FIFA WC: भारत की नैथालिया बनीं ब्राज़ील की बॉल कैरियर, मेसी की हैं बड़ी फैन

11 साल की भारतीय फुटबॉलर नैथानिया को वर्ल्ड कप के दौरान नेमार और उनकी टीम ब्राज़ील के साथ मैदान पर कदम रखने का मौका मिलेगा.

News18Hindi
Updated: June 14, 2018, 3:41 PM IST
FIFA WC: भारत की नैथालिया बनीं ब्राज़ील की बॉल कैरियर, मेसी की हैं बड़ी फैन
कॉन्टेस्ट विनर रिशी तेज के साथ नैथानिया जॉन के. (दाएं)
News18Hindi
Updated: June 14, 2018, 3:41 PM IST
ये सच है कि भारत अब भी दुनिया के सबसे बड़े खेल टूर्नामेंट फीफा वर्ल्ड कप में खेलने का सपना देख रहा है. इसके बावजूद फुटबॉल का जुनून कम नहीं हुआ है. हर चार साल बाद लाखों भारतीय फुटबॉल के सबसे बड़े ईवेंट फीफा वर्ल्ड कप देखने के लिए टीवी से चिपके रहते हैं. भारत में ज़्यादातर लोग ब्राज़ील या अर्जेंटीना के फैन हैं. लियोनेल मेसी और नेमार के अलावा पेले, रोनाल्डो, रोनाल्डिन्हो और दिएगो माराडोना जैसे स्टार फुटबॉलर्स भारतीय की पहली पसंद हैं.

एक तरफ जहां देश के लाखों फैन्स भारत को भी फीफा में खेलते देखना चाहते हैं, वहीं 11 साल की भारतीय फुटबॉलर नैथानिया जॉन.के को रूस में हो रहे वर्ल्ड कप के दौरान नेमार और उनकी टीम ब्राज़ील के साथ मैदान पर कदम रखने का मौका मिलेगा.

वर्ल्ड कप में दो बच्चों का भारत का प्रतिनिधित्व करने का सपना पूरा होने जा रहा है. भारत के दो बच्चे कर्नाटक के 10 साल के रिषि तेज और तमिलनाडु की 11 वर्षीय नैथानिया जॉन.के वर्ल्ड कप में देश का प्रतिनिधित्व करेंगे और फीफा वर्ल्ड कप के दो मैचों में आधिकारिक मैच बॉल कैरियर के रूप में मैदान में उतरेंगे.

इनमें से नैथानिया ब्राज़ील और तो रिषि कोस्टा रिका के मैच में और एक बेल्जियम और पनामा के मैच में टीम के खिलाड़ियों के साथ बॉल लेकर मैदान में प्रवेश करेंगे. बेल्जियम मैच 18 जून को और ब्राजील मैच 22 जून को खेला जाएगा. इन दो बच्चों को विश्वकप में अपने जीवन का सबसे बड़ा सपना पूरा करने का अवसर दिया है फीफा के आधिकारिक ऑटोमोटिव पार्टनर किया मोटर्स ने जिसने 10 से 14 साल के बच्चों के बीच यह अभियान चलाया है. कुल 1500 बच्चों ने इस अभियान में हिस्सा लिया जिनमें से 50 फाइनल राउंड में उतरे और इन 50 में से रिषि तेज और नैथानिया जॉन का सिलेक्शन किया गया.

नैथानिया खुद फुटबॉलर हैं और लियोनल मेसी की बहुत बड़ी फैन हैं. ज़ाहिर है नैथानिया भारत की तरफ से फीफा वर्ल्ड कप में पहली बॉल कैरियर बनकर बेहद खु़श हैं. नैथानिया 22 जून को नेमार की टीम के साथ मैदान पर उतरेंगी जब ब्राज़ील का सामना कोस्टा रीका ने होगा.

नैथानिया ने न्यूज़18स्पोर्टेस से बात करते हुए बताया, " इस बिते हफ्ते को मैं और मेरा परिवार कभी नहीं भूलेंगे. हमें बिल्कुल यकीन नहीं था कि मुझे वर्ल्ड कप में जाने का मौका मिलेगा. सब कुछ इतनी जल्दी हुआ कि पिछला हफ्ता कब गुज़र गया पता ही नहीं चला. मुझे अब भी यकीन नहीं हो रहा है."

नैथानिया ने बताया, "मैं चाहती हूं अर्जेंटीना वर्ल्ड कप जीते. मैं इस बात से दुखी भी हूं कि इतना करीब आकर अर्जेंटीना का मैच नहीं देख पाउंगी."

इस चयन प्रक्रिया पर खुद भारतीय फुटबॉल कप्तान सुनील छेत्री ने निगरानी रखी और बच्चों को चुनने में महत्वपूर्ण योगदान दिया. इनके अलावा चार और बच्चों को स्थानापन्न के रूप में चुना गया है जो विश्वकप का मैच देखने के लिए रूस की यात्रा करेंगे. इन चार में नोएडा के भनुज भलावस, नोएडा के ही प्रियदर्शन प्रकाश, गुडग़ांव के आदित्य बत्रा और मुंबई के स्कॉट एश्ले रॉड्रिग्का शामिल हैं.

ये भी पढ़ें:

फुटबॉल की दुनिया के सबसे मुश्किल नाम, क्या आप बोल सकते हैं सही-सही?

FIFA वर्ल्ड कप देखने के लिए भूख हड़ताल पर बैठे अर्जेटीना के कैदी
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Sports News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर