ISL 2020-21: आईएसएल में कोविड-19 की टेस्टिंग और स्वास्थ्य पर 17 करोड़ खर्च, जानें इस सीजन की खास बातें

इंडियन सुपर लीग के 2021-21 सीजन का खिताब मुंबई सिटी एफसी ने जीता. उसने फाइनल में एटीएक मोहन बागान को 2-1 से हराया. (ISL/Twitter)

फुटबॉल स्पोर्ट्स डेवलपमेंट लिमिटेड (FSDL) ने इस सीजन में इंडियन सुपर लीग (Indian Super League)के आयोजन के लिए करीब 27 करोड़ रुपए स्वास्थ्य एवं सुरक्षा प्रोटोकॉल और बुनियादी ढांचे पर खर्च किए.

  • Share this:


    नई दिल्ली. इंडियन सुपर लीग (Indian Super League) का आयोजन करने वाले फुटबॉल स्पोर्ट्स डेवलपमेंट लिमिटेड (FSDL) ने लीग के 2020-21 सीजन में स्वास्थ्य एवं सुरक्षा प्रोटोकॉल और बुनियादी ढांचे पर करीब 27 करोड़ रुपये खर्च किए. इस बार कोरोना के कारण पूरी लीग गोवा में खेली गई और प्री-सीजन मिलाकर लीग 6 महीने की अवधि के लिए आयोजित की गई थी. इस दौरान कोरोना से बचाव के लिए 18 बायो सिक्योर बबल बनाए गए थे. लीग का फाइनल शनिवार को मुंबई सिटी एफसी और एटीके मोहन बागान के बीच खेला गया था, जिसे मुंबई ने 2-1 से जीता. यह मुंबई सिटी का पहला इंडियन सुपर लीग खिताब था.

    कोरोनावायरस के बीच भारत में फुटबॉल से ही खेलों की वापसी हुई और इंडियन सुपर लीग का मौजूदा सीजन बायो-बबल में खेला जाने वाला पहला बड़ा टूर्नामेंट बना. कोलकाता में हुआ आई-लीग क्वालिफायर बायो-बबल में होने वाला पहला टूर्नामेंट था. लेकिन आईएसएल का आयोजन बड़े पैमाने पर हुआ. अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि इस सीजन में बायो-बबल में रहने वाले 1635 लोगों के कोरोना टेस्ट किए गए. बायो-बबल में रहने वाले हर व्यक्ति का कोरोना की जांच के लिए औसतन 50 बार आरटी-पीसीआर टेस्ट किया गया. हर 72 घंटे के भीतर व्यक्ति का टेस्ट हुआ. लीग में शामिल खिलाड़ियों, सपोर्ट स्टाफ, ब्रॉडकास्टिंग टीम के लिए 26 हजार N-95 मास्क खरीदे गए थे.

    गोवा में तीन स्टेडियम किराए पर लिए गए
    इतना ही नहीं कोरोना के कारण पूरी लीग गोवा में ही हुई. इसके लिए भी खास इंतजाम किए गए थे. आयोजन समिति ने फाटोर्डा, बैम्बोलिम का जीएमसी स्टेडियम और वास्को के तिलक मैदान को किराए पर लिया था. इसके अलावा टीमों के अभ्यास के लिए 8 प्रैक्टिस ग्राउंड भी लिए गए थे. इन मैदानों को पूरी तरह से संवारा गया. यहां सुरक्षा, हाउसकीपिंग, बिजली के अलावा बाकी सभी बुनियादी इंतजाम दुरुस्त किए गए. इस पर करीब 20 करोड़ रुपए खर्च हुए थे.

    आईएसएल के 2020-21 सीजन से जुड़े अहम आंकड़े

    • कुल टीम-11
      मैच- 115
      अवधि- 6 महीने ( प्री-सीजन समेत)
      गोल-298
      औसत गोल प्रति मैच- 2.59
      प्रसारण- एशिया, ऑस्ट्रेलिया, यूएसए, कनाडा और यूरोप के 80 क्षेत्र में


    हेल्थ और सेफ्टी प्रोटोकॉल

    -कोरोना के मद्देनजर 18 बायो-बबल तैयार किए गए थे
    -लीग से जुड़े 1635 लोगों का कोरोना के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट हुए
    -हर व्यक्ति का औसतन 50 बार कोरोना टेस्ट हुआ
    -कोरोना के कुल 7000 हजार टेस्ट किए गए
    -कोविड-19 के टेस्ट और उससे जुड़े काम पर करीब 17 करोड़ रुपये खर्च हुए

    आईएसएल का डिजिटल इंगेजमेंट

    इंगेजमेंट- 175 मिलियन+
    वीडियो व्यूज- 360 मिलियन+

    प्रोडक्शन
    -गोवा और मुंबई में दो प्रोडक्शन और ब्रॉडकास्ट के सेटअप लगाए गए
    -150 क्रू मेंबर्स ने इस काम को देखा
    -लीग स्टेज के मुकाबलों के लिए 19 कैमरे का इस्तेमाल हुआ
    -प्लेऑफ स्टेज के लिए अलग से दो और कैमरे लगाए गए
    -बैम्बोलिम के जीएमएसी स्टेडियम और वास्को के तिलक मैदान में नया प्रोडक्शन इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार हुआ

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.