लाइव टीवी

गेहूं की बोरियां उठाकर की थी वेटलिफ्टिंग की शुरुआत, अब जीता गोल्ड

News18Hindi
Updated: October 17, 2019, 7:41 PM IST
गेहूं की बोरियां उठाकर की थी वेटलिफ्टिंग की शुरुआत, अब जीता गोल्ड
वीरजीत कौर चंडीगढ़ की वेटलिफ्टर हैं

वीरजीत कौर (Veerjeet Kaur) चंडीगढ़ की पहली जूनियर नेशनल चैंपियन (Junior National Champion) हैं, जिन्होंने बिहार (Bihar) के गया में 49 किलोग्राम वर्ग में गोल्ड मेडल हासिल किया

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2019, 7:41 PM IST
  • Share this:
गया. पंजाब (Punjab) के एक गांव में पली-बढ़ी 19 साल की वीरजीत कौर (Veerjeet Kaur) ने बिहार (Bihar) के गया में हुई महिला जूनियर नेशनल चैंपियनशिप (Women Junior National Championship) में 49 किग्रा वर्ग में गोल्ड मेडल हासिल किया. यह पहला मौका है जब चंडीगढ़ का कोई खिलाड़ी जूनियर चैंपियन बना है. वीरजीत (Veerjeet Kaur) के इस सफर की शुरुआत उनके गांव से हुई जहां वह खेती में अपने पिता की मदद करने के लिए गेंहू की बोरी उठाया करती थीं.

पिता की मदद करने के लिए गेहूं की बोरियां  उठाती थी वीरजीत

वीरजीत ने जीत के बाद बताया, 'चंडीगढ़ आने से पहले मुझे वेटलिफ्टिंग के बारे में कुछ पता नहीं था. मैं अपने गांव में केवल खो-खो और कबड्डी खेल करती थी. मेरे पिता का आठ एकड़ का खेत था. जब फसल को बेचने के लिए ले जाना होता था तब हम गेहूं की बोरियां उठाकर ट्रक में रखा करते थे. इस तरह मैंने वेट उठाना शुरू किया. आज मेडल जीतने के बाद मैंने अपने पिता को फोन किया तो उन्होंने पूरे गांव को खुशखबरी दी.'

कोच करणबीर ने बदल दी किस्मत

19 साल की यह खिलाड़ी साल 2016 में चंडीगढ़ आई जहां वह डीएवी कॉलेज में पढ़ती थीं. उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, 'मैं कॉलेज के जिम में प्रैक्टिस कर रही थी जब कोच करणबीर सिंह बुट्टर अपने कोचिंग सेंटर के लिए खिलाड़ियों को चुनने वहां पहुंचे थे. मैं ऑनलाइन वीडियो देखकर प्रैक्टिस करती थी. पिछले साल जब मैं नागपुर में सिल्वर जीता तब मेरा खुद पर विश्वास बढ़ा कि मैं गोल्ड जीत सकती हूं.'

वीरजीत साल 2016 में चंडीगढ़ आईं थी जब उन्हें करणबीर सिंह ने पहचाना और ट्रेन करना शुरू किया. कौर साल 2016 और 2017 में चंडीगढ़ में नैशनल चैंपियन बनीं थी. कौर ने पिछले साल 31वें जूनियर नेशनल वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप सिल्वर जीता था. कानपुर में उन्होंने स्नैच में 67 किलो और क्लीन एंड जर्क में 88 किलोग्राम के साथ कुल 155 किलोग्राम भार उठाया. बुधवार को उन्होंने अपने इस प्रदर्शन में सुधार करते हुए स्नैच में 70 किलो और क्लीन एंड जर्क में 90 किलोग्राम के साथ कुल 160 किलोग्राम का भार उठाया.

पाकिस्तान को मिलने वाला है 'बूढ़ा' कप्तान, सरफराज अहमद का हटना तय!
Loading...

इमरान खान की वजह से पाकिस्तान में क्रिकेट खिलाड़ियों की नौकरी और घर तबाह!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 7:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...