Olympic Countdown 149 Days: महज 2 साल की उम्र में थाम ली थी बंदूक, फिर 2012 में भारत को दिलाया ओलंपिक मेडल

Olympic Countdown 149 Days: महज 2 साल की उम्र में थाम ली थी बंदूक, फिर 2012 में भारत को दिलाया ओलंपिक मेडल
गगन नारंग ने लंदन ओलिंपिक्स में जीता था ब्रॉन्ज

लंदन ओलिंपिक में गगन नारंग (Gagan Narang) ने भारत को दिलाया था ब्रॉन्ज मेडल, 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में मारी थी बाजी

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2020, 11:54 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. 30 जुलाई 2012...ये वो तारीख है जब लंदन ओलिंपिक (London Olympics) में भारत (India) की झोली में पहला मेडल आया था और ये खुशी हिंदुस्तान  को दी थी एक ऐसे निशानेबाज ने जिसने महज 2 साल की उम्र में बंदूक थाम ली थी. हम बात कर रहे हैं गगन नारंग (Gagan Narang) की जिन्होंने 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में कांस्य पदक जीता था.

बिंद्रा हारे, नारंग जीते मेडल
लंदन की ओलिंपिक शूटिंग रेंज में 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में भारत को 2008 बीजिंग ओलिंपिक्स (Beijing Olympics) में गोल्ड मेडल जीतने वाले अभिनव बिंद्रा (Abhinav Bindra) से उम्मीद थी लेकिन वो फाइनल में जगह तक नहीं बना सके. बिंद्रा ने निराश किया लेकिन इस बार नारंग ने देश को मेडल दिलाया. नारंग ने क्वालीफाइंग राउंड में 598 अंक हासिल करते हुए तीसरा स्थान प्राप्त किया. इसके बाद फाइनल में उन्होंने 103.1 अंक जुटाए और कुल 701.1 के स्कोर के साथ कांस्य पदक जीता.

ऐसा रहा नारंग का फाइनल में स्कोर



फाइनल में गगन नारंग ने 10 शॉट्स में 10.7, 9.7, 10.6, 10.7, 10.4, 10.6, 9.9, 10.3 और 10.7 का स्कोर बनाया. नारंग ने क्वालिफिेकेशन राउंड में हिस्सा लेने वाले 47 निशानेबाजों में तीसरा स्थान बनाया और यही प्रदर्शन उन्होंने फाइनल में भी जारी रखा. नतीजा उनके गले में ओलिंपिक कांस्य पदक लटका.



नारंग पर इनामों की बरसात
गगन नारंग के लंदन ओलिंपिक में मेडल जीतने के साथ ही उनपर इनामों बौछार हुई. इस इंडियन शूटर को हरियाणा सरकार ने एक करोड़ रुपये, आंध्र प्रदेश सरकार ने 50 लाख, राजस्थान ने 50 लाख और इस्पात मंत्रालय ने 20 लाख रुपये का नकद इनाम दिया. सहारा इंडिया परिवार ने नारंग को 2 किलो सोना इनाम के तौर पर दिया.

ऐसे शुरू की थी शूटिंग
बता दें गगन नारंग (Gagan Narang) ने महज 2 साल की उम्र में शूटिंग शुरू कर दी थी. दरअसल गगन नारंग हैदराबाद (Hyderabad) के सिकंदराबाद इलाके में रहते थे जहां उनके पिता ने एक दिन उन्हें एयर पिस्टल गिफ्ट में दी. इसके बाद नारंग अपने घर के पीछे गुब्बारों पर निशाना लगाते थे. बस यहीं से ही उनका भविष्य तय हो गया और इसके बाद गगन नारंग (Gagan Narang) ने आगे चलकर ओलिंपिक मेडल भी जीता.

राहुल द्रविड़ के बेटे ने खेली 166 रनों की तूफानी पारी, फिर 4 विकेट लेकर गेंद से भी मचाई धूम

सड़क पर शर्ट उतारकर लड़कियों के साथ नाचता दिखा धोनी का दोस्त, जिता चुका है 2 वर्ल्ड कप
First published: February 26, 2020, 8:09 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading