क्वालिफाई किए बगैर ही ओलिंपिक में हिस्सा लेगा 16 साल का यह भारतीय खिलाड़ी! जानिए क्या है वजह

क्वालिफाई किए बगैर ही ओलिंपिक में हिस्सा लेगा 16 साल का यह भारतीय खिलाड़ी! जानिए क्या है वजह
अनीश भानवाल भारत के युवा निशानेबाजों में शामिल है

भारत (India) अब तक शूटिंग में कुल 16 ओलिंपिक कोटा हासिल कर चुका है

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2020, 11:02 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगले साल होने वाले टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) में भारत को शूटिंग से मेडल की काफी उम्मीदें हैं. भारत अब तक इस खेल में 15 ओलिंपिक कोटा हासिल कर चुका है. हाल के समय में भारतीय निशानेबाजों के शानदार प्रदर्शन ने साबित किया है कि वह ओलिंपिक में गोल्ड मेडल के प्रबल दावेदार हैं. भारत के इन दावेदारों की लिस्ट में एक और नाम शामिल हो सकता है. हरियाणा के युवा निशानेबाज अनीश भानवाल (Anish Bhanwala) अब तक 25 मीटर रैपिड फायर में ओलिंपिक कोटा हासिल करने में नाकाम रहे हैं लेकिन उनके प्रदर्शन के दम पर उन्हें ओलिंपिक में हिस्सा लेने का मौका मिल सकता है.

अनीश को मिल सकता है ओलिंपिक कोटा

अंतरराष्ट्रीय शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन (ISSF) भारत (India) के इस युवा शूटर को कोटा दे सकती है. अगर ऐसा होता है तो यह भारत को 16वां कोटा होगा. नियमों के मुताबिक ओलिंपिक क्वालिफिकेशन का समय खत्म होने के बाद रैंकिंग के हवाले से कोटा दिया जाएगा जो खिलाड़ियों को उनके देश के नहीं उनके खुद के नाम पर दिया जाएगा. जो खिलाड़ी ओलिंपिक कोटा हासिल करने में नाकाम रहा और रैकिंग में सबसे ऊपर होगा उसे कोटा दिया जागा. हालांकि इस कोटे का मतलब है कि अनीश (Anish Bhanwala) की जगह कोई और निशानेबाज ओलिंपिक में हिस्सा नहीं ले सकता है.
नियमों के मुताबिक इस खास कोटे पर केवल वही खिलाड़ी हिस्सा ले सकता है जिसे यह दिया जाएगा. इसका मतलब है कि अगर अनीश (Anish Bhanwala) किसी भी वजह से ओलिंपिक में हिस्सा नहीं ले पाते हैं तो भारत की ओर से कोई और हिस्सा नहीं ले सकेगा. इससे पहले भारत की ओर से अंजुम मुद्गिल, मनु भाकर, तेजस्विनी सावंत और सौरभ चौधरी समेत कुल 15 खिलाड़ी कोटा हासिल कर चुके हैं.
अनीश ने किया था शानदार प्रदर्शन


अनीश ने साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया के गोल्डकोस्ट में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल हासिल किया था. सिर्फ 15 साल के अनीष कॉमनवेल्थ गेम्स में सबसे कम उम्र में गोल्ड मेडल जीतने वाले भारतीय हैं. वह इस टूर्नमेंट में पहली बार हिस्सा ले रहे थे. फाइनल में अनीश ने 30 अंक हासिल किया. उन्होंने ग्लाग्सो-2014 में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में ऑस्ट्रेलिया के डेविड चापमान की ओर से बनाए रिकॉर्ड को तोड़ दिया.

गांगुली, धोनी और विराट नहीं, गौतम गंभीर की नजरों ये खिलाड़ी है भारत का बेस्ट कप्तान

भारतीय ओपनर ने वीडियो शेयर करके किया खुलासा, टीम के साथ यूं बिताते थे खाली समय
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading