल रहे. वह 1967 से 1969 तक और 1971 में संतोष ट्रॉफी में खेले और 1969 तथा 1971 में खिताब भी जीते. रिटायरमेंट के बाद वह कलकत्ता क्रिकेट और फुटबॉल क्लब के कोच बन गए और कई अकादमी से भी जुड़े रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज