बड़ी खबर: कतर में होंगे 2030 के एशियाई खेल, सऊदी अरब को मिली 2034 की मेजबानी

2030 एशियन गेम्‍स दोहा में होगा (PIC: @NBCOlympics/Twitter)

दोनों प्रतिद्वंद्वी देशों के बीच करार के बाद बुधवार को यह फैसला किया गया. दोहा ने 2030 एशियाई खेलों की मेजबानी की दौड़ में रियाद को पीछे छोड़ा

  • Share this:
    मस्कट. कतर की राजधानी दोहा 2030 में होने वाले एशियाई खेलों (Asian Games) की मेजबानी करेगी, जबकि इसके चार साल बाद 2034 में इन खेलों का आयोजन रियाद में किया जाएगा. इन दोनों प्रतिद्वंद्वी देशों के बीच करार के बाद बुधवार को यह फैसला किया गया. दोहा ने 2030 एशियाई खेलों की मेजबानी की दौड़ में रियाद को पीछे छोड़ा. इसके लिए मतदान एशियाई ओलिंपिक परिषद (ओसीए) की आम सभा में किए गए थे. सऊदी अरब और कतर के बीच लंबे समय से चले आ रहे राजनीतिक विवादों के बीच मतदान संपन्न हुआ.

    सऊदी अरब उन चार देशों में शामिल है, जिसने 2017 में कतर का व्यापार और यात्रा बहिष्कार कर दिया था, हालांकि हाल में संकेत मिले हैं कि इनके बीच के विवाद को सुलझाया जा सकता है. ओसीए इस नतीजे पर पहुंचा कि मतदान में विजेता को 2030 की मेजबानी सौंपी जाएगी जबकि दूसरा उम्मीद्वार 2034 में खेलों का आयोजन करेगा.

    न कोई जीता, न किसी की हुई हार
    ओसीए अध्यक्ष शेख अहमद अल फहद अल सबाह ने कहा कि इसका मतलब कोई विजेता नहीं रहा और किसी की हार नहीं हुई. उन्होंने इस समझौते पर पहुंचने के लिये सऊदी अरब और कतर के विदेश मंत्रियों और सम्मेलन के मेजबान ओमान का आभार व्यक्त किया. कतर में 2022 में फीफा विश्व कप भी आयोजित किया जाएगा.

    यह भी पढ़ें : 

    फोगाट बहनों में छिड़ा ट्विटर वार, किसान आंदोलन पर विनेश ने दी बबीता को यह सलाह

    साउथ अफ्रीका के स्‍टार खिलाड़ी की कार दुर्घटना में मौत, जलती गाड़ी का वीडियो हुआ Viral

    बुधवार को मतदान में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में समस्या के कारण लगातार देरी हुई, क्योंकि कई प्रतिनिधि कोरोना वायरस महामारी के कारण अपने देश में रहकर ही मतदान कर रहे थे. सम्मेलन कक्ष में 26 प्रतिनिधियों को मतपत्र दिए गए, जबकि 19 प्रतिनिधियों ने इलेक्ट्रॉनिक मशीनों के जरिये अपने क्षेत्र में रहकर मतदान किया.
    Published by:Kiran Singh
    First published: