कोरोना पीड़ित मां ने जिद करके टूर्नामेंट के लिए भेजा, अब ओलंपिक में बनाई जगह

भवानी देवी ओलंपिक में जगह बनाने वाली पहली भारतीय फेंसर हैं. (IamBhavaniDevi 
twitter)

भवानी देवी ओलंपिक में जगह बनाने वाली पहली भारतीय फेंसर हैं. (IamBhavaniDevi twitter)

भारतीय महिला तलवारबाज भवानी देवी (Bhavani Devi) टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) के लिए क्वालिफाई कर चुकी हैं. वे ऐसा करने वाली पहली भारतीय बनीं. लेकिन वे क्वालिफाइंग टूर्नामेंट से हटना चाहती थी.

  • Share this:

नई दिल्ली. ओलंपिक (Tokyo Olympic) के लिए क्वालिफाई कर चुकी तलवारबाज भवानी (Bhavani Devi) देवी ने बुधवार को खुलासा किया कि मैं क्वालिफाइंग टूर्नामेंट के दौरान कोरोना से जूझ रही अपनी मां को छोड़कर जाने की दुविधा से जूझ रही थी. भवानी ने कहा कि वह मार्च में क्वालिफाइंग टूर्नामेंट से बाहर रहना चाहती थी, लेकिन अस्पताल में भर्ती उनकी मां ने उन्हें प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए कहा. इसी कारण वे ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर सकीं.

इटली में ट्रेनिंग कर रही भवानी देवी ने भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) की ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘बुडापेस्ट क्वालिफिकेशन से पहले मेरी मां अस्पताल में भर्ती थी. वह कोविड पॉजिटिव पाई गई थी और उन्हें दो महीने के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया. मैं प्रतियोगिता के लिए नहीं जाने के बारे में सोचा था.’ उन्होंने कहा, ‘मैं उनके पास जाना चाहती थी, लेकिन मेरी मां ने अस्पताल के बेड से मुझे कहा ‘चिंता मत करो, मैं ठीक हूं, मैं सक्रिय हूं, मुझे सिर्फ कुछ आराम की जरूरत है और मैं जल्द ही घर वापस आ जाऊंगी, बस अपने खेल पर ध्यान लगाओ.’

ओलंपिक से पहले किसी इवेंट में नहीं उतरेंगी

भवानी देवी ने मार्च में हंगरी में वर्ल्ड कप के दौरान ओलंपिक कोटा हासिल किया. उन्होंने एडजस्टेड ऑफिशियल रैंकिंग (AOR) प्रणाली के जरिए क्वालिफाई किया. वह ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाली पहली भारतीय तलवारबाज हैं. 27 साल की सेबर तलवारबाज ने ओलंपिक से पहले किसी प्रतियोगिता में हिस्सा लेने की योजना नहीं बनाई है, लेकिन वह अपनी ट्रेनिंग से खुश हैं. भवानी ने कहा, ‘फिलहाल, हमारी ओलंपिक से पहले किसी प्रतियोगिता में हिस्सा लेने की योजना नहीं है, क्योंकि लगभग सभी प्रतियोगिताएं रद्द हो गई हैं. एशियाई चैंपियनशि है, लेकिन इसे भी रद्द होने की संभावना है.’
इटली में ही लगेगा कोरोना का टीका

भवानी देवी ने कहा कि उनके अगले हफ्ते रोम में कोविड-19 टीका लगवाने की उम्मीद है और साथ ही उनके टोक्यो खेलों से पहले भारत आने की संभावना भी नहीं है. उन्होंने कहा, ‘साई और मेरे महासंघ ने इतालवी महासंघ से आग्रह किया है. रोम में भारतीय दूतावास भी मुझे इटली में टीका लगवाने में मदद करने का प्रयास कर रहा है.’ इस तलवारबाज ने कहा, ‘संभवत: अगले हफ्ते मुझे टीका लग जाएगा. मैं साई, रोम में भारतीय दूतावास और भारतीय तलवारबाजी संघ की आभारी हूं कि वे यहां टीकाकरण में मेरी मदद कर रहे हैं.’ यह पूछने पर कि क्या वह ओलंपिक से पहले भारत लौटेंगी, भवानी से कहा कि तय नहीं है कि ओलंपिक से पहले भारत लौटूंगी. संभवत: यहां से सीधे टोक्यो जाना होगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज