लाइव टीवी

कॉमनवेल्‍थ गेम्स के मेडलिस्ट दिग्गज रेसलर का हुआ निधन, पिछले साल ‌मिला था देश का बड़ा सम्मान

भाषा
Updated: October 21, 2019, 8:05 AM IST
कॉमनवेल्‍थ गेम्स के मेडलिस्ट दिग्गज रेसलर का हुआ निधन, पिछले साल ‌मिला था देश का बड़ा सम्मान
दादू चौगुले ने न्यूजीलैंड कॉमनवेल्‍थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीता था

दादू चौगुले (Dadu Chougule) का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है

  • Share this:

पुणे. कॉमनवेल्थ‍ गेम्स (Commonwealth Games ) में भारत को सिल्वर मेडल दिलवाने वाले दिग्गज रेसलर दादू चौगुले (Dadu Chougule) का निधन हो गया है, जिससे पहलवानों में शोक का माहौल छाया हुआ है. महाराष्‍ट्र के कोल्हापुर में उन्हें दिल का दौरा पड़ा, जहां उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था. उनके परिवार ने यह जानकारी दी. वह 73 साल के थे. उनके परिवार में दो बेटे हैं. उनके परिजनों के मुताबिक चौगुले (Dadu Chougule) अस्थमा से पीड़ित थे, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था. रविवार को दोपहर दो बजे दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया.


1974 में भारत को दिलाया था सिल्‍वर मेडल
किसान परिवार में जन्में चौगुले (Dadu Chougule) बचपन में सात साल की उम्र में कुश्ती शुरू करने के बाद 10 साल की उम्र में मोतीबाग तालिम से जुड़े थे. मोतीबाग तालिम को पहलवानों के सबसे पुराने अखाड़ों में से जाना जाता है. गणपत राव अंधालकर और बालू बिरे जैसे दिग्गजों से प्रशिक्षण लेने वाले चौगुले (Dadu Chougule) ने 1970 के दशक में महाराष्ट्र केसरी, रूस्तम हिन्द केसरी और महान भारत केसरी जैसे प्रतिष्ठित खिताब अपने नाम किए.



Dhyan Chand Award , dadu chougule, sports news, दादू चौगुले, स्पोर्ट्स न्यूज
पिछले साल दादू चौगुले को प्रतिष्ठित ध्यानचंद पुरस्कार  से सम्मानित किया गया था

दादू चौगुले (Dadu Chougule) ने दो बार महाराष्ट्र केसरी का खिताब जीता था, जो काफी समय तक एक रिकॉर्ड भी था. दादू को आज भी उन पहवानाें द्वारा याद किया जाता है, जिन्होंने पहलवान सादिक पंजाबी, सतपाल जैसे बड़े उस्तादों के साथ लड़ाई लड़ी. उन्होंने 1974 में न्यूजीलैंड में हुए राष्ट्रमंडल खेलों (Commonwealth Games ) में रजत पदक जीता था. खेलों में उपलब्धि के लिए उन्हें प्रतिष्ठित ध्यानचंद पुरस्कार ( Dhyan Chand Award) भी दिया गया था. उन्हें यह सम्मान पिछले साल 25 सितंबर 2018 में नई दिल्ली में राष्ट्रपति कोविंद के हाथों से दिया गया था.


ढाई साल बाद पहली बार किसी टूर्नामेंट का फाइनल खेलेंगे एंडी मरे
Loading...

लाइव मैच में खुल गया महिला खिलाड़ी का हिजाब, विरोधी टीम ने मदद कर जीता दिल

 



News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 8:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...