कोविड-19 के कारण मलेशिया ओपन ओपन टला, साइना-श्रीकांत की ओलंपिक उम्मीदों को झटका

ओलिपिक कांस्‍य पदक विजेता साइना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत की टोक्यो ओलंपिक गेम्स में जगह बनाने की उम्मीदों को करारा झटका लगा है.

ओलिपिक कांस्‍य पदक विजेता साइना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत की टोक्यो ओलंपिक गेम्स में जगह बनाने की उम्मीदों को करारा झटका लगा है.

BWF ने साथ ही पुष्टि की है कि नये कार्यक्रम में होने वाला टूर्नामेंट ओलंपिक विंडो के अंतर्गत नहीं आएगा. इससे भारत की स्टार शटलर और ओलंपिक पद विजेता साइना नेहवाल (Saina Nehwal) और किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) का टोक्यो खेलों में जगह बनाने की उम्मीदों को करारा झटका लगा है.

  • Share this:

नई दिल्ली. घातक कोरोना वायरस का असर अब क्रिकेट के अलावा दूसरे खेलों पर भी पड़ रहा है. ओलंपिक क्वालिफाइंग की अंतिम दो बैडमिंटन प्रतियोगिताओं में से एक मलेशिया ओपन सुपर-750 टूर्नामेंट को मेजबान देश में कोविड-19 के मामले बढ़ने के कारण शुक्रवार को स्थगित कर दिया गया. इससे भारतीय स्टार शटलर साइना नेहवाल (Saina Nehwal) और किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) का टोक्यो खेलों में जगह बनाने की उम्मीदों को करारा झटका लगा है.

यह 600,000 डॉलर की इनामी प्रतियोगिता 25 से 30 मई के बीच कुआलालम्पुर में आयोजित की जानी थी. विश्व बैडमिंटन संघ (बीडब्ल्यूएफ) ने बयान में कहा, ‘आयोजकों और बीडब्ल्यूएफ ने सभी भागीदारों के लिए सुरक्षित टूर्नामेंट वातावरण मुहैया कराने के लिए अपनी तरफ से सभी प्रयास किए लेकिन हाल में मामले बढ़ने के कारण टूर्नामेंट स्थगित करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था. बीडब्ल्यूएफ पुष्टि करता है कि नये कार्यक्रम में होने वाला टूर्नामेंट ओलंपिक विंडो के अंतर्गत नहीं आएगा. नये टूर्नामेंट की तारीखों की बाद में पुष्टि की जाएगी.’

इसे भी पढ़ें, टोक्यो ओलंपिक पर मंडराया खतरा! रद्द करने की याचिका पर हजारों लोगों ने हस्ताक्षर किए

यह फैसला लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना और पुरुष स्टार श्रीकांत की ओलंपिक में जगह बनाने की उम्मीदों के लिए करारा झटका है. इंडिया ओपन (11 से 16 मई) के स्थगित होने के बाद साइना और श्रीकांत की टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने की उम्मीदें मलेशिया ओपन और फिर सिंगापुर ओपन (एक से छह नवंबर) पर टिकी थीं. भारत के इन दोनों खिलाड़ियों का सिंगापुर में प्रतियोगिता में हिस्सा लेना मुश्किल है क्योंकि उस देश ने भारत से सभी उड़ान निलंबित कर रखी हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज