बच्चों की स्कूल फीस तक नहीं भर पा रहा यह दिग्गज शूटर, लौटाएगा अर्जुन अवार्ड!

निशानेबाज और कोच नरेश कुमार शर्मा (Naresh Kumar Sharma) पर एक प्रशिक्षु ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे, जिसके बाद उनकी नौकरी चली गई

भाषा
Updated: August 28, 2019, 11:51 AM IST
बच्चों की स्कूल फीस तक नहीं भर पा रहा यह दिग्गज शूटर, लौटाएगा अर्जुन अवार्ड!
निशोनबाज और कोच नरेश कुमार शर्मा तीन माह से जांच की रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहे हैं
भाषा
Updated: August 28, 2019, 11:51 AM IST
पांच बार पैरालिंपिक, चार बार पैरा एशियाई खेल और विश्व कप में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके निशानेबाज और कोच नरेश कुमार शर्मा (Naresh Kumar Sharma) ने भारतीय खेल प्राधिकरण पर खराब बर्ताव का आरोप लगाते हुए अर्जुन पुरस्कार लौटाने की धमकी दी है. खेलमंत्री किरेन रीजीजू को लिखे पत्र में शर्मा ने कहा कि उन्होंने जब एक प्रशिक्षु को कहा कि साइ के नियमों के तहत रेंज पर निजी कोच नहीं आ सकता तो उनके खिलाफ उसने यौन उत्पीड़न के आरोप लगा दिए. जिस वजह से उनकी नौकरी चली गई और वह अपने बच्चों की स्कूल फीस तक नहीं भर पा रह हैं.

उन्होंने पत्र में लिखा कि भारी मन से मैंने अर्जुन पुरस्कार और 50 हजार रुपए का चेक लौटाने का फैसला किया है, क्योंकि पिछले तीन महीने में भारतीय खेल प्राधिकरण के अधिकारियों ने मेरे साथ बहुत बुरा बर्ताव किया है. शर्मा पैरा निशानेबाज हैं जिन्हें 1997 में अर्जुन पुरस्कार मिला था. उन्होंने कहा कि मैंने कई बड़े टूर्नामेंट में देश का प्रतिनिधित्व किया.

तीन माह से कर रहे हैं रिपोर्ट का इंतजार

उन्होंने कहा कि पिछले तीन महीने में साइ ने मेरे साथ अपराधी की तरह बर्ताव किया. मेरे खिलाफ एक प्रशिक्षु ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए, क्योंकि मैने उससे कहा कि रेंज पर निजी कोच को नहीं ला सकते. साइ की तत्कालीन महानिदेशक नीलम कपूर ने विशाखा गाइडलाइंस के तहत जांच शुरू कराई थी, लेकिन शर्मा ने कहा कि वह तीन महीने से रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं. शर्मा ने कहा कि साइ ने मुझे जवाब नहीं दिया. मेरी नौकरी चली गई और मैं अपने बच्चों की स्कूल फीस नहीं भर पा रहा. मैं छठा पैरालिंपिक नहीं खेल सका. उन्होंने कहा कि व्यवस्था पर से उनका भरोसा उठ गया है.

विज्ञापन देकर अपने खिलाड़ियों को खोज रहा जम्‍मू-कश्मीर

लालच में आकर इस पाक क्रिकेटर ने दिया था देश को धोखा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 11:51 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...