होम /न्यूज /खेल /FIFA WC: सालाह पर होगा मिस्र का दारोमदार, क्या नॉकआउट में जगह बना पाएगा रूस

FIFA WC: सालाह पर होगा मिस्र का दारोमदार, क्या नॉकआउट में जगह बना पाएगा रूस

सालाह पर होगा मिस्र का दारोमदार, क्या नॉकआउट में जगह बना पाएगा रूस

सालाह पर होगा मिस्र का दारोमदार, क्या नॉकआउट में जगह बना पाएगा रूस

अगर रूस आज मिस्र को हरा देता है तो फिर उसकी नॉकआउट में जगह भी पक्की हो जाएगी.

    पहले मैच में बड़ी जीत से उत्साह से लबरेज़ रूस आज मिस्र के खिलाफ भी अपना विजय अभियान जारी रखकर फीफा वर्ल्ड कप 2018 के नॉकआउट चरण में अपनी जगह सुरक्षित करने की कोशिश करेगा. रूस ने टूर्नामेंट में उदघाटन मैच में सऊदी अरब को 5-0 से हराकर अपने आलोचकों को करारा जवाब देने के साथ ही ग्रुप-ए से अंतिम 16 में जगह बनाने की अपनी उम्मीदों को पंख लगा दिए. अगर वह मिस्र को हरा देता है तो फिर उसकी नॉकआउट में जगह भी पक्की हो जाएगी.

    रूस को हालांकि सऊदी अरब की तुलना में मिस्र से अधिक कड़ी चुनौती मिलेगी. मिस्र पहले मैच में उरूग्वे से 0-1 से हार गया था और नॉकआउट की दौड़ में बने रहने के लिए उसे मैच हर हाल में जीतना होगा.

    मिस्र का दारोमदार मोहम्मद सालाह पर टिका होगा और अगर यह स्टार स्ट्राइकर पूरी तरह फिट होकर मैदान पर उतरता है तो फिर वह रूस की नॉकआउट की राह में सबसे बड़ा रोड़ा बन सकते हैं.

    सालाह लिवरपूल की तरफ से चैंपियन्स लीग फाइनल के दौरान चोटिल हो गए थे और तब से किसी मैच में नहीं खेले हैं. उरूग्वे के खिलाफ पिछले मैच में भी वह बाहर बैठे थे. मिस्र के टीम डॉक्टर ने हालांकि अब सालाह को पूरी तरह से फिट करार दिया है. मिस्र के टीम मैनेजर इहाब लेहाता ने फीफा.कॉम से कहा, "सालाह ने अपने साथियों के साथ अभ्यास सेशन में हिस्सा लिया और वह पूरे सेशन में मैदान पर रहे और चिकित्सकों के अनुसार वह रूस के खिलाफ खेलने के लिए तैयार हैं."

    मिस्र के कोच हेक्टर कपर ने उरूग्वे के खिलाफ सालाह को उतारने का जोखिम नहीं उठाया. उनकी टीम ने उरूग्वे को 89 मिनट तक रोके रखा लेकिन इसके बाद जोस गिमिनेज के गोल ने उसके सारे समीकरण बिगाड़ दिए थे." अब हेक्टर कपर जानते हैं कि रूस के खिलाफ जीत से ही उनकी टीम की उम्मीदें बनी रहेंगी. उन्होंने कहा, "उरूग्वे के खिलाफ हार से रूस के खिलाफ मैच से हमारा भाग्य तय होगा. हमें हर हाल में जीत चाहिए."

    रूस का टूर्नामेंट से पहले का रिकॉर्ड अच्छा नहीं चल रहा था. उसने लगातार मैच में जीत दर्ज नहीं की थी और माना जा रहा था कि वह दक्षिण अफ्रीका (2010) के बाद ग्रुप चरण से बाहर होने वाला दूसरा मेज़बान बन सकता है. रूस ने हालांकि पहले मैच में शानदार जीत से फिलहाल ऐसी संभावनाओं को विराम लगा दिया है. उरूग्वे इस ग्रुप में शीर्ष पर रहने का दावेदार माना जा रहा है और ऐसे में रूस की टीम मिस्र के खिलाफ ही अपनी जीजान लगाकर नॉकआउट में जगह सुनिश्चित करने की कोशिश करेगी.

    सऊदी अरब के खिलाफ दो गोल करने वाले डेनिस चेरिशेव ने फीफा.कॉम से कहा, "अगर हम पहले मैच की तरह अपना सर्वश्रेष्ठ खेल खेलते हैं तो मुझे नहीं लगता कि जीत दर्ज करने में हमें किसी तरह की परेशानी होनी चाहिए."

    ये भी पढ़ें:

    FIFA WC 2018: कोलंबिया के खिलाफ आलोचकों को जवाब देने के लिए जापान तैयार

    Tags: 2018 FIFA WORLD CUP

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें