US OPEN: नोवाक जोकोविच; तुमने जज नहीं, खिताब को ठोकर मारी है, स्टीव वॉ और बोल्ट से ही सीख लेते

US OPEN: नोवाक जोकोविच; तुमने जज नहीं, खिताब को ठोकर मारी है, स्टीव वॉ और बोल्ट से ही सीख लेते
नोवाक जोकोविच को यूएस ओपन से डिसक्वालिफाई कर दिया गया है.

नोवाक जोकोविच के यूएस ओपन (US OPEN 2020) से डिस्क्वालिफिकेशन से 3 बातें याद आईं. पहली जो 1999 में स्टीव वॉ (Steave Waugh) ने विरोधी खिलाड़ी से कही थी. दूसरी, वह जो 2011 में यूसैन बोल्ट (Usain Bolt) पर गुजरी थी. तीसरी बात 1987 की है और कर्टनी वॉल्श (Courtney Walsh) से जुड़ी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 7, 2020, 1:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: यकीन मानिए, नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) को वह पल ताजिंदगी सताने वाली है. वे सर्विस के लिए जा रहे थे और बिना देखे ही गेंद को हिट कर बैठे. गुस्साई गेंद ने जैसे उनकी किस्मत को ही ठोकर मार दिया. नतीजा, जो जोकोविच खिताब जीतने के सबसे तगड़े दावेदार माने जा रहे थे, उन्हें यूएस ओपन (US OPEN 2020) से तुरंत बाहर कर दिया गया. जोकोविच की इस हिट और डिस्क्वालिफिकेशन से तीन दो बातें याद आईं. पहली जो 1999 में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव वॉ (Steave Waugh) ने अपने विरोधी खिलाड़ी से कही थी और दूसरी वह जो 2011 में महान एथलीट यूसैन बोल्ट (Usain Bolt) पर गुजरी थी. तीसरी बात 1987 की है और वेस्टइंडीज के कर्टनी वॉल्श (Courtney Walsh) से जुड़ी हैं.

पहले नोवाक जोकोविच की ‘किस्मत को ठोकर (हिट) मारने वाली बात’ को क्रिकेट के बहाने समझते हैं. वह साल 1999 था. ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका की टीमें विश्व कप के मुकाबले में आमने सामने थीं. ऑस्ट्रेलिया की टीम शुरुआती विकेट गंवाकर दबाव में थी. उसकी आस बस अपने कप्तान स्टीव वॉ पर थी, जो क्रीज पर मौजूद थे. तभी स्टीव ने एक शॉट खेला, जो सीधे विरोधी खिलाड़ी के हाथ में गया. उसने कैच टपका दिया. इस पर स्टीव वॉ ने उस खिलाड़ी से कहा- ‘तुमने कैच नहीं, मैच टपकाया है.’ नतीजा भी यही हुआ. ऑस्ट्रेलिया ने विश्व कप जीता और दक्षिण अफ्रीका फाइनल में भी नहीं पहुंच सका.

बस कुछ इसी तरह जब जोकोविच ने सोमवार (भारतीय समय) को अनजाने में लाइन मैन को गेंद मारी (हिट की), तो उन्होंने अपनी ही खिताबी उम्मीदों को ठोकर मार दिया. टेनिसप्रेमी जानते हैं कि यह सर्बियाई स्टार खिताब जीतने का सबसे तगड़ा दावेदार क्यों था. यूएस ओपन, कोरोना काल में खेला जाने वाला सबसे बड़ा टेनिस टूर्नामेंट है. 20 ग्रैंडस्लैम जीतने वाले रोजर फेडरर और 19 ग्रैंडस्लैम जीत चुके राफेल नडाल इस टूर्नामेंट में नहीं उतरे हैं. इससे जोकोविच की राह आसान लग रही थी, जो दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी भी हैं.



Novak Djokovic, US OPEN, US Open, US OPEN 2020, American Open, Novak Djokovic Disqualification
नोवाक जोकोविच की बॉल लगते ही लाइन जज गिर गई.

लाइन जज को हिट करने का नतीजा यह रहा कि जोकोविच को पूरे टूर्नामेंट से डिस्क्वालिफाई कर दिया गया. यूएस ओपन के 139 साल के इतिहास में चैंपियन खिलाड़ी का यूं बिना खेले ही मैदान से बाहर होने जाने का सिर्फ तीसरा मौका है. इस घटना ने 2011 में हुए एथलेटिक्स वर्ल्ड चैंपियनशिप से यूसैन बोल्ट के डिसक्वालिफिकेशन की याद दिला दी. बोल्ट तब ओलंपिक और विश्व चैंपियन थे. सबसे तेज दौड़ने का रिकॉर्ड उनके नाम था, जो आज भी बरकरार है. लेकिन उन्हें फाल्स स्टार्ट के कारण डिसक्वालिफाई कर दिया गया था.

यूसैन बोल्ट के डिसक्वालिफाई होने के बाद उन दिनों कुछ दिग्गजों ने नियम पर ही सवाल उठा दिए थे. उनका कहना था कि फाल्स स्टार्ट के नियम में सुधार की जरूरत है. वे इस बात से भी खफा थे कि जिस खिलाड़ी को देखने के लिए दर्शक महंगे टिकट खरीदकर आए, वे उसका परफॉर्मेंस नहीं देख पाए. नोवाक जोकोविच के डिसक्वालिफिकेशन के बाद ऐसी मांग नहीं उठी है. शायद इसलिए भी, क्योंकि वे नंबर-1 होने के बाद भी रोजर फेडरर और राफेल नडाल जैसे लोकप्रिय नहीं है.

नोवाक जोकोविच का डिसक्वालिफकेशन नियमानुसार सही है. नियमों में साफ कहा गया है कि अगर खिलाड़ी किसी जज को हिट करता है तो उसे अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा. लेकिन जोकोविच का मामला थोड़ा अलग भी है और ऐसा लगा कि उन्हें अयोग्य घोषित करने वाले रेफरी ने कागज पर लिखे शब्दों को, असल घटना से ज्यादा तवज्जो दे दी. दरअसल, जोकोविच ने जब गेंद हिट की, तब वे उस लाइन जज की ओर देख भी नहीं रहे थे. वे बस सर्विस करने की अपनी जगह की ओर बढ़ रहे थे और इस दौरान उन्होंने एक गेंद छांटकर अलग की और उसे अपनी बायीं ओर हिट किया. टेनिस में खिलाड़ी अक्सर ऐसा करते हैं, ताकि वह गेंद बॉल बॉय/गर्ल उठा ले और वे दूसरी मनचाही गेंद से सर्विस करें. एक मैच में सैकड़ों बार यह नजारा दिखता है. लेकिन साल 2020 जैसे जोकोविच के लिए बुरी किस्मत लेकर ही आया हो. कोरोना पॉजिटिव होने और इससे जुड़े लंबे विवाद से उबर कर कोर्ट में उतरे जोकोविच के दुर्भाग्य ने यहां भी पीछा नहीं छोड़ा. नोवाक ने गेंद हिट की तो वह सीधे लाइन जज की गर्दन पर लगी. इत्तफाक से लाइन जज की नजर भी शायद कहीं और रही होगी. जब तक उन्हें कुछ समझ आया तब तक गेंद गर्दन को हिट कर चुकी थी और वे बेसुध होकर गिर रही थीं.

Novak Djokovic, US OPEN, US Open, US OPEN 2020, American Open, Novak Djokovic Disqualification
रेफरी से बात करते नोवाक जोकोविच.


जब रेफरी ने लाइन जज को बॉल मारने वाले जोकोविच को डिसक्वालिफाई किया तो क्रिकेट का एक और नियम याद आया. वही नियम, जिसका इस्तेमाल करते ही गेंदबाज अक्सर नैतिकतावादियों के निशाने पर आ जाते हैं. वही नियम, जिसका इस्तेमाल कर आप विकेट हासिल करते हैं और ना करने पर खेलभावना के दूत कहलाते हैं. वेस्टइंडीज के कर्टनी वॉल्श ने 1987 के विश्व कप में इस नियम से विकेट लेना ठुकरा दिया था और आज भी खेलप्रेमी उन्हें इस बात के लिए सलाम करते हैं. कागजों में नियम सीधा है कि यदि नॉनस्ट्राइकर एंड का बल्लेबाज गेंद फेंकने से पहले क्रीज छोड़ता है तो गेंदबाज उसे आउट कर सकता है. नियम का इस्तेमाल करने पर विकेट मिलता है, पर गेंदबाज को इज्जत नहीं मिलती. जब जोकोविच को गेंद हिट करने पर डिस्क्वालिफाई किया गया तो लगा कि कागज के शब्दों को वरीयता देकर कहीं ना कहीं खेलभावना से अन्याय किया गया है. जोकोविच से यह गलती अनजाने में हुई थी. उन्होंने जानबूझकर लाइन जज को नहीं मारा था. रेफरी के पास जोकोविच को माफ करने के लिए यह वजह काफी थी. लेकिन रेफरी ने सोच-समझकर एक ऐसे नियम का शब्दश: पालन किया, जहां नरमी की पूरी गुंजाइश थी. जोकोविच ने ना सिर्फ रेफरी के फैसले को माना, बल्कि अपनी गलती के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी भी मांगी. फिर भी उनके डिसक्वालिफिकेशन ने एक सवाल तो खड़ा कर ही गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज