Home /News /sports /

फिल्म 'गोल गोवा' है गोवा की पहली महिला कोच के संघर्ष की कहानी

फिल्म 'गोल गोवा' है गोवा की पहली महिला कोच के संघर्ष की कहानी

फिल्म 'गोल गोवा' को विदेशी फुटबॉल स्टार भी प्रमोट कर रहे हैं (Going to School/Instagram)

फिल्म 'गोल गोवा' को विदेशी फुटबॉल स्टार भी प्रमोट कर रहे हैं (Going to School/Instagram)

इस फीचर फिल्म को फुटबॉल खेल जगत की दुनिया के महारथी एडर्सन सैन्टाना, फेरनंदीन्हों, चेल्सी, नील मौपे, थॉमस टचेल, ट्यरॉन मिंग्स, थॉमस पर्टी, ऐडम लालाना और नेथन फेरगुसन जैसे धुरंधर प्रमोट कर रहे हैं.

    नई दिल्ली. बॉलीवुड में फुटबॉल के खेल पर तमाम बड़ी फिल्में बनी हैं. कुछ हिट रहीं तो कुछ फ्लॉप. बॉलीवुड और क्रिकेटरों का फुटबॉल से खासा लगाव रहा है, लेकिन पहली बार गोवा के फुटबॉल पर एक फीचर फिल्म बनी है. इस फिल्म की चर्चा हर तरफ हो रही है. ‘गोल गोवा’ नाम की यह फिल्म दर्शकों को अंदर तक झकझोर कर रख देगी. यह फिल्म कितनी खास है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि फुटबॉल की दुनिया के महारथी ‘चेल्सी से लेकर एडर्सन’ तक इस फिल्म को देखने के लिए फैन्स से अपील कर रहे हैं.

    गोवा की मस्ती, लोकेशन और गोवा के गलियारों के दिलफेंक अंदाज को फिल्मों में बखूबी से दिखाया गया हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं की फेंनी, फिश के अलावा गोवा के लोगों की रगों में फुटबॉल का भी नशा हैं. जी हां, ऐसा नशा जो जुनूनियत के पार है. फीफा वर्ल्ड कप के दौरान भारत के लोग गोवा और कोलकाता में फुटबॉल के इस जुनून और पागलपन को महसूस कर सकते हैं.

    गोवा में लोगों के मन में फुटबॉल के इस प्यार की सच्ची दास्तान को पर्दे पर बहुत ही खूबसूरती से दिखा रही हैं निर्देशिका लिज़ा हेडलॉफ. उन्होंने इस फिल्म को ‘गोइंग टू स्कूल’ नॉन चैरिटेबल एजुकेशन ट्रस्ट के अंतर्गत बनाया गया हैं, जहां ऐसी कहानियों को दिखाया जाता हैं, जिसे देखकर युवा पीढ़ी प्रेरित हो सके. एक घण्टे की इस फीचर फिल्म में गोवा की पहली महिला कोच के संघर्ष और इस खेल को राष्ट्रीय स्तर तक पहुंचाने के नायाब सफर को दिखाया गया हैं.

    इतना ही नही फुटबॉल खेल को लेकर आज की युवा पीढ़ी की लड़कियों के पागलपन को भी दिखाया गया हैं. इन सबसे बड़ी बात यह है कि इस फीचर फिल्म को फुटबॉल खेल जगत की दुनिया के महारथी एडर्सन सैन्टाना, फेरनंदीन्हों, चेल्सी, नील मौपे, थॉमस टचेल, ट्यरॉन मिंग्स, थॉमस पर्टी, ऐडम लालाना और नेथन फेरगुसन जैसे धुरंधर प्रमोट कर रहे हैं. इनका लक्ष्य है- वैक्सीन की 2 शॉट लेना और खेल को जीतना.

    कोरोना महामारी से निजात पाने के लिए ये खिलाड़ी कह रहे हैं कि वैक्सीन के दो शॉट्स लीजिए और फुटबॉल को खेलिए. या यू कहे कि गोवा में जहां फुटबॉल खेलने के लिए लोग कोई भी कीमत अदा कर सकते हैं. ऐसे में फुटबॉल के जरिये टीकाकरण की ये अनोखी पहल गोवा में एक नई क्रांति लेकर आ रही हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग वैक्सीन के 2 डोज लेकर फुटबॉल भी खेल सके और कोरोना जैसी महामारी को भी मात दे सकें.

    फीचर फिल्म ‘ गोल गोवा’ में
    इस फिल्म में असली फुटबॉल खिलाड़ियों को दिखाया गया है. यह फीचर फिल्म 28 अक्टूबर से 30 अक्टूबर तक ‘डी. डी नेशनल’ पर दिखाई जाएगी. इसके अलावा ये फीचर फिल्म यूके में ‘बी टी स्पोर्ट्स’ पर भी टेलीकास्ट की जाएगी.

    Tags: Football

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर