दो साल तक लड़ने के बाद कैंसर से जंग हारी भारत की यह दिग्गज खिलाड़ी, 42 साल की उम्र में हुआ निधन

दो साल तक लड़ने के बाद कैंसर से जंग हारी भारत की यह दिग्गज खिलाड़ी, 42 साल की उम्र में हुआ निधन
खिलाड़ी और कोच पूर्णिमा जनाने का निधन

भारत की पूर्व निशानेबाज पूर्णिमा जनाने (Pournima Zanane) की कैंसर के कारण मौत हो गई है

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 22, 2020, 10:12 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) की महामारी के बीच पिछले कुछ समय में भारत ने कई दिग्गजों को खोया है. खेल जगत को होने वाली इस क्षति में सोमवार को एक और नाम जुड़ गया. पूर्व भारतीय निशानेबाज और कोच पूर्णिमा जनाने (Pournima Zanane) का 42 साल की उम्र में निधन हो गया है. यह भारतीय राइफल शूटर पिछले दो साल से कैंसर से जंग लड़ रही थी. विदेशों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली पूर्णिमा ने पुणे (Pune) में अपनी आखिरी सांस ली.

दो साल पहले पता चला कैंसर से थी पीड़ित
पूर्णिमा वर्ल्ड कप, एशियन चैंपियनशिप में देश का प्रतिनिधित्तव कर चुकी हैं. वह 10 मीटर एयर राइफल में लंबे समय तक नेशनल रिकॉर्डधारी रही थी. उनकी कामयाबियों के लिए महाराष्ट्र सरकार ने उन्हें शिव छत्रपति स्पोर्ट्स अवॉर्ड दिया था. नंदद में पैदा हुई पूर्णिमा ने मुंबई में अपने करियर की शुरुआत की और फिर वह पुणे चली गई. दो साल पहले केरल में हो रहे राष्ट्रीय खेलों के दौरान उन्हें पता चला कि वह कैंसर से पीड़ित हैं.

आखिरी दम तक कैंसर से लड़ती रही पूर्णिमा
पूर्णिमा ने भारत के लिए सैफ गेम्स (SAF Games), कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप (Commonwealth Championship) और एशियन चैंपियनशिप (Asian Championship) में मेडल जीते थे. उस समय उन्हें भारतीय टीम का ही हिस्सा रही दीपाली देशपांडे, अंजलि भागवत और सुमा शिरूर से कड़ी टक्कर मिलती थी. साल 2012 में उन्हें अपने करियर को अलविदा कहा.


आत्‍महत्‍या करना चाहता था 2 वर्ल्‍ड कप जीतने वाला ये भारतीय क्रिकेटर, कहा-लाइट बंद करने में भी लगता था डर

फादर्स डे पर कोहली की बड़ी बात, कहा- आगे बढ़ने के लिए हमेशा अपने रास्‍ते की तलाश करें, पिता...

कोचिंग में जल्द मिलने वाला था ए लाइसेंस
हालांकि वह खेल से दूर नहीं हुई और साल 2014 में ऑस्ट्रिया के वर्ल्ड चैंपियन खिलाड़ी फ्रैंक थॉमस के साथ कोचिंग करना शुरू किया. आईएसएसएफ ने पूर्णिमा को कोचिंग में बी लाइसेंस मिला था जो जल्द ही ए में बदलने वाला था. वह चौथे स्टेज तक पहुंच चुके कैंसर के खिलाफ भी आखिरी समय तक जंग लड़ती रही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading