Home /News /sports /

...तो फ्रेंच ओपन और विंबलडन भी छोड़ दूंगा, वैक्सीन विवाद पर जोकोविच का बड़ा बयान

...तो फ्रेंच ओपन और विंबलडन भी छोड़ दूंगा, वैक्सीन विवाद पर जोकोविच का बड़ा बयान

Australian Open 2022: नोवाक जोकोविच ने कोरोना वैक्सीन को लेकर दोबारा बड़ा बयान दिया है. (File pic)

Australian Open 2022: नोवाक जोकोविच ने कोरोना वैक्सीन को लेकर दोबारा बड़ा बयान दिया है. (File pic)

Novak Djokovic Corona Vaccination Controversy: 20 ग्रैंडस्लैम जीत चुके नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) ने कहा है कि वे कोरोना वैक्सीन के खिलाफ नहीं हैं. लेकिन अगर उन्हें वैक्सीन लगवाने के लिए बाध्य किया जाता है तो वो विंबलडन और फ्रेंच ओपन जैसे ग्रैंड स्लैम को छोड़ने को भी तैयार हैं. जोकोविच इस साल वैक्सीन विवाद की वजह से ही ऑस्ट्रेलियन ओपन में हिस्सा नहीं ले पाए थे. उन्हें ऑस्ट्रेलिया सरकार ने निर्वासित कर दिया था.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. दुनिया के नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच का कहना है कि वो कोरोना वैक्सीन के खिलाफ नहीं है. अगर उन्हें टीका लगाने के लिए मजबूर किया गया तो वो इसकी कीमत चुकाने को तैयार हैं. भले ही उन्हें ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट ही क्यों ना छोड़ना पड़े. जोकोविच को इस साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलने से रोक दिया गया था, क्योंकि उन्होंने कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई थी. उन्होंने इसके लिए ऑस्ट्रेलिया में अदालत का दरवाजा भी खटखटाया था. लेकिन बगैर वैक्सीन लगवाए ऑस्ट्रेलिया पहुंचने पर उन्हें देश से निर्वासित कर दिया गया था.

20 ग्रैंडस्लैम जीत चुके जोकोविच ने कहा कि वे कोरोना वैक्सीन के खिलाफ अभियान में शामिल नहीं हैं. लेकिन वे हर इंसान की आजादी का समर्थन करते हैं. उन्होंने कहा कि हर शख्स के पास यह आजादी होनी चाहिए कि वो यह खुद चुन सके कि उसे कोरोना वैक्सीन लगवानी है या नहीं.

जोकोविच फ्रेंच ओपन और विंबलडन छोड़ने को तैयार
जोकोविच ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि अगर विंबलडन और फ्रेंच ओपन में हिस्सा लेने के लिए कोरोना वैक्सीन अनिवार्य की जाती है और उन्हें टीका लगवाने के लिए मजबूर किया जाता है, तो वो यह दोनों ग्रैंड स्लैम छोड़ने को तैयार हैं.

उन्होंने अपना रुख साफ करते हुए कहा, ‘मैं कभी भी वैक्सीन के खिलाफ नहीं रहा हूं. अगर बच्चा होता तो अब तक लगवा चुका होता. जोकोविच ने आगे कहा कि मैंने हमेशा से ही इस बात का समर्थन किया है कि हर व्यक्ति के पास यह स्वतंत्रता होनी चाहिए कि वो अपने शरीर के अंदर क्या लगवाना चाहता है.’

यह पूछे जाने पर कि वह अधिक ग्रैंड स्लैम जीतने का मौका क्यों छोड़ रहे हैं? जोकोविच ने जवाब दिया, ‘क्योंकि मेरे शरीर पर निर्णय लेने का फैसला किसी भी खिताब या किसी और चीज से ज्यादा महत्वपूर्ण हैं. मैं अपने साथ तालमेल बिठाने की कोशिश कर रहा हूं.’

डोप टेस्‍ट में फेल, फिर भी ओलंपिक में चुनौती पेश करेगी 15 साल की खिलाड़ी, जानें पूरा मामला

जोकोविच ऑस्ट्रेलियन ओपन नहीं खेल पाए थे
पिछले महीने नोवाक जोकोविच कोरोना वैक्सीन ना लगवाने की वजह से ऑस्ट्रेलियन ओपन 2022 में हिस्सा नहीं ले पाए थे. उन्हें ऑस्ट्रेलिया सरकार ने डिपोर्ट कर दिया था. उनका वीजा भी दो बार रद्द किया गया था. इसे लेकर वो कोर्ट भी गए थे. हालांकि अदालत ने भी उनके खिलाफ फैसला सुनाया था. जोकोविच इस महीने दुबई टेनिस चैंपियनशिप से कोर्ट में वापसी करने के लिए तैयार हैं. सर्बिया के इस खिलाड़ी का अगले महीने से कैलिफोर्निया में होने वाली इंडियन वेल्स एटीपी मास्टर्स 1000 की एंट्री लिस्ट में भी नाम है.

Tags: French Open, Novak Djokovic, Tennis, Wimbledon

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर