Tokyo Olympics : ओलंपिक से दो महीने पहले टोक्यो और ओसाका में खोले गए बड़े वैक्सीनेशन सेंटर

टोक्यो में ओलंपिक खेल आगामी 23 जुलाई से शुरू होने हैं. (AP)

टोक्यो में ओलंपिक खेल आगामी 23 जुलाई से शुरू होने हैं. (AP)

ओलंपिक खेलों को पिछले साल कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्थगित कर दिया गया था. अब इनका आयोजन आगामी 23 जुलाई से होना है. जापान सरकार ने कोविड-19 से बचाव अभियान में तेजी लाने के लिए टोक्यो और ओसाका में वृद्ध लोगों को टीका देने के लिए तैनात किया गया है.

  • Share this:

टोक्यो. जापान में आयोजित होने वाले ओलंपिक खेलों (Olympic Games) से केवल दो महीने पहले सरकार ने कोरोना वायरस रोधी टीकाकरण (COVID-19 Vaccination) अभियान में तेजी लाने के तहत सैन्य डॉक्टरों और नर्सों को टोक्यो में वृद्ध लोगों को टीका देने के लिए तैनात किया गया है. ओसाका में भी सरकार ने ऐसी ही व्यवस्था की है. प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा एक साल की देरी के बाद टोक्यो में ओलंपिक खेलों के आयोजन के लिए कटिबद्ध हैं और उन्होंने जुलाई के अंत तक देश के तीन करोड़ 60 लाख बुजुर्गों को टीका देने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया है.

सुगा के नेतृत्व वाली सरकार ने अप्रैल के अंत से बार-बार देश में आपात स्थिति की अवधि और क्षेत्रों को विस्तारित किया है तथा वायरस से मुकाबले के अपने प्रयासों को और सुदृढ़ किया है. जापान में अधिकतर नागरिकों का टीकाकरण नहीं होने से जुड़ी चिंताओं के कारण जापान में प्रदर्शन बढ़े हैं और 23 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक खेलों के आयोजन को रद्द करने की मांग भी उठ रही है.

इसे भी पढ़ें, 148 भारतीय खिलाड़ियों को लगी कोरोना वैक्‍सीन की पहली डोज

कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के बीच सुगा ने कहा है कि टीकाकरण से संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है. उन्होंने ओलंपिक के आयोजन के लिए सशर्त टीकाकरण का प्रावधान नहीं किया है और अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के माध्यम से एथलीटों को फाइजर का टीका उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है. इसके साथ ही जापान में ओलंपिक के विरोध में हो रहे प्रदर्शन के बीच टीकाकरण में तेजी लाने का प्रयास किया जा रहा है.
इसे भी पढ़ें, डेविस कप कप्तान ने दी मौत को मात, कहा-जिंदगी बस एक डोर के सहारे थी

सुगा ने संवाददाताओं से कहा कि टीकाकरण प्रक्रिया में तेजी लाना अप्रत्याशित रूप से चुनौती भरा काम है. उन्होंने कहा, 'हम इस परियोजना को पूरा करने के लिए वह सब कुछ करेंगे जो जरूरी है ताकि लोगों को टीका लग सके और वे जितना जल्दी हो सके सामान्य जीवन की ओर लौट सकें.' टोक्यो और ओसाका के दो टीकाकरण केंद्रों में लगभग 280 सैन्य चिकित्सा कर्मी और 200 असैन्य नर्सें तैनात हैं. अगले तीन महीने में टोक्यो में प्रतिदिन दस हजार और ओसाका में पांच हजार लोगों को टीका देने का लक्ष्य रखा गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज