लाइव टीवी

इलेक्ट्रीशियन की शूटर बेटी का कमाल, भारत को दिलवाया ओलिंपिक कोटा

News18Hindi
Updated: November 8, 2019, 4:09 PM IST
इलेक्ट्रीशियन की शूटर बेटी का कमाल, भारत को दिलवाया ओलिंपिक कोटा
चिंकी यादव ने 25 मीटर पिस्टल में कमाल किया

21 साल की चिंकी यादव (Chinki Yadav) ने 25 मीटर पिस्टल के क्वालीफिकेशन में 588 अंक बनाए, जिसमें एक ‘परफेक्ट 100’ भी शामिल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2019, 4:09 PM IST
  • Share this:



दोहा. भारत की उभरती निशानेबाज चिंकी यादव (Chinki Yadav) ने दोहा में चल रही 14वीं एशियन शूटिंग चैंपियनशिप (Asian Shooting Championship) में म‌हिलाओं की 25 मीटर पिस्टल के फाइनल में जगह बनाकर भारत को शूटिंग में 11वां ओलिंपिक कोटा दिलवा दिया. क्वालीफिकेशन में 21 साल की चिंकी ने 588 अंक बनाए, जिसमें एक ‘परफेक्ट 100’ भी शामिल है. वह थाईलैंड की नेपहासवान यांगपाइबून (590) के बाद दूसरे स्थान पर रही. 25 मीटर पिस्टल में भारत  के लिए यह दूसरा ओलिंपिक कोटा है. इससे पहले राही सरनोबट ने इस साल के शुरुआत में म्यूनिख में हुए विश्व कप में पहला कोटा हासिल किया था. इस स्पर्धा में भाग ले रही अन्य भारतीय निशानेबाजों में अनुराज सिंह (575) और नीरज कौर (572) क्रमश: 21वें और 27वें स्थान पर रही.

Chinki Yadav, Asian Shooting Championship, tokyo olympic, चिंकी यादव,टोक्यो ओलिंपिक
चिंकी यादव ने 2012 में शूटिंग शुरू की थी


पिता करते हैं बिजली ठीक करने का काम
इलेक्ट्रीशियन की बेटी चिंकी का टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) के लिए टिकट कटवाना इतना आसान नहीं था. शूटिंग को काफी महंगा खेल माना जाता है और वहीं भापोल की चिंकी के पिता मेहताब सिंह यादव पेशे से इलेक्ट्रीशियन हैं, जो पिछले 23 सालों से खेल विभाग के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. 2012 में ‌पिस्टल थामने वाली चिंकी ‌का घर स्टेडियम के अंदर ही है, जिस कारण वह बचपन से ही कई खेलों को देख रही हैं. उन्होंने समर कैंप से शूटिंग में कदम रखा और इसके बाद एकेडमी जॉइन की. जल्द ही यह युवा निशानेबाज सभी की नजरों में आ गई. चिंकी (Chinki Yadav)  शूटिंग एकेडमी के लिए टैलेंट हंट के बाद चुनी जाने वाले चुनिंदा निशानेबाजों में से एक थी. इसके बाद उन्होंने नेशनल चैंपियनशिप में हिस्सा लिया और मेडल जीता.


Loading...

पिछले 4 साल से जूनियर टीम का हिस्सा हैं चिंकी
2017 में जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में टीम ब्रॉन्ज जीतने के बाद चिंकी लाइमलाइट में आई. इसके बाद इस साल जून में उन्हाेंने  नेशनल सिलेक्‍शन ट्रायल्स में गोल्ड और नेशनल चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता था. चिंकी पिछले चार सालों से भारतीय जूनियर टीम का हिस्सा है और वह अपना ज्यादातर समय एकेडमी में ही बिताती है.

मुुंबई को हराकर टॉप पर पहुंची विराट कोहली की एफसी गोवा

वर्ल्ड चैंपियन को हराकर सेमीफाइनल में पहुंची सात्विक और चिराग की जोड़ी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2019, 4:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...