Home /News /sports /

कश्मीर के चरमपंथियों के सामने नहीं झुकीं नाहिदा, बन गईं घाटी की पहली महिला रेसलर

कश्मीर के चरमपंथियों के सामने नहीं झुकीं नाहिदा, बन गईं घाटी की पहली महिला रेसलर

नाहिदा नबी कश्मीर के बारामुला की रहनी वाली हैं

नाहिदा नबी कश्मीर के बारामुला की रहनी वाली हैं

नाहिदा (Nahida Nabi) का सपना कश्मीर (Kashmir) में दंगल अकादमी खोलकर बेटियों को खेलों में आगे लाना है. इसके लिए उन्होंने 'बेटी को पहलवान बनाओ का नारा' दे दिया है.

    नई दिल्ली. कश्मीर (Kashmir) में चल रहे तनाव के बावजूद वहां खेलों के प्रति लोगों का जुनून कम नहीं हुआ है. कश्मीर (Kashmir) की पहली महिला रेसलर नाहिदा नबी (Nahida Nabi) इन दिनों जम्मू के कटरा में चल रहे महादंगल में हिस्सा ले रही हैं और अपने खेल से लोगों को प्रेरित कर रही हैं. जम्मू कश्मीर के कटड़ा (Katra) में नवरात्रि के मौके पर मिशन दोस्ती महा दंगल कुश्ती प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है.

    टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक नाहिदा (Nahida Nabi) आतंकग्रस्त जिले बारामुला (Baramulla) के सोपोर की रहने वाली हैं और कश्मीर की पहली महिला रेसलर हैं. उन्होंने कश्मीर में रहते हुए ही रेसलिंग की शुरुआत की. उन्हें इस दौरान अपने परिवार का समर्थन मिला. नाहिदा और उनका परिवार कभी भी चरमपंथियों और राष्ट्रविरोधियों के फरमानों के आगे नहीं झुका. नाहिदा चाहती हैं कि कश्मीर में उनकी तरह और लड़कियां भी रेसलिंग में आगे बढ़ें.

    नाहिदा ने दिया 'बेटी को बढ़ाओ और बेटी को पहलवान बनाओ' का नारा

    नाहिदा का सपना कश्मीर में दंगल अकादमी खोलकर बेटियों को खेलों में आगे लाना है. इसके लिए उन्होंने 'बेटी को पहलवान बनाओ का नारा' दे दिया है. नाहिदा नबी  ने कहा, 'अगर सरकार मेरे लिए कुछ व्यवस्था कर देती है तो मैं लड़कियों की एक टीम को प्रशिक्षित कर सकती हूं. उन्होंने कहा कि घाटी में लड़कियों को खेल का मूल्य पता नहीं है.

    नाहिदा नबी ने कहा कि, मैं पीएम मोदी से अपील करना चाहती हूं कि वे 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के साथ-साथ, बेटी को बढ़ाओ और बेटी को पहलवान बनाओ' के कार्यक्रम पर भी काम करें. उसका सपना अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्तव करना है. नाहिदा ने कहा कि कश्मीर के हालात के मद्देनजर उन्हें किसी भी कोच से प्रशिक्षण नहीं मिला. उसने पहली राष्ट्रीय दंगल प्रतियोगिता वर्ष 2018 में उत्तर प्रदेश के गोंडा में खेली थी, यहां वह जीत तो हासिल नहीं कर पाई लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी.

    मैच के बीच में ही रोहित को गेंदबाजी के लिए आई हरभजन की याद, देखें VIDEO

    Tags: Jammu and kashmir, Kashmir

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर