लाइव टीवी

Asian Wrestling Championship: तीसरे दिन भारत ने दिखाया दबदबा, जीते तीन गोल्ड मेडल

भाषा
Updated: February 21, 2020, 11:33 AM IST
Asian Wrestling Championship: तीसरे दिन भारत ने दिखाया दबदबा, जीते तीन गोल्ड मेडल
दिव्या काकरान एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला है. (फाइल फोटो )

किरण (Kiran) (76 किग्रा) ही एकमात्र भारतीय महिला पहलवान रहीं जो पदक हासिल नहीं कर सकीं.

  • भाषा
  • Last Updated: February 21, 2020, 11:33 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिव्या काकरान, सरिता मोर और पिंकी ने गुरुवार को अपने वजन वर्गों में स्वर्ण पदक अपने नाम किये जिससे भारत ने एशियन चैंपियनशिप की महिला स्पर्धाओं में पहले दिन दबदबा बनाया.

मेजबानों के लिये दिन यादगार रहा जिसमें भारतीय पहलवान पांच में से चार के फाइनल में पहुंची और दिव्या (68 किग्रा), पिंकी (55 किग्रा) और सरिता (59 किग्रा) ने शीर्ष स्थान हासिल किया. निर्मला देवी को 50 किग्रा में रजत पदक से संतोष करना पड़ा जबकि किरण (76 किग्रा) ही एकमात्र पहलवान रहीं जो पदक हासिल नहीं कर सकीं.

दिव्या काकरान ने रचा इतिहास
दिव्या काकरान  (Divya Kakran) गुरुवार को  एशियाई चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला पहलवान बन गई. उन्होंने अपने सारे मुकाबले प्रतिद्वंद्वियों को चित्त करके जीते, जिसमें जापान की जूनियर विश्व चैंपियन नरूहा मातसुयुकी को हराना भी शामिल रहा. दिव्या ने शानदार प्रदर्शन करते हुए पांच पहलवानों के 68 किग्रा वर्ग में अपने सभी चार मुकाबले जीते, जो राउंड रॉबिन प्रारूप में खेला गय. नवजोत कौर एशियाई चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनी थी, जिन्होंने 2018 में किर्गिस्तान के बिशकेक में 65 किग्रा का खिताब जीता था.



टूर्नामेंट में ऐसा रहा दिव्या का सफर


एशियाई खेलों की कांस्य पदक विजेता दिव्या  (Divya Kakran) ने 68 किग्रा में पहले कजाखस्तान की एलबिना कैरजेलिनोवा को पस्त किया और फिर मंगोलिया की डेलगेरमा एंखसाइखान को पराजित किया. मंगोलियाई पहलवान के खिलाफ उनका डिफेंस कुछ कमजोर दिखा, लेकिन वह अपनी प्रतिद्वंद्वी को हराने में सफल रहीं. तीसरे दौर में दिव्या का सामना उज्बेकिस्तान की एजोडा एसबर्जेनोवा से था और उन्होंने 4-0 की बढ़त बनाने के बाद अपनी प्रतिद्वंद्वी को महज 27 सेकंड में मात दी.

सरिता ने 58 किग्रा वर्ग में जीता गोल्ड
सरिता 2017 में 58 किग्रा में रजत पदक जीतने के बाद अपनी पहली एशियाई प्रतियोगिता में भाग ले रही हैं. उन्होंने कजाखस्तान की मदीना बाकबेरजेनोवा और किर्गिस्तान की नाजिरा मार्सबेकिजी के खिलाफ अपने पहले दो मुकाबले तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर जीते. इसके बाद उन्होंने जापान की युमी कोन पर 10-3 से जीत हासिल की. इसके बाद उन्होंने फाइनल में मंगोलिया की बातसेतेग अटलांटसेतसेग को 3-2 से हराया. वह स्कोर बराबरी के बाद अंक जुटाकर इस प्रतियोगिता में पहला स्वर्ण पदक जुटाने में सफल रहीं.

पहली बार एशियन चैंपियनशिप खेल रही पिंकी ने जीता गोल्ड
पहली बार सीनियर एशियन प्रतियोगिता में भाग ले रहीं पिंकी ने उज्बेकिस्तान की शोकिदा अखमेदोवा को चित करके शुरुआत की और फिर अगले मुकाबले में जापान की काना हिगाशिकावा को पराजित किया. फिर उन्होंने सेमीफाइनल में मारिना जुयेवा को 6-0 से हराया. उन्होंने मंगोलिया की डुलगुन बोलोरमा पर 2-1 की जीत से स्वर्ण पदक हासिल किया.

पिंकी ने कहा, ‘मैं थोड़ी सतर्क थी क्योंकि मैं अपनी कोहनी चोटिल करा बैठी थी. मैं इसे बढ़ाना नहीं चाहती थी क्योंकि आगे और अधिक महत्वपूर्ण टूर्नामेंट हैं.’ निर्मला देवी जापान की मिहो इगाराशी से 2-3 से हार गयी जिससे उन्हें रजत से संतोष करना पड़ा. उन्होंने मंगोलिया की मुंखनार बाईयाम्बासुरेन को 6-4 और उज्बेकिस्तान की दौलेतबाइक याखशिमुरातोवा पर तकनीकी श्रेष्ठता से जीत हासिल की थी.

Olympic Countdown 155 Days: विजेंदर सिंह ने दिलाया था बॉक्सिंग का पहला मेडल

भारतीय हॉकी और वॉलीबॉल खिलाड़ी की गोली मारकर हत्या

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 21, 2020, 11:15 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading