लाइव टीवी

Coronavirus: सेल्‍फ आइसोलेशन में रह रहीं मैरी कॉम ने कहा, आजादी का मतलब समझ आ गया

भाषा
Updated: March 20, 2020, 4:45 PM IST
Coronavirus: सेल्‍फ आइसोलेशन में रह रहीं मैरी कॉम ने कहा, आजादी का मतलब समझ आ गया
मैरीकॉम दिल्‍ली में सेल्‍फ आइसोलेशन पर है (फाइल फोटो)

इस महीने एशियाई ओलिंपिक क्वालीफायर में ओलिंपिक कोटा हासिल करने वाली मैरी कॉम (MC MaryKom) भारत लौटने के बाद से ही अपने घर में सेल्‍फ आइसोलेशन में हैं

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) की महामारी के चलते कई खिलाड़ी सेल्‍फ आइसोलेशन में  है, जिस वजह से वह बाहरी दुनिया से अलग-थलग पड़ गए है, लेकिन चैंपियन भारतीय मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम (MC MaryKom) ने कहा कि जिंदगी की रफ्तार मंद पड़ने से उन्हें आजादी के नए मायने समझ में आए हैं. इस महीने जॉर्डन में एशियाई ओलिंपिक क्वालीफायर में ओलिंपिक कोटा हासिल करने वाली मैरी कॉम वहां से लौटने के बाद दिल्ली स्थित अपने घर में खुद को अलग किए हुए हैं.

जॉर्डन जाने से पहले भारतीय मुक्केबाज इटली में अभ्यास शिविर के लिए गए थे. भारत की पूरी टीम को आईओसी से कोविड 19 निगेटिव सर्टिफिकेट मिला है, लेकिन इसके बावजूद एहतियात के तौर पर यह कदम उठाया गया. मैरी कॉम ने कहा कि मैं आराम कर रही हूं. कसरत करती हूं और अपनी फिटनेस पर पूरा ध्यान देती हूं. अपने बच्चों के साथ खेलती हूं क्योंकि पूरे एक महीने बाहर रही हूं. उन्होंने कहा कि यह अलग रहने का सबसे अच्छा हिस्सा है. मैं अपने परिवार के साथ हूं और किसी बात की चिंता नहीं है.

घबराए नहीं, परिवार के साथ समय बिताएं
मैरी कॉम (MC MaryKom) ने कहा कि मैं हर किसी से अपील करना चाहती हूं कि घबराए नहीं और घर पर अपने परिवार के साथ समय बिताएं. उन्होंने कहा कि मुझे इस समय आजादी के नए मायने समझ में आ रहे हैं. मुझे रोज के शेड्यूल का कोई तनाव नहीं है. छह बार की विश्व चैंपियन और राज्यसभा सांसद मैरी कॉम (MC MaryKom) संसद सत्र में नियमित तौर पर उपस्थित रहती हैं, लेकिन इस बार अधिकांश सत्र में नहीं जा सकीं. उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि इस सत्र में आखिरी कुछ दिन जा सकूंगी. इस महीने के आखिर तक मेरा अलग रहने का समय खत्म हो जाएगा. उसके बाद भी संसद कुछ दिन चलेगी. मैरी कॉम ने कहा कि इस समय मुझे इतना ही पता है कि मेरे बच्चे बहुत खुश हैं. पिछले दस बारह दिन से उन्हें बिना किसी बाधा के उनकी मां मिली है.



भूखे पेट ट्रेनिंग, 15 साल की उम्र में नौकरी और फिर ओलिंपिक में वो ऐतिहासिक गोल

Coronavirus : सिंधु ने अपनी जान खतरे में डाली, पिता से हुईं अलग, छत पर...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 20, 2020, 3:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर