लाइव टीवी

ओलिंपिक में मेडल लाने की तैयारी में जुटे फवाद, अपने घोड़ों को अलग तरह से करेंगे ट्रेन

News18Hindi
Updated: January 8, 2020, 8:31 PM IST
ओलिंपिक में मेडल लाने की तैयारी में जुटे फवाद, अपने घोड़ों को अलग तरह से करेंगे ट्रेन
फवाद मिर्जा ओलिपिक कोटा हासिल कर चुके हैं

भारत के लिए 20 साल का सूखा खत्म करने वाले फवाद (Fouaad Mirza) देश का प्रतिनिधित्तव करने के लिए पूरी तरह तैयार है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2020, 8:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दो दशक में ऐसा पहली बार होगा जब ओलिंपिक खेलों में इक्वेस्टेरियन (घुड़सवारी) में कोई खिलाड़ी भारत का प्रतिनिधित्व करेगा. एशियन गेम्स (Asian Games 2019) में रजत पदक जीत भारत (India) का 36 साल का सूखा खत्म करने वाले फवाद मिर्जा (Fouaad Mirza) ने अब आधिकारिक तौर पर टोक्यो ओलिंपिक-2020 (Tokyo Olympic 2020) के लिए भी क्वालिफाई कर लिया है. इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ इक्वेस्ट्रियन ने 1 जनवरी 2019 से 31 दिसंबर 2019 तक के सभी परिणामों ‌को शामिल करते हुए ताजा रैंकिंग जारी की और इसी के साथ फवाद के टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic 2020) क्वालिफकेशन की पुष्टि हुई.

फवाद को अपनी उपलब्धी पर है गर्व
भारत के लिए 20 साल का सूखा खत्म करने वाले फवाद देश का प्रतिनिधित्तव करने के लिए पूरी तरह तैयार है. बेंगलुरु स्थित एम्बैसी राइडिंग इंटरनैशनल स्कूल (ईआरआईएस) से निकले फवाद (Fouaad Mirza) ने आईएनएस से कहा, ‘मैं इस बात से खुश हूं कि भारतीय को इस साल ओलिंपिक में जगह दिला सका. मैं वहां भारत का प्रतिनिध्वि करने को तैयार हूं. यह मेरे लिए गर्व की बात है. ओलिंपिक क्वॉलिफाइ करना पूरी प्रक्रिया का एक हिस्सा है और अभी कुछ और चीजें बाकी हैं. अभी मुझे एक और क्वॉलिफिकेशन में हिस्सा लेना है. हम इस बात को सुनिश्चित करने की कोशिश करेंगे कि ओलिंपिक में हम अपनी शीर्ष तैयारी के साथ पहुंचें और अपना सर्वश्रेष्ठ दें.’

Fouaad Mirza,Tokyo Olympic 2020, sports news, फवाद मिर्जा, टोक्यो ओलिंपिक, स्पोर्ट्स न्यूूज
फवाद मिर्जा ने 2018 एशियन गेम्स में दो मेडल जीते थे


पीढ़ियों से घुड़सवारी कर रहा है फवाद का परिवार
घुड़सवारी फवाद के खून में है. उनका परिवार कई पीढ़ियों से इस खेल में है. फवाद अपने परिवार की सातवीं पीढ़ी हैं जो इस खेल को खेलने की परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं. पेशे से जानवरों के डॉक्टर फवाद के पिता हसनेन मिर्जा ने उनको इस खेल से परिचित कराया. फवाद (Fouaad Mirza) पांच साल की उम्र से ही इस खेल से जुड़ गए थे.

फवाद (Fouaad Mirza) अब ओलिंपिक के लिए नई तरह से तैयारियां करने वाले हैं. उन्होंने कहा, ‘हां, तैयारियों में अंतर होगा. ओलिंपिक एशियाई खेलों से दो-तीन स्तर ऊपर का टूर्नमेंट होता है. यह काफी मुश्किल भी होता है, इसीलिए मेरे साथ घोड़ों की जो तैयारी होगी वो भी काफी अलग होगी. हम देखेंगे, अभी हम आम विंटर ट्रेनिंग कर रहे हैं. घोड़ों को फिट रख रहे हैं, उनकी बेस फिटनेस को मजबूत कर रहे हैं. सीजन के मध्य में हम कुछ शो करेंगे और इसके बाद हम हर अलग घोड़े के लिए नया कार्यक्रम बनाएंगे और आश्वस्त करेंगे कि हर घोड़ा अपनी सर्वश्रेष्ठ स्थिति में हो और अच्छा कर सके.’भारत का 20 साल का इंतजार खत्म, फवाद को आधिकारिक रूप से ‌मिला ओलिंपिक‌ टिकट

सगाई के बाद हार्दिक ने तोड़ी चुप्पी,महिलाओं पर विवादित बयान को लेकर कही ये बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 8, 2020, 8:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर