क्वारंटाइन के दौरान ट्रेनिंग कर सकेंगे ओलंपिक के लिए जाने वाले खिलाड़ी: साई

कैंप में कई खिलाड़ी संक्रमित हो चुके हैं. (File Photo)

कैंप में कई खिलाड़ी संक्रमित हो चुके हैं. (File Photo)

टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है. इस बीच साई (SAI) ने खिलाड़ियाें को ट्रेनिंग की सहूलियत दी है. अब खिलाड़ी क्वारंटाइन के दाैरान भी छोटे-छोटे ग्रुप में ट्रेनिंग कर सकेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2021, 3:00 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने गुरुवार को कहा कि ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके खिलाड़ियों को घर से ब्रेक या प्रतियोगिता में हिस्सा लेकर लौटने के बाद अपने संबंधित राष्ट्रीय शिविरों में जुड़ने से पहले क्वाइंटाइन के दौरान अभ्यास और ट्रेनिंग की स्वीकृति होगी. लेकिन अब से उन्हें अपवाद की स्थिति में ही छुट्टी मिलेगी. देश भर में विभिन्न राष्ट्रीय शिविरों में कई खिलाड़ियों के कोविड-19 पॉजिटिव पाए जाने के बाद यह कदम उठाया गया है.

मुक्केबाजों और सहयोगी स्टाफ के बीच संक्रमण के मामलों को देखते हुए दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में फिलहाल राष्ट्रीय महिला मुक्केबाजी शिविर को बंद कर दिया गया है. साई ने बयान में कहा, ‘ओलंपिक के लिए जाने वाले खिलाड़ियों के बिना किसी बाधा के ट्रेनिंग जारी रखने की जरूरत को देखते हुए साई ने क्वारंटाइन के दौरान भी नियंत्रित माहौल में ट्रेनिंग की स्वीकृति देने का फैसला किया है.’ संक्रमण पर ध्यान रखने के लिए साइ केंद्रों में हर हफ्ते आरटी-पीसीआर परीक्षण किए जाएंगे.

छोटे-छोटे समूह बनाए जाएंगे

साई ने कहा, ‘साई भारतीय ओलंपिक संघ के साथ सलाह मशविरे के बाद ओलंपिक के लिए जाने वाले खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ को छुट्टी देने पर फैसला करेगा. राष्ट्रीय खेल महासंघ और साई अपवाद की स्थिति में ही छुट्टी की स्वीकृति देंगे, क्योंकि देखा गया है कि अधिकांश खिलाड़ी यात्रा के दौरान संक्रमित हुए.’ घर में ब्रेक या प्रतियोगिता से लौटने के बाद साई केंद्र पहुंचने पर खिलाड़ी को 7 दिन के अनिवार्य क्वारंटाइन से गुजरना होता है. साई ने कहा कि क्वारंटाइन के दौरान ट्रेनिंग जारी रखने के लिए छोटे समूह बनाए जाएंगे.
अधिक लाेग संक्रमित ना हों

साई ने कहा कि क्वारइंटाइन के दौरान छोटे समूहों में ट्रेनिंग से सुनिश्चित होगा कि बड़े स्तर पर वायरस का संक्रमण नहीं फैले. साई ने कहा, ‘क्वाइंटाइन के दौरान सामान्य फिटनेस गतिविधियों और निगरानी में ट्रेनिंग की स्वीकृति होगी. उन्हें 7 दिन के शुरुआती क्वारंटाइन के खत्म होने के बाद पूरे समूह के परीक्षण का नेगेटिव नतीजा नहीं आने तक जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में मौजूद खिलाड़ियों/सहयोगी स्टाफ से मिलने की स्वीकृति नहीं होगी.’ अगर पृथकवास के अंत में समूह का कोई सदस्य पॉजिटिव पाया जाता है तो पूरे समूह को एक और हफ्ते क्वारंटाइन में रहना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज