लाइव टीवी

दीपक पूनिया के पास इतिहास रचने का मौका, वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचे

News18Hindi
Updated: September 21, 2019, 5:21 PM IST
दीपक पूनिया के पास इतिहास रचने का मौका, वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचे
दीपक पूनिया वर्ल्ड जूनियर चैंपियन हैं

दीपक पूनिया (Deepak Punia) से पहले विनेश फोगाट (Vinesh Phogat), बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) और रवि दाहिया टोक्यो ओलिंपिक के लिए कोटा हासिल कर चुके हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2019, 5:21 PM IST
  • Share this:
जूनियर वर्ल्ड चैंपियन दीपक पूनिया (Deepak Punia) ने नूर सुल्तान (Nur Sulatan) में चल रही रेसलिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप (Wrestling World Championship) के 86 किग्रा वर्ग के फाइनल में पहुंच गए हैं. उन्होंने सेमीफाइनल मुकाबले में स्विट्जरलैंड के रेसलर को 8-2 से मात देकर फाइनल में प्रवेश किया. वर्ल्ड चैंपियनशिप में इस साल फाइनल में पहुंचने वाले वह पहले भारतीय रेसलर हैं.

इससे पहले उन्होंने सेमीफाइनल में पहुंचकर भारत को चौथा ओलिंपिक कोटा दिलाया था. दीपक पूनिया (Deepak Punia) से पहले विनेश फोगाट (Vinesh Phogat), बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) और रवि दाहिया टोक्यो ओलिंपिक के लिए कोटा हासिल कर चुके हैं.

दीपक पूनिया रविवार को फाइनल में इरान के हसन याजदानी से भिड़ेंगे. वर्ल्ड चैंपियनशिप में अब तक भारत की ओर से केवल सुशील कुमार गोल्ड मेडल जीत पाए हैं. दो बार के ओलिंपिक मेडलिस्ट ने 66 किग्रा वर्ग में गोल्ड मेडल जीता था.

क्वार्टरफाइनल मुकाबले में दीपक ने कोलंबिया के कार्लोस मेनडेस को 7-6 से मात देकर मुकाबला अपने नाम किया.दीपक पूनिया इससे पहले कैडेट वर्ल्ड चैंपियनशिप और जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप जीत चुके हैं. वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप दीपक का पहला सीनियर टूर्नामेंट हैं.

राहुल आवरे भी 61 किग्रा के सेमीफाइनल में पहुंचे

वहीं कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले आवरे ने 61 किग्रा वर्ग के क्वार्टरफाइनल मुकाबले में कजाकिस्तान के रासूल कालियेव को 10-7 से मात देकर सेमीफाइनल में जगह बनाई. हालांकि 61 किग्रा ओलिंपिक कैटेगरी नहीं है ऐसे में वह ओलिंपिक कोटा हासिल नहीं कर सके.

क्वार्टरफाइनल मैच में आवरे 0-2 से पिछड़ रहे थे जिसके बाद उन्होंने 2-2 से बराबरी की. इसके बाद ब्रेक के समय वह 6-5 की लीड कायम रखने में कामयाब रहे. इसके बाद उन्होंने आखिरी समय में विराधी को जमीन पर पटक कर चार अंक हासिल किए. लेकिन रासूल अंत में दो अंक हासिल करने में कामयाब रहे और मुकाबला 10-7 से अपने नाम किया.इस बड़े खिलाड़ी के 'कोच' बने राफेल नडाल और रोजर फेडरर, कोर्ट पर दिए टिप्स

ओलिंपिक कोटे के बाद बजरंग पूनिया और रवि दहिया ने हासिल किया ब्रॉन्ज मेडल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 21, 2019, 3:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर