Home /News /sports /

नेशनल चैंपियन बॉक्सर अरुंधति चौधरी की याचिका पर हाई कोर्ट ने बीएफआई से मांगा जवाब

नेशनल चैंपियन बॉक्सर अरुंधति चौधरी की याचिका पर हाई कोर्ट ने बीएफआई से मांगा जवाब

राष्ट्रीय चैंपियन अरुंधति चौधरी बीएफआई के एक फैसले के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. (Instagram)

राष्ट्रीय चैंपियन अरुंधति चौधरी बीएफआई के एक फैसले के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. (Instagram)

अरुंधति चौधरी (Arundhati Choudhary) की जगह तुर्की में होने वाली वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप (World Women Boxing Championship) में लवलीना बोरगोहेन (Lovlina Borgohain) को चुना गया है. अरुंधति ने कहा कि उन्हें अवसर से वंचित कर कोई नुकसानदेह कार्रवाई करने से मंत्रालय और बीएफआई को रोका जाए.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. दिल्ली हाई कोर्ट ने तुर्की में महिलाओं की आगामी ‘वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप’ के लिए राष्ट्रीय चैंपियन अरुंधति चौधरी (Arundhati Choudhary) के नाम पर विचार नहीं किए जाने के खिलाफ याचिका पर बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) से जवाब मांगा है. साथ ही, अदालत ने कहा कि यदि खिलाड़ी असंतुष्ट महसूस करेंगे तो वे देश के लिए क्या करेंगे. उच्च न्यायालय ने 19 वर्षीय मुक्केबाज अरुंधति चौधरी की याचिका पर बीएफआई और युवा मामलों एवं खेल मंत्रालय को नोटिस जारी किए.

    याचिकाकर्ता चौधरी ने कहा है कि ओलंपिक में कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन (Lovlina Borghain) का चयन ‘ट्रायल’ के बगैर किया गया. न्यायमूर्ति रेखा पल्ली की एकल पीठ ने चौधरी को विषय में बोरगोहेन को पक्षकार बनाने की छूट देते हुए कहा कि अदालत याचिकाकर्ता की दलील की पड़ताल नहीं कर सकती, या बोरगोहेन के समर्थन में कोई आदेश जारी नहीं कर सकती है.

    इसे भी देखें, पीवी सिंधु की होने वाली है शादी! लहंगे में डांस मूव्‍स देखकर फैंस ने पूछा सवाल, देखें Video

    सुनवाई के दौरान बीएफआई की ओर से अधिवक्ता ऋषिकेश बरूआ और पार्थ गोस्वामी ने अदालत को सूचित किया कि चौधरी को प्रतियोगिता के लिए 70 किग्रा श्रेणी में आरक्षित मुक्केबाज की श्रेणी में पंजीकृत किया गया था. अधिवक्ता ने कहा कि एक श्रेणी में सिर्फ एक प्रविष्टि हो सकती है और यदि वह बोरगोहेन के चयन से असंतुष्ट हैं तो उन्हें बोरगोहेन को एक प्रतिवादी पक्ष बनाना होगा. बीएफआई के बयान का संज्ञान लेते हुए अदालत ने कहा कि वह इस विषय में कोई अंतरिम राहत देने को इच्छुक नहीं है.

    दरअसल, चौधरी ने अंतरिम राहत के तौर पर यह मांग की है कि इस्तांबुल, तुर्की में होने वाली वर्ल्ड वूमन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में उन्हें अवसर से वंचित कर कोई नुकसानदेह कार्रवाई करने से मंत्रालय और बीएफआई को रोका जाए. इस्तांबुल में चार से 18 दिसंबर तक आयोजित होने वाले वर्ल्ड चैंपियनशिप को तुर्की में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के चलते अगले साल मार्च तक टाले जाने की संभावना है.

    सुनवाई के दौरान अदालत ने कहा कि ज्यादातर खेल संघ इसे (खेल संघ को) अपना निजी क्लब मानते हैं जो कि बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है और मंत्रालय से जागने तथा कार्रवाई करने को कहा. न्यायाधीश ने कहा, ‘इन संघों के विषयों की मैं जितनी अधिक सुनवाई करती हूं , मुझे प्रतीत होता है कि जब तक खिलाड़ी उनके आगे सिर नहीं झुकाता है, वे खिलाड़ी की नहीं सुनते हैं. आपको खेलों को बढ़ावा देना है.’

    इसे भी पढ़ें, लवलीना बोरगोहेन को विश्व चैंपियनशिप के लिए चुना, बीएफआई की नीति को हाई कोर्ट में अरुंधति ने दी चुनौती

    खेल मंत्रालय का प्रतिनिधित्व कर रहे अधिवक्ता अपूर्व कुरूप से अदालत ने कहा कि प्राधिकारों को जागना चाहिए क्योंकि वह खेल संघों को खेलों को बढ़ावा देने के लिए काफी मात्रा में धन देते हैं. न्यायाधीश ने कहा, ‘यदि खिलाड़ी अंसतुष्ट होंगे तो वे देश के लिए क्या करेंगे. मंत्रालय को इस पर गौर करना चाहिए. थोड़ा और सक्रिय होइए. हम खेलों में काफी बेहतर कर सकते हैं. मेरा कहना है कि खिलाड़ियों को असंतुष्ट नहीं होना चाहिए.’

    उन्होंने कहा, ‘उन्हें (खिलाड़ियों को) ऐसा नहीं लगना चाहिए कि वे बेहतर हैं लेकिन प्रतियोगिता के लिए उनका चयन नहीं किया गया। मैं यह नहीं कह रही कि कौन बेहतर हैं, लवलीना या अरुंधति.’ चौधरी ने अधिवक्ता विजय मिश्रा और संदीप लांबा के मार्फत दायर अपनी याचिका में कहा है कि इस साल अक्टूबर में हरियाणा के हिसार में महिलाओं की राष्ट्रीय बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में उन्होंने स्वर्ण पदक जीता था, इसलिए उन्हें तुर्की में आगामी चैम्पियनशिप के लिए वरीयता दी जानी चाहिए थी. बहरहाल, अदालत ने याचिका आगे सुनवाई के लिए 22 नवंबर को सूचीबद्ध कर दी है.

    Tags: Boxing, Lovlina Borgohain, Sports news, World Championship

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर