• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Boxing 2019: उपलब्धि से लेकर डोप तक, मुक्‍केबाजी के लिए ऐसा रहा साल

Boxing 2019: उपलब्धि से लेकर डोप तक, मुक्‍केबाजी के लिए ऐसा रहा साल

इस साल मैरीकॉम विश्व चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने से चूक गई थी

इस साल मैरीकॉम विश्व चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने से चूक गई थी

इस साल भारत ने विश्व चैंपियनशिप(AIBA World Boxing Championships) में खास उपल‌ब्धि हासिल की तो साल खत्म होते- होते डोप का भी डंक लग गया

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत के मुक्केबाजों के लिए 2019 काफी मिलाजुला रहा. वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियन‌शिप (AIBA World Boxing Championships) में भारत ने दोनों वर्गों में मिलाकर कुल छह मेडल जीते. दो पुरुष वर्ग में और चार महिला चैंपियनशिप में जीते.  हालांकि छह बार ही वर्ल्ड चैंपियन मैरीकॉम (MC Mary Kom) को इस बार ब्रॉन्ज मेडल से ही संतोष करना पड़ा. इसके अलावा भारतीय मुक्केबाजी में इस बार मैरीकॉम और निकहत जरीन का विवाद भी छाया है. इसके अलावा वर्ल्ड चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में मैरीकॉम की  हार के बाद भी विवाद हुआ था. पेशेवर मुक्केबाजी की बात  करें तो विजेंद्र सिंह ने इस साल लगातार 12वां मैच जीता. भारतीय मुक्केबाज सरिता देवी (Sarita Devi) इस साल निर्विरोध आईबा एथलीट कमीशन की सदस्‍य चुनी गई. भारत की उपलब्धि और विवाद के अलावा इस साल जिस चीज ने भारत के रिकॉर्ड को दागदार किया, वो डोपिंग रही. इंटरनेशनल मुक्केबाज सुमित सागवान और नीरज फोगाट डोप टेस्ट में फेल हुए.

    mc marykom, boxing, sports news
    मैरीकॉम को वर्ल्ड चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा था


    विश्व चैंपियनशिप में भारत
    महिला विश्च चैंपियनशिप में मैरीकॉम  (MC Mary Kom)  ने 51 किग्रा भार वर्ग में ब्रॉन्ज मेडल जीता. 3 से 13 अक्टूबर तक चले महिला बॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारत ने कुल चार मेडल जीते थे. हालांकि भारत को मैरी से गोल्ड उम्‍मीद थी, लेकिन विवादित सेमीफाइनल में उन्हें ब्रॉन्ज से ही संतोष करना पड़ा. वहीं मैरीकॉम से पसंदीदा भार वर्ग 48 किग्रा में उतरी  मंजू रानी ने सिल्वर मेडल जीता. इनके अलावा लवलीना बोरेगोहन और जमुना बोरो ने भी भारत को ब्रॉन्ज मेडल दिलाया. वहीं पुरुष विश्व मुक्केबाजी में भारत ने दो मेडल जीते. अमित पंघाल ने सिल्वर और मनीष कौशिश ने ब्रॉन्ज मेडल जीता. अमित विश्व  चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष मुक्केबाज भी बने.

    marykom, nikhat zareen, boxing, tokyo olympics
    मैरीकॉम और निकहत जरीन के बीच विवाद हो चुका है


    मैरीकॉम और निकहत का विवाद
    इस साल अनुभवी मैरीकॉम (MC Mary Kom) और युवा मुक्केबाज निकहत का विवाद भी काफी छाया रहा. दरअसल निकहत 51 किग्रा वर्ग में अगले साल ओलिंपिक क्वालिफायर के लिए भारतीय टीम का चयन करने से पहले मैरीकॉम के साथ ट्रायल की मांग कर रही हैं. ट्रायल मैच के लिए उन्होंने खेल मंत्री किरेन रिजिजू को पत्र लिखा था.

    डोपिंग का डंक भी छाया
    साल खत्म हाेते भारतीय मुक्केबाजी पर डोपिंग (Doping) का डंक भी लग गया. सुमित सागवान और नीरज फोगाट को डोपिंग के कारण बैन कर ‌दिया गया. 91 किग्रा में एशियन सिल्वर मेडलिस्ट दिसंबर में ही डोप टेस्ट में फेल हुए. वहीं इंटरनेशनल पदक विजेता नीरज फोगाट भी डोप टेस्ट में पॉजीटिव पाई गई ‌थी.

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज