टीमों को है IPL के आयोजन की पूरी उम्मीद, बिना दर्शकों के भी खेलने को हैं तैयार!

टीमों को है IPL के आयोजन की पूरी उम्मीद, बिना दर्शकों के भी खेलने को हैं तैयार!
भुवनेश्वर कुमार और डेविड वॉर्नर एक ही आईपीेएल टीम का हिस्सा हैं

कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) के स्थगित होने की संभावना है जिसके बाद आईपीएल (IPL) के लिए रास्ता खुल जाएघगा

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. पूर्व भारतीय कप्तान और किंग्स इलेवन पंजाब के मुख्य कोच अनिल कुंबले (Anil Kumble) को उम्मीद है कि इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का आयोजन होगा और उन्होंने कोविड-19 (Covid-19) महामारी के चलते दर्शकों के बिना इस लीग के आयोजन का भी समर्थन किया.

यह अभी आधिकारिक नहीं है लेकिन भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) इस टूर्नामेंट का आयोजन अक्टूबर में करना चाहता है. कोविड-19 महामारी के कारण टूर्नामेंट अभी अनिश्चितकाल के लिये स्थगित है. कुंबले ने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में कहा, ‘हां हम इस साल आईपीएल के आयोजन के प्रति आशान्वित हैं लेकिन इसके लिये हमें कार्यक्रम को काफी व्यस्त करना होगा.’

कुंबले ने बताया कैसे होगा आयोजन
कुंबले ने कहा, ‘अगर हम दर्शकों के बिना मैचों का आयोजन करते हैं तो फिर इन्हें तीन या चार स्थलों पर आयोजित किया जा सकता है. इसके आयोजन की अब भी संभावना है. हम सभी आशावादी हैं. ’ पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि आईपीएल से जुड़े हितधारक मैचों का आयोजन उन शहरों में कर सकते हैं जहां कई स्टेडियम है. इससे खिलाड़ियों को कम यात्राएं करनी पड़ेंगी.



लक्ष्मण को भी आयोजन का है विश्वास


लक्ष्मण ने कहा, ‘निश्चित तौर पर इस साल आईपीएल आयोजन की संभावना है. आपको ऐसे एक स्थल की पहचान करनी होगी जहां तीन या चार मैदान हों क्योंकि यात्रा करना भी काफी चुनौतीपूर्ण होगा.’ उन्होंने कहा, ‘आप यह नहीं जानते कि हवाई अड्डे पर कौन कहां जा रहा है इसलिए मुझे विश्वास है कि फ्रेंचाइजी और बीसीसीआई इस पर गौर करेंगे. ’

25 सितंबर से एक नवंबर तक खेला जा सकता है आईपीएल
रिपोर्ट की मानें तो 25 सितंबर से 1 नवंबर के बीच आईपीएल के आयोजन की रणनीति पर बातचीत हुई है. एक फ्रेंचाइजी के अधिकारी ने भी कहा है कि आगे की रणनीति पर चर्चा चल रही है. इसे ध्यान में रखकर आगे की नीतियां बनाई जा रही है. खबर ये है कि रणनीति में विदेशी खिलाड़ी भी शामिल हैं. यहां गौर करने वाली बात ये दिख रही है कि कहीं ना कहीं ज्यादातर फ्रेंचाइजी विदेशी खिलाड़ियों के साथ ही आईपीएल खेलना चाहती हैं. चेन्नई सुपरकिंग्स ने तो इस पर खुलकर अपनी राय दे दी थी. चेन्नई फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी ने कहा था कि अगर विदेशी खिलाड़ी लीग में नहीं आए तो आईपीएल दूसरी विजय हजारे ट्रॉफी बनकर रह जाएगा.

फवाद मिर्जा: विरासत में मिले खेल में रचा इतिहास, देश को दिखाई नई उम्मीद
First published: May 28, 2020, 1:43 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading