लाइव टीवी

न होंगे एसी हॉल, न ही बूढ़े फैंस, जानिए कोरोना के बाद कैसे होंगे बॉक्सिंग के मुकाबले

News18Hindi
Updated: May 22, 2020, 6:48 PM IST
न होंगे एसी हॉल, न ही बूढ़े फैंस, जानिए कोरोना के बाद कैसे होंगे बॉक्सिंग के मुकाबले
बॉक्सिंग के सभी बड़े टूर्नामेंट रद्द हो चुके हैं

मुक्केबाजी की कोई स्पर्धा नहीं होनी है लेकिन अक्टूबर नवंबर में बीएफआई (BFI) राष्ट्रीय टूर्नामेंट कराना चाहता है

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में जब भी मुक्केबाजी के मुकाबले बहाल होंगे , कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के मद्देनजर वे दर्शकों के बिना होंगे और वातानुकूलित जगहों की बजाय अच्छे हवादार स्थानों पर होंगे और 60 वर्ष से अधिक उम्र के अधिकारी प्रतियोगिता स्थल पर नहीं जा सकेंगे.

मुक्केबाजी में अभ्यास और प्रतियोगिताओं की बहाली को लेकर 19 पन्ने की मानक संचालन प्रक्रिया में भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने स्वास्थ्य को लेकर वही दिशा निर्देश रखे हैं जिनका सुझाव भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) ने दिया है . इसमें एक पन्ना उन प्रोटोकॉल का है जो राष्ट्रीय स्तर पर मुक्केबाजी स्पर्धायें बहाल होने पर अमल में लाया जायेगा .

एसी जगहों पर नहीं होंगे मुकाबले
इसमें कहा गया ,‘प्रतिस्पर्धायें दर्शकों के बिना होंगी . सिर्फ सीमित संख्या में जरूरी लोगों को ही वहां प्रवेश दिया जायेगा . वॉलिंटियर की संख्या में कटौती होगी . इसमें कहा गया ,‘वातानुकूलित परिसरों से बचे क्योंकि इनसे संक्रमण फैल सकता है . खुले हवादार वेन्यू पर ही स्पर्धायें होंगी .’ फिलहाल मुक्केबाजी की कोई स्पर्धा नहीं होनी है लेकिन अक्टूबर नवंबर में बीएफआई राष्ट्रीय टूर्नामेंट कराना चाहता है जिसके बाद एशियन चैंपियनशिप होगी .



एक अन्य दिशा निर्देश में कहा गया ,‘60 वर्ष से अधिक उम्र के अधिकारी प्रतियोगिता स्थल पर नहीं होंगे क्योंकि उनमें संक्रमण का खतरा अधिक होता है .’ प्रतियोगिताओं के दौरान मुक्केबाजों और अधिकारियों को अलग अलग कमरे दिये जायेंगे . इसके साथ ही डाइनिंग हॉल नहीं होगा बल्कि पैकेट में लंच और डिनर मिलेगा .



शिविर शुरू होने में लगेगा समय
गृह मंत्रालय ने खेल परिसर और स्टेडियम खोलने की अनुमति दे दी है और भारतीय खिलाड़ी भी फिर से अभ्यास पर लौटने के लिये बेताब है जिनमें मुक्केबाज भी शामिल हैं जो पिछले दो महीनों से अपने घरों में ही फिटनेस ट्रेनिंग कर रहे हैं.  भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के कार्यकाकारी निदेशक आर के साचेती ने पीटीआई-भाषा से कहा कि , ‘भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) टीम विभाग के पास हमारा प्रस्ताव लंबित है. एक बार हमें स्पष्ट तस्वीर मिल जाती है तो फिर अभ्यास शुरू करने पर आगे चर्चा करेंगे.'

पिता को साइकिल पर बैठा तय किया 1200 किमी. लंबा सफर, अब बन सकती है 'सुपरस्टार'

65 साल से इस शर्मनाक रिकॉर्ड का बोझ उठा रहे न्यूजीलैंड के फैन, मांग रहे आजादी!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 22, 2020, 2:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading