• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • OTHERS FOOTBALLER SANGITA SOREN WORKING IN BRICK KILN IN JHARKHAND CWC WRITES TO JHARKHAND CHIEF SECRETARY

फुटबॉलर संगीता सोरेन ईंट भट्टे पर काम करने को मजबूर, महिला आयोग ने झारखंड के मुख्य सचिव को लिखा पत्र

संगीता सोरेन की ईंट भट्टे पर काम करते हुए तस्वीरें वायरल हुई थीं. (Pic: Twitter)

फुटबॉलर संगीता सोरेन ने नौकरी के प्रयास तो किए लेकिन कहीं से कोई मदद नहीं मिली. ऐसे में उन्हें ईंट भट्टे पर काम करने को मजबूर होना पड़ा ताकि वह अपने परिवार का गुजारा कर सकें. करीब तीन महीने पहले झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मदद भी मांगी थी और तब उन्हें आश्वासन भी मिला था लेकिन कुछ हो नहीं पाया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. झारखंड में रहने वालीं फुटबॉलर संगीता सोरेन (Sangita Soren) और उनका परिवार मुफलिसी की जिंदगी जीने को मजबूर है. संगीता की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं जिसके बाद राष्ट्रीय महिला आयोग (CWC) इस मामले में सक्रिय हुआ है. संगीता के पिता दूबे नेत्रहीन हैं और ऐसे में कोई काम नहीं कर पाते हैं. संगीता का भाई दिहाड़ी मजदूरी करता है लेकिन अभी कोरोना के संकटकाल में कमाई पर बड़ा असर पड़ा है.

    संगीता को ही परिवार का पेट पालने के लिए आगे आना पड़ा है. कोई काम नहीं मिलने के कारण वह ईंट भट्टे पर काम करने को मजबूर हैं. उन्होंने करीब तीन महीने पहले झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मदद भी मांगी थी और तब उन्हें आश्वासन भी मिला था लेकिन कुछ हो नहीं पाया. अब महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने संगीता की मदद के लिए राज्य के मुख्य सचिव को पत्र लिखा है.

    इसे भी पढ़ें, 5 दिग्गज जो कामयाबी की बुलंदी चूमने के बाद विलेन बन गए, सुशील भी लिस्ट में

    महिला आयोग को यह जानकारी मिली थी कि संगीता पिछले तीन महीने से नौकरी की कोशिशों में हैं लेकिन उन्हें कोई मदद नहीं मिल सकी. रेखा शर्मा को यह जानकारी सोशल मीडिया से मिली थी. उन्होंने कहा कि संगीता की आर्थिक स्थिति खराब है जिसके बारे में आयोग को जानकारी सोशल मीडिया से मिली कि वह ईंट भट्ठे पर काम करने को मजबूर हैं.





    आयोग ने संगीता को अच्छी नौकरी देने के लिए भी कहा है, ताकि वह अपना सम्मान के साथ गुजारा कर सकें. संगीता अंडर-17, अंडर-18 और अंडर-19 स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं. धनबाद के बाघमारा ब्लॉक के बांसमुरी गांव की रहने वालीं संगीता ने 2018-19 में अंडर-18 भारतीय महिला फुटबॉल टीम का भूटान और थाइलैंड में प्रतिनिधित्व किया था. इसके बाद वह 2020 में सीनियर राष्ट्रीय टीम में शामिल हुईं और राष्ट्रीय टीम में स्ट्राइकर के तौर पर खेलीं.